होश उड़ाकर रख देगी पुलिस भर्ती से जुड़ी ये खबर, जानें पूरा मामला

यूपी में पुलिस भर्ती से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस को इस बार भर्ती में छह फुट के जवान नहीं मिल रहे हैं। इसका खुलासा भर्ती बोर्ड पैनल में शामिल अधिकारियों ने बातचीत में किया है।

Published by Aditya Mishra Published: January 6, 2020 | 3:01 pm
Modified: January 6, 2020 | 3:07 pm

लखनऊ: यूपी में पुलिस भर्ती से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस को इस बार भर्ती में छह फुट के जवान नहीं मिल रहे हैं। इसका खुलासा भर्ती बोर्ड पैनल में शामिल अधिकारियों ने बातचीत में किया है।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि यह पहली बार है कि सिपाही भर्ती की दौड़ में छह फीट के अभ्यर्थियों की संख्या आधा प्रतिशत तक रह गई। ये हाल तब है जबकि प्रदेश में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के युवकों को सर्वाधिक मजबूत कद काठी का माना जाता, अब इसे खानपान की कमी कहें या फिर युवाओं की कम शारीरिक मेहनत, उत्तर प्रदेश पुलिस को इस बार भर्ती में छह फुट के जवान नहीं मिल रहे हैं।

ये भी पढ़ें…तो अब ये 25 लोग नहीं हैं हिस्‍ट्रीशीटर, पुलिस विभाग की अनोखी पहल

8 नवंबर से नापतौल और शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन की प्रक्रिया

बताते चले कि यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 की नापतौल और शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन की प्रक्रिया 28 नवंबर से चल रही है। इसको लेकर मेरठ, आगरा, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी में सेंटर बनाए गए हैं। मेरठ पुलिस लाइन में बने सेंटर में वेस्ट यूपी के नौ जिलों के अभ्यर्थियों की नापतौल चल रही है। जबकि दौड़ रुड़की रोड स्थित छठी वाहिनी पीएसी में चल रही है।

49 हजार पदों के लिए 123921 अभ्यर्थियों को नौपताल व शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन के लिए बुलाया गया है। मेरठ सेंटर पर 18846 अभ्यर्थियों में से करीब 15 हजार की नापतौल पूरी हो चुकी है। यहां मंगलवार तक 96 अभ्यर्थी ही ऐसे पहुंचे जिनकी लंबाई 180 सेमी को छू सकी।

तीन प्रतिशत अभ्यर्थी 180 सेमी लंबाई के मिले

भर्ती पैनल में शामिल सीओ यूएन मिश्र का कहना है कि पहली बार देखा गया है कि 100 अभ्यर्थियों में से एक अभ्यर्थी भी छह फीट का नहीं मिल रहा है। भर्ती प्रक्रिया टीसीएल कंपनी करा रही है। कंपनी के मेरठ सेंटर के प्रभारी अमित पायल ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि पूर्व की भर्ती में करीब तीन प्रतिशत अभ्यर्थी 180 सेमी लंबाई के मिले थे।

इस बार यह आंकड़ा बहुत कम है। पुरुष अभ्यर्थी के लिए 168 सेमी हाइट मानक है। सीओ ने बताया कि बागपत, बुलंदशहर, गाजियाबाद व मुजफ्फरनगर जिलों के देहात क्षेत्र के अभ्यर्थियों की लंबाई अधिक आ रही है। बागपत के चांदीनगर निवासी अभ्यर्थी की लंबाई 198 सेमी निकली। वहीं गाजियाबाद के नंदग्राम के अनुज चौधरी की 195 सेमी निकली।

ये भी पढ़ें…पुलिस विभाग में अनिवार्य सेवानिवृति पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लगाई रोक

पुलिस सिपाही भर्ती में नापतौल प्रक्रिया 9 तक

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती में अभ्यर्थियों के शैक्षिक प्रमाण पत्रों का सत्यापन और नापतौल की प्रक्रिया अब नौ जनवरी तक होगी। भर्ती बोर्ड के अधिकारियों ने भर्ती सेंटरों के सभी नोडल अधिकारियों को जानकारी दे दी है।

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 की नापतौल और शैक्षिक प्रमाण पत्रों के सत्यापन की प्रक्रिया 28 नवंबर 2019 से शुरू हुई थी। इसको लेकर मेरठ समेत प्रदेश में आठ सेंटर बनाए गए हैं।

मेरठ पुलिस लाइन में बने सेंटर में वेस्ट यूपी के नौ जिलों के मेरठ, बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, बागपत, हापुड़, गाजियाबाद, शामली, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर के अभ्यर्थियों की नापतौल चल रही है। जबकि दौड़ रुड़की रोड स्थित छठी वाहिनी पीएसी में चल रही है।

पुलिस के 49 हजार पदों के लिए मेरठ सेंटर पर 18 हजार 846 अभ्यर्थियों की नापतौल होनी थी। नापतौल की तारीख पांच जनवरी तक थी। भर्ती बोर्ड के नोडल अधिकारी संजीव बाजपेयी ने बताया कि भर्ती बोर्ड के निर्देश पर भर्ती प्रक्रिया के लिए चार दिन और बढ़ाए गए हैं। अब नौ जनवरी तक नापतौल की प्रक्रिया चलेगी। जो अभ्यर्थी नापतौल व शैक्षिक प्रमाण पत्रों के सत्यापन से वंचित रहे हैं, उन्हें भर्ती बोर्ड ने अवसर प्रदान किया है।

ये भी पढ़ें…यूपी में PFI को बैन करने की तैयारी, पुलिस और गृह विभाग ने प्रस्ताव भेजा