Top

दक्षिण भारत में खास उगादी त्योहार, सीएम रेड्डी हुए समारोह में शामिल

आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने मंगलवार को उगदी समारोह में भाग लिया और पंचांग का विमोचन किया। इस दौरान.

Shweta

Shwetapublished by Shweta

Published on 13 April 2021 11:07 AM GMT

दक्षिण भारत में खास उगादी त्योहार, सीएम रेड्डी हुए समारोह में शामिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने मंगलवार को उगादी समारोह में भाग लिया और पंचांग का विमोचन किया। इस दौरान तिरुपति तिरुमाला देवस्थानम के पुजारियों ने मुख्यंत्री को वैदिक भजनों के साथ आशीर्वाद दिया। पुजारियों ने मुख्यमंत्री को टीटीडी पंचांग के साथ प्रसाद भेंट किया।

बता दें कि इस शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने पलवा का अर्थ बताते हुए कहा कि इसका अर्थ होता है जहाज और मान्यता है कि आगामी वर्ष अच्छा होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं कामना करता हूं कि खूब वर्षा का सौभाग्य प्राप्त हो और हर बहन खुश रहे।

मुख्यमंत्री ने राज्य के हर घर में खुशहाली की कामना की और सभी को कोरोना से खिलाफ लड़ने और जीत हासिल करने को कहा। उन्होंने कहा कि हम सभी को उगादी की खुशी का कामना करनी चाहिए।

सभी ने दिया आशीर्वादः

पंचांग विमोचन के बाद सिद्धान्ति ने मुख्य मन्दिर को आशीर्वाद दिया और उगदी पचड़ी प्रस्तुत की। मुख्यमंत्री ने सरकार सिद्दंती कपागंथुला सुब्बाराजू सोमयाजुलु, दुर्गा मल्लेश्वरा स्वामी मंदिर के मुख्य पुजारी श्री लिंगमबतला दुर्गा प्रसाद, श्री एवीके नरसिम्हाचुलु, प्रकाशम जिले के मरकापुरम के पुजारी, ममिलापल्ली मृथुंजय प्रसाद, पुजारी, प्रजापति को सम्मानित किया है। कुमार और वैदिक विद्वान आरवीएस यजुलु।

आखिर क्या है उगादीः

बाते दें कि आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में उगादी का त्यौहार बहुत महत्वपूर्ण होता है। धार्मिक मान्यता है कि ब्रह्मा जी इस दिन संसार की रचना की थी। देश के अलग-अलग हिस्सों में इसका अलग-अलग नाम है। उगादी चैत्र मास के पहले दिन यानी शुक्ल पक्ष को मनाया जाता है। यह संस्कृत शब्द उद और आदि से बना है उदी का अर्थ होता है युग की शुरुआत। दक्षिण भारत में इस पर्व को खुशहाली का सूचक माना जाता है।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shweta

Shweta

Next Story