Top

असम EVM मामला: एक बूथ पर चुनाव रद्द, चार अधिकारी सस्पेंड

भारत निर्वाचन आयोग के चार अधिकारियों को असम ईवीएम मामले में सस्पेंड कर दिया

Suman

SumanBy Suman

Published on 2 April 2021 8:13 AM GMT

असम EVM मामला: एक बूथ पर चुनाव रद्द, चार अधिकारी सस्पेंड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गुवाहाटी: असम के करीमगंज में लावारिस ईवीएम मिलने के बाद से इलाके में राजनीतिक तनाव बढ़ा हुआ है। लावारिस कार में ईवीएम मिलने के मामले पर चुनाव आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। करीमगंज जिले के कनिसैल कस्बे में एक बोलेरो गाड़ी में रखी ईवीएम मिली है। गाड़ी में कोई नहीं था।

ईवीएम मैनेजमेंट पर सवाल अधिकारी सस्पेंड

असम में ईवीएम मामले में चुनाव आयोग ने बड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) के चार अधिकारियों को असम ईवीएम मामले में सस्पेंड कर दिया है। चुनाव आयोग ने बताया कि परिवहन प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के लिए पीठासीन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। साथ ही पीओ और तीन अन्य अधिकारियों को निलंबित किया गया है। हालांकि, ईवीएम की सील बंद मिली, लेकिन LAC 1 रतबाड़ी(एससी) के इंदिरा एमवी स्कूल, संख्या 149 पर दोबारा मतदान कराने का फैसला किया गया है।

जनता की शिकायत

शुरुआती जांच में पता चला है कि वो बोलेरो गाड़ी पाथरकांडी निर्वाचन क्षेत्र के बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की है। जिला निर्वाचन अधिकारियों ने जब जनता जिला निर्वाचन अधिकारियों ने जब जनता की शिकायत पर गाड़ी पर पहुंचे तो वहां कोई मतदान अधिकारी, चुनाव आयोग का कोई कर्मचारी गाड़ी में या आसपास नहीं मिला। ना कोई दावेदार आया।


तथ्यात्मक रिपोर्ट जारी

चुनाव आयोग ने असम में ईवीएम से जुड़ी घटना पर तथ्यात्मक रिपोर्ट जारी की है। चुनाव आयोग की रिपोर्ट में बताया गया है कि पोलिंग पार्टी 149-इंदिरा एमवी स्कूल ऑफ एलएसी 1 रतबारी (SC) का रास्त में एक्सीडेंट हो गया था। उस पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी और 3 मतदान कर्मी शामिल थे। उनके साथ एक कांस्टेबल और एक होमगार्ड शामिल पुलिस कर्मी भी थे।

इससे पहले असम में भाजपा उम्मीदवार की कार में ईवीएम मिलने के मामले में चुनाव आयोग ने जांच शुरू की। चुनाव आयोग को भाजपा विधायक की गाड़ी में ईवीएम मिले जाने की अब तक जो रिपोर्ट आई है, उसके मुताबिक असम में पोलिंग पार्टी की गाड़ी खराब हो गई थी जिसके बाद पीठासीन अधिकारी ने भाजपा विधायक की गाड़ी में लिफ्ट लेने की बात कही है। चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक, लिफ्ट लेकर जब भाजपा विधायक की गाड़ी से पोलिंग पार्टी लौट रही थी तभी स्थानीय लोगों ने देख लिया और गाड़ी रोक दिया। पोलिंग पार्टी के सदस्यों को स्थानीय लोगों ने गाड़ी से निकाल दिया और भीड़ हिंसात्मक भी होने लगी।




दूसरे चरण की वोटिंग

असम विधानसभा चुनाव 2021 की पथरकंडी सीट पर दूसरे चरण में कल 1 अप्रैल को वोटिंग हुई। इस वोटिंग के बाद असम में ईवीएम मामला सामने आया। वोटिंग के बाद पथराखंडी से बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदू पॉल मुश्किलों में फंस गए। कांग्रेस ने उनकी कार से ईवीएम मिलने का आरोप लगाया और चुनाव आयोग से इस मामले पर जवाब मांगा। इस मामले की जांच होनी चाहिए। असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में बृहस्पतिवार को 77.21 प्रतिशत मतदान हुआ। दूसरे चरण के चुनाव में 13 जिलों में 10,592 मतदान केंद्रों पर मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

Suman

Suman

Next Story