16 जुलाई को साल का दूसरा चंद्रग्रहण, जानिए कितने बजे तक रहेगा ग्रहण का असर

इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 16 जुलाई को होगा। इस दिन आषाढ़ी पूर्णिमा होने के कारण गुरु पूर्णिमा का भी योग बन रहा है। यह लगातार दूसरा साल है

जयपुर: इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 16 जुलाई को होगा। इस दिन आषाढ़ी पूर्णिमा होने के कारण गुरु पूर्णिमा का भी योग बन रहा है। यह लगातार दूसरा साल है, जब गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लग रहा है। बीते साल भी 27 जुलाई को गुरु पूर्णिमा के दिन ही खग्रास चंद्र ग्रहण लगा था। ग्रहण का समय तकरीबन 3 घंटे का होगा, जो 1.32 बजे मध्यरात्रि से तड़के 4.30 बजे तक होगा। इसका असर भारत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, एशिया, यूरोप और दक्षिण अमेरिका में भी होगा।

चातुर्मास तक शुभ काम निषेध, इस दिन से शुरु हो रहा भगवान विष्णु का शयन काल

9 घंटे पहले लग जाएगा सूतक
गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण होने से पूजा प्रभावित होगी। चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले सूतक लग जाता है। ऐसे में चंद्र ग्रहण का प्रारंभ रात में 01:31 बजे हो रह है तो सूतक काल 9 घंटे पूर्व यानी शाम को 04:30 बजे से ही लग जाएगा। चंद्र गहण के मोक्ष होने तक सूतक काल होता है। मान्यता है कि सूतक के दौरान किसी भी तरह के शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। गौरतलब है कि सूर्य ग्रहण में सूतक काल ग्रहण से 12 घंटे पहले ही लग जाता है।  चंद्र ग्रहण पूरे भारत में देखा जा सकेगा। इसके अलावा यह ऑस्ट्रेलिया, एशिया (उत्तर-पूर्वी भाग को छोड़ कर), अफ्रीका, यूरोप, उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका के अधिकांश भाग में दिखाई देगा।

    Tags: