जन्मस्थली मथुरा में 15 अगस्त को मनाई जाएगी जन्माष्टमी, हुई भव्य तैयारियां

Published by Published: August 14, 2017 | 4:12 pm

मथुरा: लड्डू गोपाल श्रीकृष्ण का जन्म उत्सव उनकी जन्मस्थली मथुरा समेत पूरे ब्रज में 15 अगस्त को मनाया जाएगा। बंशी बजैया कान्हा के जन्मोत्सव के लिए ब्रज के मेन मंदिरों में भव्य तैयारियां की हो गई हैं। भक्तों का मेला भारी संख्या में पहुंच रहा है। सोमवार से यहां चारों ओर भक्तों की भीड़ नजर आ रही है।

भाद्रपद अष्टमी की तिथि दो दिन पड़ने की वजह से जन्माष्टमी अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग दिन मनाई जा रही है। लेकिन ब्रजमंडल में जन्माष्टमी महोत्सव 15 अगस्त को मनाया जाएगा।

खबरें हैं कि लड्डू गोपाल के लिए 125 मन प्रसाद तैयार हो रहा है। पूरा मंदिर परिसर बिजली की झालरों से झिलमिला रहा है। गर्भग्रह व भागवत भवन में महाभिषेक की तैयारियां चल रही हैं। उत्सव के बधाई गायन के लिए भी तमाम ग्रुप तैयारी कर चुके हैं। वहीं विख्यात द्वारिकाधीश मंदिर में 15 अगस्त को सुबह 6 से 6.15 बजे तक मंगला दर्शन और फिर उसके बाद पंचामृत स्नान होगा।

श्रंगार के दर्शन सुबह 9 बजे खुलेंगे। तत्पश्चात, राजभोग की झांकी होगी। मंदिर में जागरण के दर्शन रात्रि 10 बजे से तथा जन्म के दर्शन 11.45 बजे होंगे। नंद महोत्सव यहां पर 16 अगस्त को मनाया जाएगा। रंगेश्वर स्थित गौड़ीय संप्रदाय के मंदिर में 15 अगस्त को ठाकुरजी का प्राकट्योत्सव मनाया जाएगा।

आगे की स्लाइड में जानिए कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर हुई तैयारियों के बारे में

15 अगस्त को ही वृंदावन के ठा. बांकेबिहारी मंदिर में जन्मोत्सव के विशेष दर्शन होंगे। ठाकुरजी की विशेष आरती जन्मोत्सव के बाद मध्य रात्रि को होगी। यहां के इस्कॉन एवं प्रेममंदिर में भी जन्मोत्सव मनाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। दोनों ही मंदिरों को काफी खूबसूरती से सजाया जा रहा है।

वहीं नंदगांव और गोकुल के नंदभवन में भी कान्हा के जन्म की धूम 15 अगस्त को होगी। जबकि 16 को अगस्त को नंदोत्सव की धूम मचेगी। शहर में जगह-जगह कृष्ण भक्तों के टोल नजर आ रहे हैं। श्री कृष्ण जन्माष्टमी के जश्न में शरीक होने को भक्तों का आना शुरू हो गया है।

नंदलाल श्रीकृष्ण जन्मस्थान उत्सव धूमधाम से मनाए जाने के लिए तैयारियां प्रारंभ हो गई हैं। ढोल, नगाड़े, झांझ, मजीरे, मृदंग, बैंड की सुमधुर ध्वनि के बजाने वाले लड्डू गोपाल के स्वागत के लिए तैयार हैं