Top

मेष राशि के शख्स से अगर करने वाले हैं शादी तो जानिए उनका स्वभाव

नाम के पहले अक्षर का काफी अधिक महत्व बताया गया है। पुरानी मान्यताओं के अनुसार व्यक्ति के जन्म के समय चंद्रमा जिस राशि में होता है, उसी राशि के अनुसार नाम का पहला अक्षर निर्धारित किया जाता है। चंद्र की स्थिति के अनुसार ही हमारी नाम राशि मानी जाती है।

suman

sumanBy suman

Published on 15 April 2020 4:13 AM GMT

मेष राशि के शख्स से अगर करने वाले हैं शादी तो जानिए उनका स्वभाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: नाम के पहले अक्षर का काफी अधिक महत्व बताया गया है। पुरानी मान्यताओं के अनुसार व्यक्ति के जन्म के समय चंद्रमा जिस राशि में होता है, उसी राशि के अनुसार नाम का पहला अक्षर निर्धारित किया जाता है। चंद्र की स्थिति के अनुसार ही हमारी नाम राशि मानी जाती है। सभी 12 राशियों के लिए अलग-अलग अक्षर बताए गए हैं। नाम के पहले अक्षर से राशि मालूम होती है और उस राशि के अनुसार व्यक्ति के स्वभाव और भविष्य से जुड़ी कई जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

यहां जानिए किस राशि के अंतर्गत कौन-कौन से नाम अक्षर आते हैं, किस राशि के व्यक्ति का स्वभाव कैसा है और किस राशि के लोगों की क्या विशेषता है। इसमें सबसे पहले मेष राशि के बारे में बात करेंगे।

यह पढ़ें...राशिफल 15 अप्रैल: इन 9 राशियों के लिए भागदौड़ भरा रहेगा दिन, जानिए बाकी का हाल

मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो,

राशि स्वरूप: मेंढा जैसा, राशि स्वामी- मंगल।

* राशि चक्र की सबसे पहली राशि मेष है। जिसके स्वामी मंगल है। धातु संज्ञक ये राशि चर (चलित) स्वभाव की होती है। राशि का प्रतीक मेढ़ा संघर्ष का परिचायक है।

*मेष राशि वाले आकर्षक होते हैं। इनका स्वभाव कुछ रुखा हो सकता है। दिखने में सुंदर होते है। ये लोग किसी के दबाव में कार्य करना पसंद नहीं करते।

*बहुमुखी प्रतिभा के स्वामी होते हैं। समाज में इनका वर्चस्व होता है और मान सम्मान की प्राप्ति होती है। इनका चरित्र साफ -सुथरा और आदर्शवादी होता है।

*निर्णय लेने में जल्दबाजी करते है और जिस कार्य को हाथ में लिया है उसको पूरा किए बिना पीछे नहीं हटते।कल्पना शक्ति की प्रबलता रहती है। सोचते बहुत ज्यादा हैं।

यह पढ़ें...क्या आप जानते हैं, रावण को भीख में मिली थी लंका, हनुमान जी ने नहीं किया था उसका दहन

लालच से कोसों दूर

*स्वभाव कभी-कभी विरक्ति का भी रहता है। लालच करना इस राशि के लोगों के स्वभाव मे नहीं होता। दूसरों की मदद करना अच्छा लगता है।

*जैसा खुद का स्वभाव है, वैसी ही अपेक्षा दूसरों से करते हैं। इस कारण कई बार धोखा भी खाते हैं।अग्नितत्व होने के कारण क्रोध अतिशीघ्र आता है।

*किसी भी चुनौती को स्वीकार करने की प्रवृत्ति होती है। अपमान जल्दी भूलते नहीं, मन में दबा के रखते हैं। मौका पडने पर प्रतिशोध लेने से नहीं चूकते।

*अपनी जिद पर अड़े रहना, यह भी मेष राशि के स्वभाव में पाया जाता है। आपके भीतर एक कलाकार छिपा होता है।

हठीपन के साथ कम बोलना

*आप हर कार्य को करने में सक्षम हो सकते हैं। स्वयं को सर्वोपरि समझते हैं। अपनी मर्जी के अनुसार ही दूसरों को चलाना चाहते हैं। इससे आपके कई दुश्मन खड़े हो जाते हैं।

*एक ही कार्य को बार-बार करना इस राशि के लोगों को पसंद नहीं होता। एक ही जगह ज्यादा दिनों तक रहना भी अच्छा नहीं लगता। नेतृत्व क्षमता अधिक होती है।

*कम बोलना, हठी, अभिमानी, क्रोधी, प्रेम संबंधों से दु:खी, बुरे कर्मों से बचने वाले, नौकरों एवं महिलाओं से त्रस्त, कर्मठ, प्रतिभाशाली, यांत्रिक कार्यों में सफल होते हैं।

नोट: वृष राशि वालों के नाम के अक्षर और स्वभाव के बारे में अगले दिन पढ़ें....

suman

suman

Next Story