×

Raksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन 11 या 12 अगस्त को? पूर्णिमा के साथ भद्राकाल का संयोग बना रहा असमंजस की स्थिति

Raksha Bandhan 2022: ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के मुताबिक़ रक्षा बंधन 12 अगस्त को मनाना सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि 12 अगस्त को पूर्णिमा तिथि तो भी होगी लेकिन भद्रा का साया नहीं रहेगा।

Preeti Mishra
Written By Preeti Mishra
Updated on: 6 Aug 2022 12:08 PM GMT
rakhi
X

rakhi (Image credit : social media )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

Raksha Bandhan 2022: हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक वर्ष श्रावण माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है।बता दें कि रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के आपस में स्नेह और प्रेम का प्रतीक माना जाता है। इस दिन बहनें अपने भाईयों की कलाई पर राखी बांधते हुए उनकी आरती करते हुए भगवान से भाई की लंबी आयु और सुख-समृद्धि की भगवान् से कामना करती हैं। बहन के राखी बांधने के बदले में भाई हमेशा उनकी रक्षा और उसके साथ जीवन के हर मोड़ पर खड़े होने का वचन देता है।

लेकिन इस वर्ष राखी के त्योहार की तिथि को लेकर लोगों के बीच में बहुत ही असमंजस की स्थिति बनी हुई है। कुछ ज्योतिषाचार्य रक्षाबंधन का त्योहार 11 अगस्त को बता रहे हैं तो कुछ 12 अगस्त को इसे मनाने की सलाह दे रहे हैं। उल्लेखनीय है कि इस बार रक्षा बंधन पर भद्रा का साया पड़ रहा है ।


ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय

ऐसे महर्षि पाराशर ज्योतिष संस्थान"ट्रस्ट" के ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय बता रहें हैं रक्षाबंधन मनाने की की सही तिथि और राखी बांधने का शुभ मुहुर्त के बारे में। आपकी सारी दुविधाओं को दूर करते हुए ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के अनुसार रक्षाबंधन का त्यौहार रक्षा का प्रतिक है। इस दिन बहनें अपने भाई को राखी उसकी रक्षा के लिए बांधती है। इस लिए इनमें तिथि का बेहद ख़ास महत्त्व है। भले ही अगर उस दिन उदया तिथि ही क्यों ना हो? रक्षाबंधन अपने मुहूर्त में ही मानना बेहद शुभ होता है।

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

11 अगस्त गुरुवार को सांय 8. 36 मिनट से लेकर रात्रि 10 बजे तक

12 अगस्त शुक्रवार को सुबह 5. 30 बजे से लेकर 7. 16 बजे तक

गौरतलब है कि ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के अनुसार राखी बांधने का सर्वोत्तम मुहूर्त 12 अगस्त को सुबह 5. 30 बजे से लेकर 7. 16 बजे तक का है।

हिन्दू मान्यताओं के मुताबिक जब तक बहन अपने भाई को राखी नहीं बांध देती हैं तब तक वे अन्न ग्रहण नहीं करती हैं। ऐसे में जो लोग 11 अगस्त के दिन राखी मना रहें हैं वे रक्षाबंधन बांधने तक पेय पदार्थ जैसे जल , दूध ,दही चाय व् जूस आदि ले सकती हैं।

रक्षा बंधन कब मनाएं 11 या 12 अगस्त? (raksha bandhan shubh muhurat time)

इस वर्ष रक्षाबंधन किस दिन मनाएं,इसको लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। राखी 11 अगस्त को बांधे या फिर 12 अगस्त को, राखी बांधने का कौन सा शुभ मुहूर्त रहेगा? दिवाकर पंचांग के अनुसार 11 अगस्त,गुरुवार को चंद्रमा मकर राशि एवं भद्रा पाताललोक में होने से भद्रा का परिहार होगा।हालाँकि पूर्णिमा 11 अगस्त गुरुवार को है। लेकिन इस दिन पूर्णिमा के साथ भद्राकाल भी साथ -साथ लग रहा है। जिस काल में राखी बांधना बिलकुल निषेध माना गया है। ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के अनुसार 11 अगस्त को पूर्णिमा का मान पूरे दिन माना गया है लेकिन रक्षाबंधन को अपने शुभ मुहूर्त पर ही मनाना सर्वोतम होता है अन्यथा इसका पूर्ण फल प्राप्त नहीं हो पाता है।

12 अगस्त को रक्षाबंधन मनाना होगा बेहद शुभ

ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के अनुसार इस साल सावन मास की पूर्णिमा 11 अगस्त को 9 बजकर 35 मिनट पर शुरू हो रही है। इसी समय से भद्रा भी लग रही है जो रात 08 बजकर 25 मिनट पर समाप्त होगी। इसलिए 11 अगस्त को भद्रा समाप्त होने पर रात 08 बजकर 36 मिनट से रात 10 बजे तक राखी बांध सकते हैं। लेकिन हिंदू धर्म की मान्यताओं के मुताबिक सूर्यास्त के बाद राखी बांधना ज्यादा शुभफलदायी नहीं माना जाता है। इस कारण से 12 अगस्त को राखी का त्योहार मनाना बेहद शुभ माना जा रहा है।

ज्योतिषाचार्य पं.राकेश पाण्डेय के मुताबिक़ रक्षा बंधन 12 अगस्त को मनाना सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि 12 अगस्त को पूर्णिमा तिथि तो भी होगी लेकिन भद्रा का साया नहीं रहेगा।


Preeti Mishra

Preeti Mishra

Next Story