×

Santan Prapti Ke Jyotish Upay: संतान सुख से है वंचित तो जानिए चमत्कारी ज्योतिषीय उपाय, बनें बुद्धिमान-तेजस्वी संतान के माता-पिता

Santan Prapti Ke Jyotish Upay: हर दंपत्ति या कहें वैवाहिक जीवन की नींव होते हैं संतान । जिस घर में संतान की किलकारी गूंजती है, उस घर में खुशियां हरदम दस्तक देती रहती है। ईश्वर की कृपा बरसती है। कहते हैं कि जिन पर भगवान की कृपा होती है उन्हें योग्य, कुशल और बुद्धिमान संतान का सुख मिलता है।

Suman  Mishra | Astrologer

Published By Suman Mishra | Astrologer

Published on 15 Jan 2022 5:12 AM GMT

Santan Prapti Ke Jyotish Upay
X

सांकेतिक तस्वीर ( सौ. से सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Santan Prapti Ke Jyotish Upay

संतान प्राप्ति के लिए उपाय :हर दंपत्ति या कहें वैवाहिक जीवन की नींव होते हैं संतान । जिस घर में संतान की किलकारी गूंजती है, उस घर में खुशियां हरदम दस्तक देती रहती है। ईश्वर की कृपा बरसती है। कहते हैं कि जिन पर भगवान की कृपा होती है उन्हें योग्य, कुशल और बुद्धिमान संतान का सुख मिलता है।

शादी के बाद व्यक्ति के जीवन (Life) में बहुत से बदलाव आते हैं। व्यक्ति के जीवन में चुनौतियों और जिम्मेदारियों में भी इजाफा होता है। ऐसे में जिंदगी में खुशियों के साथ कई तरह की समस्याएं भी आती हैं। जैसे कि संतान से संबंधित। ऐसे कई लोग हैं जिनकी शादी को हुए कई साल गुजर चुके हैं, लेकिन उनके घर में नन्हीं किलकारियों की गूंज नहीं सुनाई दी है।इस समस्या के कई ज्योतिषीय और चिकित्सकीय कारण होते हैं। लेकिन दवा के साथ हम दुआओँ में भी विश्वास करते हैं और जानने की कोशिश करते हैं ज्योतिषीय उपाय के बारे में

कब मिलता है संतान सुख

जातक की कुंडली ( Kundli) में ग्रहों (Planet )का गोचर गुरु लग्न पंचम, नवम व एकादश भाव में हों तो भी संतान सुख मिलता है। यदि वर सूर्य या गुरु की महादशा से गुजर रहा हो तो भी दं‍पति को पुत्र की प्राप्ति संभव है।

अगर दंपति की कुण्डली में नाड़ी दोष होने पर संतान नहीं होती यदि होती भी है तो उनमें शारीरिक विकार होता है। परिवार में पितृ दोष लगने के कारण संतान प्राप्ति में विघ्न उत्पन्न होते है। यदि पति का शुक्र ग्रह उचित स्थिति में न हो तो संतान का सुख नहीं मिलता है।पत्नी का बृहस्पति ग्रह नीच का होने पर ऐसी स्थिति बनती है।

सांकेतिक तस्वीर ( सौ. से सोशल मीडिया)

संतान सुख पाने के लिए क्या करना चाहिए

जिस भी दंपत्ति को संतान सुख नहीं मिलता है। उन्हें गणेश जी की उपासना करना चाहिए। प्रतिदिन भोजन में से कुछ अंश गाय आदि जानवरों को देना चाहिए। मीठी रोटियां बनाकर कुत्तों को खिलाना चाहिए।

संतान प्राप्ति के लिए कौन सा पाठ करें

भगवान गणेश जी की मूर्ति पर संतान प्राप्ति की इच्छुक महिला प्रतिदिन स्नानादि से निवृत होकर एक माह तक बिल्व पत्र फल चढ़ाकर 'ॐ पार्वतीप्रियनंदनाय नम:' मंत्र की 11 माला जपने से संतान प्राप्ति होती है।

संतान प्राप्ति के अचूक उपाय

  • यदि किसी दंपति को संतान नहीं हो रही है तो वो अपने घर में गोपाल यंत्र स्थापित करें और गुरुवार को केले और पीपल के वृक्ष की सेवा करें तो संतान की प्राप्ति होती है।
  • गुरुवार को पीला वस्त्र पहने, पीली वस्तुओं का दान दें और पीला भोजन करें संतान की प्राप्ति इस उपाय से जल्दी होती है।
  • रविवार को छोड़कर किसी भी दिन नि:संतान स्त्री पीपल के पेड़ के नीचे दीपक जलाती है तो उसे उत्तम संतान की प्राप्ति होती है।
  • यदि अनजान कारणों से दंपत्ति में अनबन हो तो विवाह होम एक दो वर्षों के बाद करते रहें। पति के अविचारी, लोभी या दुष्ट होने पर पत्नियां रोज श्री रुक्मिणी स्वयंवर का पाठ करती रहें।
  • प्रदोष तिथि के दिन शिव-पार्वती की पूजा करें। यदि इतना करने के बावजूद पति-पत्नी में दरार बढ़ती जाए और बात तलाक तक पहुंच जाए तो दोनों में से एक या दोनों 16 सोमवार का व्रत करें मनोकामना जरूर पूरी होगी। और आपको संतान की प्राप्ति जरूर होगी।
  • पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में आम की जड़ को लाकर उसे में घिसकर दूध में पिलाने से स्त्री की सूनी गोद भर जाती है।

सांकेतिक तस्वीर ( सौ. से सोशल मीडिया)

संतान प्राप्ति के लिए व्रत

अगर शादी के कई सालों बाद भी दंपत्ति को संतान नहीं होती है उन्हें भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष कि सप्तमी तिथि के दिन संतान सप्तमी व्रत करना चाहिए। इस व्रत को करने से संतान प्राप्ति होती है।

यदि वर-वधू के घर में पितृदोष के कारण संतानहीनता हो या जन्म लेने वाली संतान अपरिपक्व या अल्पायु हो तो वैवाहिक जीवन में नई समस्या खड़ी हो जाती है। ऐसी स्थिति में किसी योग्य ज्योतिष पूजा करवाये, तो वहीं, अनिष्ट ग्रहों के कारण होने वाली समस्या के निवारण के लिए ग्रहों के जप, होम और दान करें या सत्यपुरुष के चरित्र का वाचन कर सकते हैं।संतान प्राप्‍ति की इच्‍छा रखते हैं तो ग्‍यारह मुखी रुद्राक्ष धारण करें और लड्डू गोपाल को घर के मंदिर में स्थान दें। सोमवार के दिन पानी में काला तिल डालकर स्नान करें। फिर शिवलिंग की सफेद चंदन, सफेद फूल, पंचामृत, चावल, सुपारी, बेलपत्र आदि से पूजा करें। संतान की प्राप्ति के लिए सावन में दूध में चंदन मिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करें। यदि स्वयं की प्रगति चाहते हैं तो शिवलिंग के आगे बैठकर ऊं नम: शिवाय का जप करें।संतान गोपाल यंत्र की स्थापना करें व सवा लाख संतान गोपाल मंत्र का जाप करने से और दस मुखी रुद्राक्ष धारण करने से भी जल्दी ही संतान प्राप्ति होती है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Suman  Mishra | Astrologer

Suman Mishra | Astrologer

Next Story