बनेंगे हर बिगड़े काम, धन की आएगी बाढ़, सावन में करें वास्तु का ये उपाय

सावन मास हरियाली और नवचेतन का माह है जो भगवान शिव को अतिप्रिय है। इस माह समस्त वातावरण भगवान शिव की भक्ति में भक्तिमय रहता है। हर तरफ सकारात्मक शक्ति का प्रवाह होता है। वास्तु में कुछ उपाय भी बताए गए हैं।

Published by suman Published: July 12, 2020 | 10:37 am

जयपुर: सावन मास हरियाली और नवचेतन का माह है जो भगवान शिव को अतिप्रिय है। इस माह समस्त वातावरण भगवान शिव की भक्ति में भक्तिमय रहता है। हर तरफ सकारात्मक शक्ति का प्रवाह होता है।प्रत्येक घर में कोई न कोई वास्तु दोष अवश्य मिलता है, जिस कारण घर में कोई न कोई समस्या बनी रहती है। वास्तुदोष से घर में नकारात्मक उर्जा भी इकट्ठी होती रहती है जो घर में कलह का कारण बन जाती है और साथ ही परिवार के सदस्यों की सेहत को खराब करती है। इसके दुष्प्रभाव से आर्थिक और मानसिक समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं। वास्तु में कुछ उपाय भी बताए गए हैं।

 

यह पढ़ें…जानिए कौन हैं गौरांगलाल दास, जिसे बतौर राजनयिक भारत ताइवान में करेगा नियुक्त

*भगवान शिव ऐसे देव हैं जिनकी पूजा-आराधना से वास्तुदोषों का शमन होता है। जिन भवनों में वास्तुदोष हो वहां सुख-शांति के लिए शिवलिंग पर अभिषेक करने के उपरान्त जलहरी के जल को घर लाकर उससे ‘ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय ‘ ये मंत्र जपते हुए पूरे भवन में छिड़काव करना चाहिए। ऐसा करने से वहां उपस्थित सभी नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं।

*घर-परिवार पर भगवान शिव की कृपा बनी रहे,धन का आगमन हो इसके लिए घर की पूर्व या उत्तर-पश्चिम (वायव्य)दिशा में बिल्व का पेड़ लगाएं और उसको नियमित रूप से जल दें एवं शाम के समय इसके नीचे घी का दीपक जलाएं।

सावन माह में प्रतिदिन गाय या बैल को हरा चारा खिलाएं। जरूरतमंदों को भोजन कराएं। इससे घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी।

घर में तुलसी स्‍थापित करने के लिए सावन माह सर्वश्रेष्‍ठ माना जाता है। इस माह घर में पौधे अवश्य लगाएं। ऐसा करने से घर में खुशियां आती हैं।

 

सावन माह में घर की पूर्व दिशा में भगवान शिव एवं माता पार्वती की मूर्ति या तस्वीर लगाएं। इससे घर से क्लेश दूर हो जाते हैं। इस माह रूद्राक्ष को धारण करें। इससे मानसिक शांति प्राप्त होती है और शरीर निरोगी होता है।

सावन में उपवास रखने या एक वक्‍त भोजन करने की विशेष मान्‍यता है। ऐसा करने से पापों का नाश होता है और आध्‍यात्‍म में रुचि बढ़ती है।

 

यह पढ़ें…राशिफल 12 जुलाई: अच्छा या बुरा कैसा रहेगा रविवार, जानें राशियों का हाल

घर के रसोईघर में गंगाजल लाकर रखें। चांदी या तांबे का त्रिशूल घर के हॉल में रखें। इससे नकारात्मक ऊर्जा घर से दूर रहेगी। डमरू को बच्चों के कमरे में रखें।

 

ऐसा करने से बच्चों को किसी प्रकार का भय नहीं रहेगा। चांदी या तांबे के बने नंदी तिजोरी में रखें। चांदी या तांबे का नाग लाकर घर के मुख्य दरवाजे पर रखें। ऐसा करने से सभी कार्य सफलतापूर्वक संपन्न हो जाएंगे।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।