×

हिन्दू धर्म में इस पौधे का विशेष महत्त्व, लाए जीवन में बदलाव

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Jan 2018 7:41 AM GMT

हिन्दू धर्म में इस पौधे का विशेष महत्त्व, लाए जीवन में बदलाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे का विशेष महत्त्व है। इसकी नियमपूर्वक पूजा करने से सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है वहीं तुलसी पत्तों का उपयोग अनेकों औषधियों में किया जाता है। धर्म ग्रंथों में तुलसी के अनेकों ऐसे उपाय बताएं गए है जिनको करने से सभी बाधाएं दूर होती है और सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

> अपने कामों में सफलता के लिये तुलसी की जड़ को विधिपूर्वक निमंत्रण देकर अपने घर ले आएं। घर पहुंचकर इसको गंगाजल से धो लें। इसके बाद इसका पूजन करें। पूजन करते समय किसी तुलसी मंत्र का जप करेंगे तो श्रेष्ठ रहेगा। पूजन के बाद इस जड़ को दाएं हाथ पर पीले कपड़े में लपेटकर बांध लें। यह उपाय है करने पर आपको धन संबंधी कार्यों में भी विशेष सफलता प्राप्त होगी।

> धन प्रापप्ति के लिये अपने घर के मुख्य दरवाजे के दोनों ओर तुलसी के पौधे गमले में लगाएं। प्रतिदिन तुलसी की उचित देखभाल करें। इस उपाय से आपके घर में धन आने लगेगा और पैसों की तंगी खत्म हो जाएगी। दरवाजे के दोनों ओर तुलसी का पौधा लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आएगी और सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती जाएगी।

> रोज शाम को तुलसी के पास दीपक जलाएं। इस उपाय से महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

> रोज सुबह तुलसी को जल चढ़ाएं। तुलसी की देखभाल करें। इस उपाय से स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं और देवी-देवताओं की कृपा भी मिलती हैं।

> तुलसी की माला गले में धारण करने से सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। किसी की बुरी नजर भी नहीं लगती है। साथ ही, नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव भी नहीं पड़ता है। असली तुलसी की माला धारण करने पर सभी कार्यों में सफलता मिलती है।

> प्रात: तुलसी के पौधे के आगे अशुभ स्वप्न को कह देने से दुष्फल समाप्त हो जाता है।

> संतान बहुत ज्यादा जिद्दी हो, बड़ों का कहना ना मानती हो तो उसे घर के पूर्व दिशा में रखे तुलसी के पौधे के तीन पत्ते रविवार को छोडक़र प्रतिदिन किसी भी तरह अवश्य ही खिलाएं, सन्तान का व्यवहार सुधरने लगेगा।

> कन्या का विवाह नहीं हो रहा हो तो कन्या तुलसी के पौधे को घर के दक्षिण-पूर्व में रखकर उसे नियमित रूप से जल अर्पण करें। इससे शीघ्र ही योग्य वर की प्राप्ति होती है।

> तुलसी का पौधा किचन के पास रखने से घर के सदस्यों में आपसी प्रेम, सामंजस्य बना रहता है।

11. हिन्दु धर्मशास्त्रों में तुलसी के आठ नाम बताए गए हैं- वृंदा, वृंदावनि, विश्व पूजिता, विश्व पावनी, पुष्पसारा, नन्दिनी, तुलसी और कृष्ण जीवनी। सुबह तुलसी में जल चढ़ाते समय इनका नित्य नाम लेने से जीवन में कोई भी संकट, कोई आभाव नहीं रहता है। सभी तरह के भौतिक सुख सुविधाओं की प्राप्ति होती है।

Newstrack

Newstrack

Next Story