Top

जय श्रीराम के बाद अब हर-हर महादेव, काशी के नाम पर मोदी ने दीदी को घेरा

पश्चिम बंगाल में शनिवार को अपनी चुनाव चुनावी सभाओं में पीएम मोदी काफी आक्रामक अंदाज में दिखे।

Shivani

ShivaniBy Shivani

Published on 4 April 2021 3:25 AM GMT

PM Modi CM Mamta rally
X

फाइल फोटो 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक-दूसरे पर हमला करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहे हैं। पीएम मोदी अपनी रैलियों में ममता बनर्जी पर सीधा निशाना साध रहे हैं। एक दिन पहले उन्होंने कहा था कि नंदीग्राम में हार की आशंका से दीदी अब दूसरा सुरक्षित चुनाव क्षेत्र तलाश रही हैं। तृणमूल कांग्रेस की ओर से दीदी के 2024 का लोकसभा चुनाव बनारस से लड़ने की बात कहे जाने के बाद शनिवार को पीएम मोदी ने भी दीदी पर करारा तंज कसा।

पश्चिम बंगाल में सोनारपुर की जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बंगाल में दीदी को जय श्रीराम के नारे से चिढ़ है मगर उन्हें यह बात समझ लेनी चाहिए कि बनारस में उन्हें हर-हर महादेव का भी नारा सुनना पड़ेगा। काशी के लोग महादेव के भक्त हैं और वहां हमेशा हर-हर महादेव के नारे की गूंज सुनाई पड़ती है।

अंपायर पर सवाल उठाने का मतलब खेल खत्म

पश्चिम बंगाल में शनिवार को अपनी चुनाव चुनावी सभाओं में पीएम मोदी काफी आक्रामक अंदाज में दिखे। मुख्यमंत्री को घेरते हुए उन्होंने कहा कि ममता दीदी भले ही खुद को कूल मानती हों, लेकिन उनके हाव भाव से अब पश्चिम बंगाल के मूड का पता चलने लगा है।

हुगली की रैली में पीएम मोदी ने कहा कि क्रिकेट के मैदान में जब कोई खिलाड़ी बार-बार अंपायर पर सवाल उठाता है तो इसका मतलब साफ है कि वह हार की आशंका से यह काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि चुनाव के मैदान में जो कोई कभी ईवीएम को गाली दे, तो कभी चुनाव आयोग को तो समझ लेना चाहिए कि उसका खेल खत्म हो चुका है। टीएमसी को सताने लगा हार का डर

पीएम ने कहा कि ममता दीदी और तृणमूल कांग्रेस के लोग बार-बार चुनाव आयोग पर हमले कर रहे हैं और इससे साफ है कि उन्हें अपनी हार का डर सताने लगा है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल के लोगों में अपने फैसलों को लेकर कभी भ्रम की स्थिति नहीं रही है और यही कारण है कि बंगाल के लोगों ने चुनाव में हमेशा स्पष्ट बहुमत को ही प्राथमिकता दी है।

यहां के बुद्धिजीवी और यहां की अध्ययनशील प्रतिभाओं ने हमेशा स्पष्ट सोच को ही महत्व दिया है और बंगाल के लोग अपनी परीक्षा में हमेशा पास हुए हैं। फेल वही लोग हुए जिन्होंने बंगाल के लोगों की अपेक्षा और उनकी आकांक्षाओं को पूरा नहीं किया। यही कारण है कि आज फिर बंगाल में परिवर्तन की बयार दिख रही है।

हर चरण के साथ बढ़ेगी दीदी की बौखलाहट

नंदीग्राम के संग्राम की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि नंदीग्राम में क्या होने वाला है, इसकी झलक हम लोग दो दिन पहले ही देख चुके हैं। मुझे पता है कि हर चरण के मतदान के साथ ही दीदी की बौखलाहट और बढ़ेगी और वे बौखलाहट में मुझ पर गालियों की बौछार भी करेंगी। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के लिए तृणमूल सरकार एक आपदा साबित हुई है। मानवता के हिसाब से जब किसी पर मुसीबत आए तो मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाना चाहिए मगर तृणमूल के लोगों ने मुसीबत को ही कमाई का जरिया बना लिया।

दीदी को टूरिस्ट नहीं करेंगे काशी के लोग

सोनारपुर की रैली में पीएम मोदी ने कहा कि टीएमसी की ओर से कहा जा रहा है कि दीदी वाराणसी से लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमाएंगी। इस बयान से दो बातें पूरी तरह साफ हैं। एक तो दीदी ने बंगाल में अपनी हार स्वीकार कर ली है और दूसरी बात यह कि दीदी अब बंगाल के बाहर अपनी जगह तलाश करने में जुट गई हैं।

उन्होंने कहा कि मैं दीदी को एक बात और बताना चाहता हूं कि मेरे बनारस और यूपी के लोग इतने बड़े दिलवाले हैं कि दीदी को कभी बाहर ही नहीं कहेंगे। वह आपको टूरिस्ट नहीं कहेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि जब दीदी को पश्चिम बंगाल में श्री राम के नाम से चिढ़ है तो वह काशी में हर-हर महादेव की गूंज कैसे सुन पाएंगी। उन्होंने कहा कि काशी के लोग महादेव के भक्त हैं और वहां हमेशा हर-हर महादेव की गूंज सुनाई पड़ती है। ऐसे में तो काशी में दीदी की दिक्कतें और बढ़ जाएंगी।

दीदी पर कड़वाहट घोलने का लगाया आरोप

पीएम मोदी ने ममता को घेरते हुए उनसे सवाल पूछा कि वे इतनी कड़वाहट कहां से लाती हैं। उन्होंने कहा कि बंगाल के प्रतिभाशाली युवाओं में ममता बनर्जी कड़वाहट घोलने में लगी हुई हैं। उनकी बौखलाहट का सबसे बड़ा कारण उनके 10 साल का रिपोर्ट कार्ड है। पश्चिम बंगाल में पुरानी इंडस्ट्री और कल कारखाने बंद हो गए हैं और युवा बेरोजगारी झेल रहे हैं।


किसानों की मदद करेगी भाजपा सरकार

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2 मई को भाजपा की सरकार बनने के बाद सबसे पहला फैसला किसानों के हित में किया जाएगा। कैबिनेट का पहला फैसला यहां के किसानों को सहायता राशि देने का होगा। ममता बनर्जी ने अभी तक किसानों को जो पैसे नहीं दिए हैं, वह भाजपा की सरकार बनते ही बांटे जाएंगे और साथ ही पश्चिम बंगाल में आयुष्मान भारत योजना भी लागू की जाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनना तय है और मैं भाजपा की सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए कोलकाता जरूर आऊंगा।

आक्रामक अंदाज में दिखे पीएम मोदी

सियासी जानकारों का कहना है कि पश्चिम बंगाल में अपनी अपनी रैलियों के दौरान प्रधानमंत्री काफी आक्रामक अंदाज में दिख रहे हैं। वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ऊपर सीधा हमला करते हुए उनकी सरकार को पूरी तरह नाकाम बताने में लगे हुए हैं। उनकी सभाओं में भीड़ भी खूब उमड़ रही है। दूसरी ओर पीएम के हमलों के जवाब में दीदी भी पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर सीधा हमला बोल रही हैं।

Shivani

Shivani

Next Story