×

बड़ी घटना: भाजपा कार्यालय के पास मिले ढेरों बम, आधी रात मचा शोर-शराबा

पश्चिम बंगाल में एक बहुत बड़ी घटना होते-होते टली है। भाजपा कार्यालय के नजदीक से करीब 51 बम बरामद किए गए हैं। जिसके बाद से हड़कंप मचा हुआ है।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 6 Jun 2021 1:21 AM GMT

Kolkata 51 bombs found 100 meters away from BJP office
X

भाजपा कार्यालय के पास मिले बम (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता: पश्चिम बंगाल से रविवार की सुबह की बड़ी खबर आ रही है। यहां एक बहुत बड़ी घटना होते-होते टली है। भाजपा कार्यालय के नजदीक से करीब 51 बम बरामद किए गए हैं। जिसके बाद से हड़कंप मचा हुआ है। राज्य में चुनाव के बीच में और अब चुनाव के बाद भी लगातार हिंसक घटनाएं सामने आ रही हैं।

ऐसे में चुनाव के बाद भी भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले की बड़ी घटना सामने आई है। इस बारे में शनिवार को मिलिट्री इंटेलिजेंस द्वारा शेयर किए गए इनपुट के आधार पर, कोलकाता पुलिस के एंटी राउडी सेक्शन ने भाजपा कार्यालय के पास हेस्टिंग्स क्रॉसिंग क्षेत्र से 51 बम बरामद किए हैं।

भाजपा कार्यालय से 100 मीटर पर ढेरों बम

ये बड़ी घटना महानगर के हेस्टिंग्स क्रासिंग इलाके में हुई है। जहां से कोलकाता पुलिस ने शनिवार रात को भाजपा कार्यालय के लगभग 51 देसी बम मिलने से हड़कंप मच गया। बताया जा रहा कि ये बम प्लास्टिक के एक बोरे में भरकर से भाजपा कार्यालय से सिर्फ 100 मीटर दूरी पर रखे हुए थे। वहीं पुलिस अब बोरा रखने वाले की पहचान करने की कोशिश कर रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस की एंटी राउडी सेक्शन (एआरएस) को मिलिट्री इंटेलिजेंस की तरफ से एक इनपुट मिला था। इस इनपुट के आधार पर एआरएस ने देर रात भाजपा(BJP) कार्यालय के पास तलाशी अभियान चलाया।

जिससे इस बीच सुतली लपेटकर तैयार किए गए 51 देसी बमों से भरा सफेद रंग का बोरा बरामद किया गया। ये भी बताया गया कि सभी बम जिंदा और विस्फोट करने की स्थिति में थे।

ऐसे में एआरएस ने तत्काल बम स्क्वॉड को मौके पर ही बुला लिया। जिसने तुरंत ही बमों को कब्जे में लेकर निष्क्रिय कर दिया। हालाकिं पुलिस इस बम को लाने वालों की जानकारी जुटाने के लिए आसपास के सीसीटीवी खंगाल रही है।

इसके साथ ही पुलिस पास रहने वालों से भी लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं ये भी पता करने का प्रयास किया जा रहा है कि बमों को भाजपा कार्यालय के करीब क्यों रखा गया था? भाजपा के किसी पदाधिकारी पर हमले की संभावना के नजरिये से भी जांच जारी है। इन सभी सवालों का जवाब पाने के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत है।

पश्चिम बंगाल में नया एलान- तीन घंटे खुलेगें रेस्तरां और बार


इससे साथ ये भी जानकारी है कि अब पश्चिम बंगाल में रेस्तरां और कैफे 3 घंटे के लिए खोलने की इजाजत दे दी गई है। ऐसे में रेस्तरां मालिक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के फैसले से बहुत खुश हैं। रेस्तरां मालिक काफी लंबे समय से अपना कारोबार शुरू करने के लिए इस बारे में आधिकारिक सूचना का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

इस बारे में कोलकाता के पार्क स्ट्र्रीट इलाके के प्रसिद्ध पीटर कैट और मोकैम्बो रेस्तरां के मालिक नितिन कोठारी ने कहा कि वे सरकार के इस फैसले से खुश हैं और मोकैम्बो के परिसर को लोगों के लिए खोलने के लिए तैयार हैं, जहां से दोनों रेस्तरां को चलाया जा सकता है।

आगे कोठारी ने कहा, 'चूंकि तीन घंटे की अवधि थोड़ी छोटी है, इसलिए हमने केवल मोकैम्बो के परिसर को ही खोलने का फैसला किया है, जहां पीटर कैट और मोकैम्बो दोनों के अलग-अलग जायके वाली थाली एक ही छत के अलग-अलग जगह में परोसी जाएगी।'

इसके साथ ही राज्य सरकार के इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए होटल ऐंड रेस्तरां असोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया के अध्यक्ष सुदेश पोद्दार ने कहा, 'हम रेस्तरां और बार को तीन घंटे के लिए खोलने की अनुमति देने के सरकार के फैसले से खुश हैं। राज्य सरकार की ओर से इस संबंध में आधिकारिक सूचना जारी करने के बाद कोविड संबंधी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सभी रेस्तरां और बार 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोला जाएगा।'

इस फैसले को लेकर चौमन, अवध 1590 और चैप्टर 2 रेस्तरां श्रृंखलाओं के मालिक देबादित्य चौधरी ने कहा, ''यह खाद्य और पेय उद्योग के लिए एक बहुत ही अच्छी खबर है, लेकिन व्यक्तिगत रूप से मेरा मानना है कि बहुत अधिक बिक्री नहीं होगी क्योंकि रेस्तरां को शाम पांच बजे से रात आठ बजे तक ही खोलने की इजाजत होगी जोकि रात के खाने के लिए उपयुक्त समय नहीं है।'

फिलहाल यहां महामारी कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन 15 जून तक लागू रहेगा। वहीं उसके बाद ही रेस्तरां और बार को खोला जा सकेगा। ऐसे में सभी को 15 जून का इंतेजार है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story