×

BJP में शामिल होंगे मिथुन चक्रवर्ती, कभी बताते थे वामपंथी, ऐसा है सियासी सफर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात के बाद से मिथुन चक्रवर्ती के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई रही हैं, लेकिन अब साफ हो गया है कि वह आज बीजेपी में शामिल होंगे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 7 March 2021 7:02 AM GMT

BJP में शामिल होंगे मिथुन चक्रवर्ती, कभी बताते थे वामपंथी, ऐसा है सियासी सफर
X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोलकाता के ऐतिहासिक ब्रिगेड ग्राउंड में मेगा रैली के जरिए भाजपा के चुनाव अभियान को और धारदार बनाने की कोशिश करेंगे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोलकाता के ऐतिहासिक ब्रिगेड ग्राउंड में मेगा रैली के जरिए भाजपा के चुनाव अभियान को और धारदार बनाने की कोशिश करेंगे। इस दौरान मंच पर बंगाल के कई बड़े नेता मौजूद रहेंगे। कहा जा रहा इस दौरान हिंदी और बांग्ला फिल्मों के मशहूर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती बीजेपी में शामिल होंगे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात के बाद से मिथुन चक्रवर्ती के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई रही हैं, लेकिन अब साफ हो गया है कि वह आज बीजेपी में शामिल होंगे। पीएमो मोदी की रैली से पहले बंगाल बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजय वर्गीय ने मिथुन चक्रवर्ती से मुलाकात की है।

2011 में टीएमसी में हुए थे शामिल

मिथुन चक्रवर्ती का सियासी सफर ज्यादा बड़ा नहीं है। तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी ने 2011 में बंगाल की सत्ता संभालने के बाद मिथुन चक्रवर्ती को टीएमसी ने राज्यसभा से सांसद भी बनाया था, लेकिन उन्होंने 2016 के अंत में राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया और राजनीति से संन्यास ले लिया। दरअसल मिथुन चक्रवर्ती की राजनीति छोड़ने की अटकले तभी तेज हो गई थीं जब उनका नाम शारदा चिटफंड घोटाले में सामने आया था।

Mithun Chakraborty

ये भी पढ़ें...बंगाल में BJP के मुख्यमंत्री उम्मीदवार होंगे मिथुन? दिलीप घोष ने कही ये बड़ी बात

बता दें कि मिथुन चक्रवर्ती शारदा कंपनी में ब्रांड एंबेसडर थे। प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने इस मामले में मिथुन चक्रवर्ती से पूछताछ भी की थी। इन सभी घटनाओं के कुछ दिन बाद मिथुन चक्रवर्ती ने करीब एक करोड़ बीस लाख रुपये वापस कर दिए थे और कहा था कि वह किसी के साथ फर्जीवाड़ा नहीं करना चाहते।

ये भी पढ़ें...बंगाल चुनाव 2021ः BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की लिस्ट, जानें किसे मिला टिकट

बताते थे वामपंथी

इसके बाद से ही कहा जाने लगा था कि मिथुन चक्रवर्ती राजनीति छोड़ देंगे और अंततः उन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया। आखिरी एक साल में मिथुन राज्यसभा में भी बहुत कम ही देखे गए। मिथुन चक्रवर्ती के सियासी सफर की बात करें तो, जवानी के दिनों में वह लेफ्ट से जुड़े हुए थे। मिथुन चक्रवर्ती ने कई बार खुद को वामपंथी भी बताया।

ये भी पढ़ें...बंगाल: सेलिब्रिटीज को राजनीति में लाने का ट्रेंड कब और किसने शुरू किया था, यहां जानें

कहा जाता है कि मिथुन पश्चिम बंगाल में खेल मंत्री और वरिष्ठ वामपंथी नेता सुभाष चक्रवर्ती के काफी करीबी भी थे। ममता बनर्जी के आमंत्रण पर मिथुन ने तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे, तो कई लोग हैरान रह गए थे। अब उनके बीजेपी में जाने के कयास से लगे रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story