Top

बंगाल में गरजे राजनाथ सिंह, कहा- हम बंगाल को न बंटने देंगे न टूटने देंगे

राजनाथ सिंह ने कहा कि कहा कि हम बंगाल को न बंटने देंगे न टूटने देंगे। हम ‘सोनार बांग्ला’ के सपने को साकार करेंगे।

Dharmendra Singh

Dharmendra SinghBy Dharmendra Singh

Published on 13 April 2021 11:17 AM GMT

राजनाथ सिंह
X

बंगाल में चुनावी जनसभा को संबोधित करते राजनाथ सिंह (फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता: पश्चिम बंगाल का जंग जीतने के लिए बीजेपी कोई कसर नहीं छोड़ रही। 17 अप्रैल को होने वाले पांचवें चरण के चुनाव से पहले पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। इसी क्रम में मंगलवार को बीजेपी के दिग्गज नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पश्चिम बंगाल के करीमपुर और स्वरूपनगर में चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान राजनाथ सिंह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि हम बंगाल को न बंटने देंगे न टूटने देंगे। हम 'सोनार बांग्ला' के सपने को साकार करेंगे।

करीमपुर में लोगों को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि अब तो ममता दी ने मान लिया है कि भाजपा आ रही है और टीएमसी जा रही है। उन्होंने कहा कि क़ानून एवं व्यवस्था राज्य सरकार की ज़िम्मेदारी होती है। राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या हो रही है। हमारी सरकार बनने पर हम इस तरह की हिंसा पर रोक लगाएँगे और हर पार्टी के राजनीतिक कार्यकर्ता एवं सामान्य जनता यहाँ पर पूरी तरह सुरक्षित महसूस करेंगे।
रक्षा मंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस द्वारा ध्रुवीकरण की राजनीति करने की कोशिश की जा रही है, तुष्टिकरण की राजनीति की कोशिश हो रही है। समाज को बाँट कर विकास नहीं किया जा सकता। हम भाजपा के लोग इंसाफ़ और इंसानियत की राजनीति में विश्वास रखते हैं। जिस दिन भाजपा पश्चिम बंगाल में जीत जाएगी उसी दिन यहाँ पर कट मनी और तोलाबाज़ी का सिलसिला समाप्त हो जाएगा।


टीएमसी के नेताओं ने एससी, एसटी, ओबीसी का अपमान किया

राजनाथ सिंह ने कहा कि यहां पश्चिम बंगाल में टीएमसी के नेताओं ने एससी, एसटी, ओबीसी के लोगों का अपमान किया है। उन्हें जिन लोगों ने अपने शासनकाल में गरीब बनाए रखा वे उनका अब अपमान कर रहे हैं। जब शेष भारत 'नवीन शताब्दी' में जी रहा है तो पश्चिम बंगाल 'उन्नीसवीं शताब्दी' में जीने को क्यों मजबूर है। आजादी के 75 साल पूरे होने जा रहे हैं मगर पश्चिम बंगाल में हालात बद से बदतर हो रहे हैं। सरकार बनने पर हम बंगाल में महिलाओं को सरकारी नौकरियों में ३३ फ़ीसदी आरक्षण देंगे। महिलाओं का मुफ़्त इलाज किया जाएगा।
इसके बाद स्वरूपनगर में जनसभा को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि चाहे तृणमूल की सरकार हो या फिर वामपंथी दलों की सरकार रही हो पश्चिम बंगाल का विकास नहीं हुआ है। ममता दी कहती हैं कि मायनॉरिटी के लोगों एकजुट हो जाओ। जिस बंगाल में सुभाष चंद्र बोस जैसे नेताओं ने देश की एकता के लिए काम किया वहां की मुख्यमंत्री कहती हैं कि अल्पसंख्यकों एकजुट हो जाओ। क्या ऐसा कहना किसी राजनेता को शोभा देता है। तृणमूल के लोग समाज को तोड़ देना चाहती है।


भारतीय सेनाओं ने भारत का मस्तक नहीं झुकने दिया

उन्होंने कहा कि जयश्रीराम अभिवादन का तरीक़ा है मगर तृणमूल को इससे भी नाराज़गी है। ममतादी आपकी पार्टी ने इस बंगाल की धरती को छला है। यह चैतन्य महाप्रभु और महर्षि अरविंद की धरती है। भारतीय सेनाओं ने भारत का मस्तक नहीं झुकने दिया है। उन्होंने पराक्रम, शौर्य और संयम से काम लिया है। हर बात के लिए ममतादी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोष देती हैं। बांग्ला में कहावत है 'जोतो दोष, नंदो घोष'। अब ममतादी चुनाव आयोग को भी दोष दे रही हैं। किसी को तो छोड़ दीजिए।
राजनाथ सिंह ने कहा कि जब केंद्र में UPA की सरकार थी तो 13th Finance Commission के अंतर्गत केवल 1 लाख 32 हजार करोड़ रुपए पश्चिम बंगाल को मिले थे जबकि मोदीजी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पश्चिम बंगाल को 14th Finance Commission के अंतर्गत 4 लाख 48 हजार करोड़ रुपए दिए गए। हमने कोई भेदभाव नहीं किया। हम बंगाल को न बंटने देंगे न टूटने देंगे। हम 'सोनार बांग्ला' के सपने को साकार करेंगे।



Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story