×

West Bengal: पश्चिम बंगाल में बीजेपी को जोर का झटका, सांसद अर्जुन सिंह TMC में शामिल

West Bengal: बैरकपुर से लोकसभा सांसद उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के बाद वो बीजेपी के दूसरे सांसद हैं, जिन्होंने पार्टी छोड़ी है।

Krishna Chaudhary
Updated on: 2022-05-22T17:52:50+05:30
BJP MP Arjun Singh joins Trinamool Congress
X

बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

West Bengal: पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है। विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद से पार्टी से दिग्गज नेताओं का पलायन जारी है। इसी क्रम में रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने भगवा दल में एक और बड़ी सेंध लगा दी है। बैरकपुर से लोकसभा सांसद और बीजेपी के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह (BJP Vice President Arjun Singh) तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) का दामन थाम लिया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Former Union Minister Babul Supriyo) के बाद वो बीजेपी के दूसरे सांसद हैं, जिन्होंने पार्टी छोड़ी है।

रविवार को सिंह ने सीएम ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी महासचिव अभिषेक बनर्जी से कोलकाता में मुलाकात की। इसके बाद वह टीएमसी में वापस लौट आए। अर्जुन सिंह 2019 के लोकसभा चुनाव से ऐन पहले टीएमसी को छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे और पार्टी ने उन्हें बैरकपुर से चुनाव भी लड़वाया था। उस दौरान बीजेपी में उन्हें शामिल करने को लेकर बवाल भी हुआ था।

आंतरिक कलह और जूट नीति के कारण नाराज थे सिंह

बैरकपुर सांसद अर्जुन सिंह बीते कुछ दिनों से लगातार बीजेपी की बंगाल ईकाई पर निशाना साध रहे थे। उन्होंने कई महीनों से पार्टी के बैठकों से दूरी बना रखी थी। हाल ही में दिल्ली जाकर उन्होंने बीजेपी के शीर्ष पदाधिकारियों से मुलाकात कर राज्य में चल रही अंदरूनी खींचतान से अवगत कराया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि पार्टी का उपाध्यक्ष होने के बावजूद उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है।

सिंह की दूसरी सबसे बड़ी नाराजगी केंद्र सरकार की जूट उत्पादन नीति को लेकर थी। वह कई बार सार्वजनिक रूप से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की जूट उत्पादन नीतियों को लेकर आलोचना कर चुके हैं। उन्होंने समस्या का समाधान न होने पर विरोध प्रदर्शन की चेतावनी भी दी थी।

मनाने की असफल कोशिश

कभी टीएमसी के दिग्गज नेता रहे अर्जुन सिंह पश्चिम बंगाल में बीजेपी के बड़े नेताओं में शामिल हो गए थे। उन्होंने कभी अपने सियासी गुरू रहे पूर्व केंद्रीय रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी को बीते लोकसभा चुनाव में हराया था। जो विधानसभा चुनाव से ऐन पहले टीएमसी छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे। उन्हें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का करीबी भी माना जाता था। बताया जा रहा है कि उनके पार्टी छोड़ने के फैसले की भनक लगते ही आलाकमान उन्हें मनाने में लग गया था, लेकिन वो असफल रहे। टीएमसी सूत्रों के मुताबिक, सिंह बीते छह माह से ममता बनर्जी के संपर्क में थे।

अमित शाह के दौरे के बाद लगाई सेंध

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद से लगातार राज्य में बीजेपी को कमजोर करने में जुटी हुई हैं। बाबूल सुप्रीयो जैसे बीजेपी के बड़े चेहरे को अपने पाले में लाने के बाद ममता ने कंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के महज कुछ दिन बाद ही एक और बीजेपी सांसद को तोड़कर बीजेपी नेतृत्व को बड़ा सियासी संदेश देने की कोशिश की है। बता दें कि टीएमसी ने हाल ही में आसनसोल लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत हासिल कर बीजेपी से यह सीट छिन ली थी।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story