Top

बंगाल में बढ़ेगी सियासी तपिश, योगी के बाद पीएम मोदी साधेंगे चुनावी समीकरण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने बंगाल दौरे में मंगलवार को मालदा में चुनावी सभा करेंगे। सीएम योगी का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि मालदा मुस्लिम बहुल इलाका है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 2 March 2021 5:02 AM GMT

बंगाल में बढ़ेगी सियासी तपिश, योगी के बाद पीएम मोदी साधेंगे चुनावी समीकरण
X
मिथुन दा पहले ऐसे शख्स नहीं है जो टीएमसी छोडकर बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं। बल्कि उनसे पहले भी टीएमसी के कई बड़े नेता बीजेपी का दामन थाम चुके हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने सबसे ज्यादा ताकत पश्चिम बंगाल में लगा रखी है। मंगलवार को राज्य की सियासी तपिश और तेज हो जाएगी क्योंकि भाजपा के फायर ब्रांड नेता और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चुनाव प्रचार के लिए बंगाल दौरे पर पहुंचेंगे।

योगी के इस दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी बंगाल दौरे का कार्यक्रम तय किया गया है। पीएम मोदी 7 मार्च को कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में बड़ी रैली के जरिए चुनावी समीकरण साधने की कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़ें:लखनऊ में धारा 144ः 5 अप्रैल तक राजधानी में लगे ये प्रतिबंध, जानें क्या है वजह

योगी की चुनावी सभा मालदा में

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने बंगाल दौरे में मंगलवार को मालदा में चुनावी सभा करेंगे। सीएम योगी का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि मालदा मुस्लिम बहुल इलाका है। भाजपा ने काफी सोच समझकर योगी के इस दौरे का कार्यक्रम तय किया है। सियासी हलकों में योगी को हिंदुत्व का बड़ा प्रतीक माना जाता रहा है। ऐसे में जानकारों का मानना है कि योगी की चुनावी रैली से ध्रुवीकरण का बड़ा असर दिख सकता है।

cm-yogi cm-yogi (PC: social media)

रोड शो में भी दिखाएंगे ताकत

पश्चिम बंगाल में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद भाजपा की ओर से आयोजित की जाने वाली यह पहली बड़ी रैली होगी। मालदा में योगी के दौरे का कार्यक्रम तय करने के साथ भाजपा नेतृत्व में पश्चिम बंगाल में आक्रामक रणनीति अपनाने का साफ संकेत दे दिया है।

मालदा में योगी की रैली दोपहर दो बजे होगी। इससे पहले योगी पश्चिम बंगाल में निकाली जा रही परिवर्तन यात्रा के साथ रोड शो में भी शक्ति प्रदर्शन करेंगे।

मुस्लिम बहुल इलाका है मालदा

मालदा में योगी की चुनावी सभा को इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि बांग्लादेश से सटे जिले में करीब 50 फ़ीसदी मतदाता मुस्लिम हैं। इस जिले में विधानसभा की 12 सीटें हैं। जानकारों का कहना है कि मालदा में योगी की जनसभा के जरिए भाजपा हिंदू मतों के ध्रुवीकरण की कोशिश में जुटी हुई है और उसे इस काम में कामयाबी भी मिल सकती है।

पीएम मोदी की चुनावी सभा 7 को

योगी की रैली के बाद भाजपा की ओर से 7 मार्च को मेगा शो करने की भी तैयारी है। इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में बड़ी चुनावी सभा का आयोजन किया गया है। पीएम मोदी इससे पहले हुगली में चुनावी सभा को संबोधित कर चुके हैं। इस चुनावी सभा में उन्होंने ममता बनर्जी पर जोरदार हमला किया था। कोलकाता में होने वाली पीएम मोदी की रैली को सफल बनाने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। भाजपा इस रैली के जरिए पूरे राज्य में अपना संदेश पहुंचाने में जुटी हुई है।

भाजपा की ताकत दिखाने की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक भाजपा की ओर से ब्रिगेड ग्राउंड में करीब दस लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य तय किया गया है। भाजपा की ओर से इस रैली को सफल बनाने के लिए डोर टू डोर अभियान चलाया जा रहा है। बंगाल भाजपा के राज्य स्तरीय नेता भी रैली को कामयाब बनाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि पार्टी को राज्य में हर वर्ग का समर्थन मिल रहा है और प्रधानमंत्री की रैली निश्चित रूप से कामयाब होगी।

BJP-TMC cm-yogi (PC: social media)

चुनाव कार्यक्रम से ममता नाराज

चुनाव आयोग की ओर से पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान का कार्यक्रम तय किया गया है। हालांकि तृणमूल कांग्रेस के नेता 8 चरणों में मतदान के कार्यक्रम से काफी नाराज हैं और ममता बनर्जी ने इसे लेकर चुनाव आयोग पर हमला भी बोला था।

ये भी पढ़ें:BJP सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का निधन, जनवरी में हुए थे कोरोना संक्रमित

उन्होंने आरोप लगाया था कि भाजपा के कहने पर इतनी लंबी चुनाव प्रक्रिया तय की गई है। दूसरी ओर भाजपा ने चुनाव आयोग की ओर से घोषित किए गए कार्यक्रम का स्वागत किया है। पार्टी का कहना है कि राज्य में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव के लिए यह कदम उठाना जरूरी था।

रिपोर्ट- अंशुमान तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story