दरिंदगी की हदें पार: दिव्यांग लड़की से गैंगरेप के बाद फोड़ दी आंखें, हालत नाजुक

मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में हैवानियत की हद पार करते हुए दुष्कर्मियों ने एक 17 साल की गूंगी नाबालिग लड़की के साथ कुकृत्य को अंजाम दे डाला। इतना ही नहीं इन दरिंदो ने अपनी पहचान छिपाने के लिए लड़की की आंखें तक फोड़ दी।

rape

File Photo

पटना: बिहार के मधुबनी जिले में इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में हैवानियत की हद पार करते हुए दुष्कर्मियों ने एक 17 साल की गूंगी नाबालिग लड़की के साथ कुकृत्य को अंजाम दे डाला। इतना ही नहीं इन दरिंदो ने अपनी पहचान छिपाने के लिए लड़की की आंखें तक फोड़ दी।

पहचान के डर से फोड़ी आंखेंं

बताया जा रहा है कि लड़की चारा लेने गई थी जहां कुछ लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद पहचान छिपाने के लिए दरिंदो ने उसकी आंखों को निर्दयता से लकड़ी का टुकड़ा घुसाकर फोड़ दिया और उसे मरने के लिए फेंककर फरार हो गए। किशोरी को दरभंगा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।

ये भी पढ़ें: कातिल प्रेमिका का कांड: लड़के को बेवफाई करना पड़ा भारी, सरेआम दी ऐसी मौत

बकरियों के लिए चारा लेने गयी थी

पीड़िता के परिजनों के मुताबिक, बिहार बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रही किशोरी बोलने और सुनने में अक्षम है। वह खेत में बकरी के लिए पत्ता तोड़ने गई थी। वहां पहले से मौजूद युवक ने गेहूं के खेत में उसके साथ दुष्कर्म किया। काफी देर तक लड़की के नहीं लौटने पर तलाश में निकले परिजनों को वह एक बगीचे में लहूलुहान हालत में पूरी तरह नग्न अवस्था में बेहोश मिली।

लड़की की हालत नाजुक

लड़की के परिजनों ने उसे तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां डॉक्टर ने उसका उपचार किया और हालत गंभीर देखकर मधुबनी सदर अस्पताल भेज दिया। मधुबनी सदर अस्पताल से किशोरी को दरभंगा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। डॉक्टरों ने बताया कि लड़की की एक आंख लकड़ी घुसाकर पूरी तरह फोड़ दी गई हैं, जबकि दूसरी की भी रोशनी चले जाने का खतरा है। इसके अलावा उसके चेहरे पर भी गंभीर घाव बन गए हैं।

ये भी पढ़ें: पत्नी निकली खूंखार कातिल: पति को जिंदा जला दिया, वारदात से मची सनसनी

पुलिस ने आरोपित को किया गिरफ्तार!

घटना के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। हरलाखी थानाध्यक्ष ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान लक्ष्मी मुखिया के तौर पर की गई है। किशोरी के परिजनों ने उसे घटना के समय नदी की तरफ से आते हुए देखा था और उसके शरीर व कपड़ों पर मिट्टी और गेहूं के खेत की घास लगी हुई थी। आगे उन्होंने बताया कि घटना की जांच की जा रही है और पकड़े गए युवक से अन्य आरोपियों के नाम पूछे जा रहे हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App