×

राहुल -मोदी आमने-सामने: बिहार रैलियों में जमकर उठाए ये मुद्दे, हुई ताबड़तोड़ सभाएं

बिहार विधानसभा के चुनाव के लिए जहां एनडीए गठबन्धन की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विपक्षी दलों पर हमला कर एक बार फिर बिहार में नीतिश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनाने की बात कह रहे हैं।

Newstrack
Updated on: 23 Oct 2020 10:26 AM GMT
राहुल -मोदी आमने-सामने: बिहार रैलियों में जमकर उठाए ये मुद्दे, हुई ताबड़तोड़ सभाएं
X
राहुल -मोदी आमने-सामने: बिहार रैलियों में जमकर उठाए ये मुद्दे, हुई ताबड़तोड़ सभाएं (Photo by social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: इन दिनों बिहार विधानसभा के चुनाव के लिए जहां एनडीए गठबन्धन की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विपक्षी दलों पर हमला कर एक बार फिर बिहार में नीतिश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनाने की बात कह रहे हैं। वहीं कांग्रेस के नेता राहुल गांधी भी अपने चुनाव प्रचार में 15 साल पुरानी नीतिश सरकार को हटाने की बात कर रहे हैं। मोदी जहां एनडीए के लिए तीन रैली को संबधित किया। वहीं राहुल गांधी महागठबंधन के लिए तेजस्वी यादव के साथ दो रैली में शामिल हुए।

ये भी पढ़ें:PM मोदी का भाषण सुन भावुक हुए चिराग, कहा- पापा के प्रति सम्मान अच्छा लगा

आइए इन दोनों नेताओं की जनसभाओं के इन दस बिन्दुओं पर चर्चा करते हैं

मोदी ने क्या कहा

1-370 का फैसला हमने लिया, एनडीए की सरकार ने लिया लेकिन आज ये लोग इस फैसले को पलटने की बात कर रहे हैं। ये कह रहे हैं कि सत्ता में आए तो आर्टिकल-370 फिर लागू कर देंगे।

2-90 के दशक में बिहार के लोगों का अहित किया गया, बिहार को अराजकता और अव्यवस्था के किस दलदल में धकेल दिया ये आप में से अधिकांश ने अनुभव किया है। आज भी बिहार की अनेक समस्याओं की जड़ में अव्यवस्था और कुशासन है।

3-ये वो दौर था जब बिजली संपन्न परिवारों के घर में होती थी, गरीब का घर दीए और ढिबरी के भरोसे रहता था। आज के बिहार में लालटेन की जरूरत खत्म हो गई है। आज बिहार के हर गरीब के घर में बिजली का कनेक्शन है, उजाला है।

4-बिहार ने वो समय भी देखा है, जब यहां के बच्चे छोटे-छोटे स्कूलों के लिए तरस जाते थे। एनडीए का संकल्प है बिहार को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाना।

5-बिहार के विकास की हर योजना को अटकाने और लटकाने वाले ये लोग हैं जिन्होंने अपने 15 साल के शासन में लगातार बिहार को लूटा।

6-जब बिहार के लोगों ने इन्हें सत्ता से बेदखल कर दिया, नीतीश कुमार को मौका दिया तो ये बौखला गए। इसके बाद दस साल तक इन लोगों ने यूपीए की सरकार में रहते हुए बिहार पर, बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला।

7-एनडीए के विरोधी दल किसानों को नए बिल को लेकर भड़का रहे हैं। सरकारी खरीद पर एनडीए ने जोर दिया है। पशुपालकों और मछली पालकों के लिए पहली बार कार्यक्रम बनाये गए। इंसानों की तरह गौ और पशुपालकों को नंबर दिए गए हैं। इन सुविधाओं के लिए मोबाइल ऐप बनाया गया है।

8-राष्ट्रहित में किए गए फैसलों का विरोध करते हैं विपक्ष में बैठे लोग। तीन तलाक, आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई, राम मंदिर, कश्मीर से धारा 370 हटाने की बात पर हमेशा विरोध करने वाले लोग बिहार को विकास नहीं बर्बाद करना चाहते हैं।

9-गरीब को अब कार्यालय का चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ती। मोबाइल में सारी सुविधाएं उपलब्ध है। एनडीए के नेता सेवक के रूप में काम कर रहे हैं, शासक के रूप में नहीं।

10-बिहार अब विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है, अब बिहार को कोई बीमारू, बेबस राज्य नहीं कह सकता। लालटेन का जमाना गया। बिहार के लोगों ने मन बना लिया है, ठान लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं फटकने देंगे।

bihar-elections bihar-elections (Photo by social media)

राहुल गांधी ने क्या कहा

1- चीन की सेना ने हमारे 20 सैनिकों को शहीद किया और हमारी 1200 किलोमीटर जमीन ली है। जब चीन हमारी जमीन के अंदर आया तो हमारे च्ड ने वीरों का अपमान करते हुए ये क्यों बोला कि हिन्दुस्तान के अंदर कोई नहीं आया? आज कहते हैं कि मैं सिर झुकाता हूं।

2- जब बिहार के युवा सैनिक शहीद हुए उस दिन पीएम ने क्या किया? प्रधानमंत्री ने सेना का अपमान किया। उन्होंने पूछा कि पीएम ये बताइए कि चाइना को हिंदुस्तान से कब बाहर करेंगे?

3- राहुल ने जनता से पूछा कि बताइए नोटबंदी का आपको क्या फायदा हुआ? उन्होंने कहा कि गरीब का पैसा हिंदुस्तान के अमीरों के खाते में भेजा गया। उन्होंने कहा कि अंबानी और अडानी के लिए नरेंद्र मोदी रास्ता साफ कर रहे हैं। आने वाले समय में हिंदुस्तान के पूंजीपतियों के पास गरीबों के पैसे होंगे।

4- कोरोना हुआ तो नीतीश जी ने दूसरे प्रदेशों में रह रहे राज्य के लोगों को भगाकर बिहार भेजा। जब लोग भूखे थे तो नरेंद्र मोदी ने क्या मजदूरों की मदद की? भूखे हो तो क्या हुआ, प्यासे हो तो क्या हुआ, कुछ भी हो जाए उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता।

5- पीएम मोदी जहां भी जाते हैं आपसे झूठ बोलते हैं। एयरपोर्ट, रेलवे लाइन, आपके खेत, माइंस जो भी पूजिपतियों को चाहिए उनको दिया जाता है। अब आपके हाथ में चाभी है।

6- जो निर्णय आप लोगे वो बिहार में होने जा रहा है। अब इनको हराना है। बिहार के लिए, बिहार केविकास के लिए अब बिहार में मजदूरों और किसानों की सरकार लानी है।

7- राहुल गांधी ने कहा कि आपका पैसा छीना और बड़े लोगों का कर्जा माफ किया। हमारी सरकार ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्जा माफ किया।

ये भी पढ़ें:भूंकप लाएगा तबाही: भयानक मंजर होगा दिल्ली का, बड़े झटकों से थर्राएगा देश

8- जीएसटी लागू कर छोटे व्यापारियों का व्यापार खत्म कर दिया। आप समझिए कि अंबानी और अडानी के लिए रास्ता साफ किया जा रहा है। आने वाले समय में आपके खेत आपसे छीन लिए जाएंगे और दो-तीन पूंजिपतियों के हाथ में चला जाएगा।

9- राहुल गांधी ने पीएम पर निशाना हुए कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि मैं सिर झुकाता हूं लेकिन उन्होंने हिंदुस्तान की सेना का अपमान किया। उन्होंने झूठ बोला कि चाइना का सैनिक देश के अंदर नहीं आए।

10- गरीब का पैसा हिंदुस्तान के अमीरों के खाते में गया और अंबानी एवं अडानी के लिए नरेंद्र मोदी रास्ता साफ कर रहे हैं।

श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story