×

Bihar News: बिहार के सारण में जहरीली शराब से 11 की मौत 23 की हालत गंभीर, आंख की रोशनी भी गई

Bihar News: बिहार के सारण के मकेर में 9 लोगों की मौत गई, 23 लोगों की हालत गंभीर है। अभी का पटना के पीएमसीएच में इलाज चल रहा है। परिजनों का कहना है कि इलाज करवा रहे बीमार लोगों में 14 की आंख की रोशनी भी चली गई है।

Network
Report Network
Updated on: 2022-08-05T14:27:29+05:30
Bihar News
X

जहरीली शराब पीने से मरे लोगों रोते परिजन (साभार सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Bihar News: सारण के मकेर में 11 लोगों की मौत गई, 23 लोगों की हालत गंभीर है। पटना के पीएमसीएच में इनका इलाज चल रहा है। परिजनों का कहना है कि इलाज करवा रहे बीमार लोगों में 14 की आंख की रोशनी भी चली गई। परिजनों का दावा है, कि सभी की मौतें जहरीली शराब पीने से हुई। इनका कहना है कि बुधवार रात और गुरुवार सुबह भाथा गांव में जहरीली शराब पी थी। दोपहर में ही तबीयत बिगड़े लगी। चंदन महतो और कमल महतो की मौत हो गई। इसके बाद अन्य को छपरा सदर अस्पताल भर्ती करवाया गया।

यहां से उन्हें पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। यहां 7 लोगों की मौत हो गई। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। उत्पाद विभाग की टीम और सारण डीएम और एसपी घटनास्थल पर पहुंचे। शराब पीने वाले की निशानदेही पर पुलिस ने भेल्दी थाना क्षेत्र के सोनहो भाथा निवासी विश्वकर्मा महतो को गिरफ्तार कर लिया गया। कुछ संदिग्ध लोगों को पुलिस उठाकर पूछताछ कर रही है। सारण जिले के डीएम ने शुक्रवार दोपहर 11 मौतों की पुष्टि की है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट बाद होगा क्लियर

सारण जिला के जिलाधिकारी राजेश मीणा ने कहा कि ग्रामीणों के अनुसार जहरीली शराब पीने से लगभग तीन दर्जन लोग बीमार हुए है। मेडिकल टीम से जांच कर बेहतर उपचार के लिए छपरा भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि मौत कैसे हुई है? जांच के आदेश दिए गए हैं। वहीं एसपी संतोष कुमार ने कहा कि प्रथम दृश्यया से प्रतीत हो रहा है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। तस्करों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

मरने वालों में मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोला निवासी कमल महतो, भेल्दी थाना क्षेत्र के सोनहो भाथा निवासी चंदन महतो की पहले जान गई। पटना रेफर करने के बाद ओम नाथ महतो, चंदेश्वर महतो, राज नाथ महतो, धनी लाल महतो, सकलदीप महतो की मौत ही गई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि जिन 14 लोगों की आंख की रोशनी गई है वे चिख-चिखकर बोल रहे है कि हमें नहीं पता था कि जहरीली शराब पी रहे है?

जहरीली शराब ने गई आंख की रोशनी

हर रोज पीते थे। मगर बीमार नहीं पड़े थे। पीने के बाद घर जाने के बाद उल्टियां होने लगी और आंख से कम दिखने लगी। फिर कुछ ज्यादा तबीयत बिगड़ गई। स्थानीय लोगों का कहना है कि इलाके में जहरीली शराब बेची जा रही है। कई मौतें पहले भी हो चुकी है। लेकिन प्रशासन अब नहीं संज्ञान ले रहा है। जहरीली शराब बेचने वालों को फांसी की सजा देनी चाहिए।

स्थानीय लोगों का कहना है कि मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोला निवासी जग लाल महतो,भोली महतो ,राम नाथ महतो,देव नाथ महतो , ओम नाथ महतो, सकलदीप महतो, प्रेम महतो, राज कुमार महतो, कामेश्वर महतो, राजा राम महतो अखिलेश महतो, राज कुमार महतो, गुड्डू महतो, बुन्नी लाल महतो, ज्ञानचंद महतो, हरि लाल महतो, गुड्डू महतो ,चंदेश्वर महतो की आंखों की रोशनी चली गई।

मृतकों के नाम :

चन्दन महतो (28वर्ष) पिता पारस महतो ,

कमल महतो(45वर्ष) पिता स्व कांशी महतो

ओमनाथ महतो (28वर्ष)पिता भरोसा महतो

चंदेश्वर महतो (60वर्ष) पिता बिलास महतो

राजनाथ महतो (45 वर्ष)पिता पोषण महतो

शकलदीप महतो (50वर्ष) पिता भरोसा महतो

धनिलाल महतो (55वर्ष) पिता बिगन महतो

चंदेश्वर महतो (60वर्ष) पिता रामायण महतो

विश्वनाथ महतो(65वर्ष) पिता अंजोर महतो

लखन महतो (45वर्ष) पिता जगदीश महतो

कामेश्वर महतो (40 वर्ष) पिता जगदीश महतो

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story