Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

नीतीश कैबिनेट का विस्तार जल्द, भाजपा और जदयू के बीच बनी सहमति

बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल की रविवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लंबी बातचीत हुई है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई इस मुलाकात के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी मौजूद थे।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 18 Jan 2021 6:20 AM GMT

नीतीश कैबिनेट का विस्तार जल्द, भाजपा और जदयू के बीच बनी सहमति
X
नीतीश कैबिनेट का विस्तार जल्द, भाजपा और जदयू के बीच बनी सहमति (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार जल्द ही अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं। बिगड़ती कानून व्यवस्था की चुनौतियों से जूझ रहे नीतीश कुमार की इस बाबत भाजपा नेताओं से चर्चा हुई है। इस चर्चा के बाद सियासी हलकों में कयास लगाया जा रहा है कि नीतीश मंत्रिमंडल के बहुप्रतीक्षित विस्तार पर एनडीए के दो बड़े घटक दलों भाजपा और जदयू के बीच सहमति बन गई है।

ये भी पढ़ें:अदाणी समूह द्वारा संचालित तीन हवाई अड्डों को मिला सम्मान, ये है बड़ी वजह

पिछले दिनों नीतीश ने मंत्रिमंडल का विस्तार न कर पाने पर इशारों में भाजपा को जिम्मेदार ठहराया था। राज्य के कई मंत्रियों पर काम का ज्यादा बोझ होने के कारण नीतीश जल्द से जल्द मंत्रिमंडल का विस्तार करना चाहते हैं। भाजपा नेताओं की रजामंदी के बाद माना जा रहा है कि अब वे जल्द ही इस दिशा में कदम उठाएंगे।

बिहार भाजपा अध्यक्ष से नीतीश की चर्चा

बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल की रविवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लंबी बातचीत हुई है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई इस मुलाकात के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी मौजूद थे।

सूत्रों का कहना है कि इस मुलाकात के दौरान मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा हुई है। भाजपा नेताओं और नीतीश कुमार की बातचीत में राज्य विधानपरिषद की दो सीटों पर होने वाले चुनाव और मंत्रियों पर काम का बोझ घटाने पर भी चर्चा हुई।

Bihar-Vidhansabha Bihar-Vidhansabha (PC: social media)

मंत्रिमंडल विस्तार पर बनी सहमति

मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने इसे औपचारिक मुलाकात बताया। मीडिया की ओर से मंत्रिमंडल विस्तार के संबंध में पूछे जाने पर भाजपा अध्यक्ष ने सोमवार तक इंतजार करने को कहा। सियासी जानकारों का कहना है कि भाजपा नेता के जवाब से स्पष्ट है कि एनडीए के दोनों बड़े घटक दलों भाजपा और जदयू के बीच मंत्रिमंडल विस्तार पर सहमति बन गई है।

राज्य में बढ़ते अपराधों पर भी चर्चा

जानकार सूत्रों के मुताबिक राज्य में अपराध की बढ़ती घटनाओं को लेकर विपक्ष के हमले पर भी बातचीत में चर्चा की गई। हाल के दिनों में खास तौर पर मुख्य विपक्षी दल राजद ने अपराध की बढ़ती घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले तेज कर दिए हैं।

तेजस्वी का नीतीश पर बड़ा हमला

विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने साफ तौर पर कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब थक चुके हैं और उनसे बिहार नहीं संभल रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में नीतीश कुमार को खुद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

तेजस्वी यादव ने कहा कि पुलिस अभी तक इंडिगो के मैनेजर रूपेश के हत्यारों को नहीं पकड़ सकी है। उन्होंने रविवार को रूपेश के परिजनों से मुलाकात की और सरकार से रूपेश की पत्नी को सरकारी नौकरी देने और उनके बच्चों की पढ़ाई लिखाई का प्रबंध करने की मांग की।

रूपेश हत्याकांड के कारण इन दिनों बिहार का सियासी माहौल गरमाया हुआ है। जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव ने भी इसे लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोला है।

शाह के मनाने पर माने सहनी

इस बीच एनडीए की एक बड़ी दिक्कत तब दूर हो गई जब विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी विधानपरिषद की सीट के लिए नामांकन करने को तैयार हो गए। पहले डेढ़ वर्ष के छोटे कार्यकाल का मुद्दा उठाकर सहनी नामांकन से बच रहे थे।

बाद में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बातचीत के बाद सहनी विधानपरिषद चुनाव के लिए नामांकन को तैयार हो गए।

पहले छोटे कार्यकाल पर था एतराज

बिहार विधान परिषद की दो सीटें हाल ही में रिक्त हुई थीं। इन सीटों के लिए भाजपा हाईकमान की ओर से पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन और वीआईपी अध्यक्ष मुकेश सहनी के नाम को मंजूरी दी गई थी।

सहनी को डेढ़ वर्ष के कार्यकाल वाली सीट पर सख्त एतराज था। रविवार की दोपहर सहनी इस मसले पर कुछ भी बोलने से कतरा रहे थे मगर देर शाम उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह के प्रति आभार जताते हुए नामांकन करने का एलान किया।

ये भी पढ़ें:अहमदाबाद-वडोदरा एक्सप्रेस-वे पर कोहरे के कारण टकराईं 10 से ज्यादा गाड़ियां

सहनी गत विधानसभा चुनाव हार गए थे मगर इसके बावजूद नीतीश मंत्रिमंडल में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। उन्हें छह महीने के भीतर किसी न किसी सदन का सदस्य बनना जरूरी है।

रिपोर्ट- अंशुमान तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story