Top

Bihar News: टॉपर्स में सबसे ऊपर इंजीनियर ओम प्रकाश, इन उम्मीदवारों की मेहनत से चमकी किस्मत

बीपीएससी 64वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का फाइनल घोषित कर दिया गया है। ऐसे में बीपीएससी(BPSC) ने तमाम विभागों के लिए 1454 उम्मीदवारों का चयन किया गया है।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 8 Jun 2021 3:55 AM GMT

Bihar Public Service Commission BPSC 64th Combined Competitive Exam Final has been declared.
X

बिहार लोक सेवा आयोग (फोटो-सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार लोक सेवा आयोग(BPSC) बीपीएससी 64वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का फाइनल घोषित कर दिया गया है। ऐसे में बीपीएससी(BPSC) ने तमाम विभागों के लिए 1454 उम्मीदवारों का चयन किया गया है। जिसके चलते बीपीएससी 64वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा में ओम प्रकाश गुप्ता पहले टॉपर रहे हैं।

टॉप करने वाले उम्मीदवारों में विद्यासागर दूसरे और अनुराग तीसरे स्थान पर रहे। बता दें, परीक्षार्थी आयोग की आधिकारिक वेबसाइट www.bpsc.bih.nic.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकते हैं।

मेहनत के दम पर पूरी शानदार सफलता

इस बार राजधानी पटना के फतुहां में रहने वाले ओम प्रकाश गुप्ता ने सबको पछारते हुए बाजी मारते हुए BSPC टॉप किया है। जबकि आईआईटी रुड़की से बीटेक करने वाले इंजीनियर ओम प्रकाश ने बिना किसी कोचिंग किए ये शानदार सफलता हासिल की है।

फिर इनके बाद बीपीएससी 64वीं की परीक्षा में आनंद विशाल, शशांक बरनवाल, अजीत कुमार, आलोक कुमार निखिल कुमार, राघवेन्द्र मणि त्रिपाठी और दीपक कुमार टॉप 10 में रहे। दुख की बात ये है कि टॉप टेन में कोई महिला अभ्यर्थी स्थान नहीं बना सकी।

जिसके चलते टॉप करने के बाद ओम प्रकाश ने नए छात्रों को संदेश देते हुए कहा कि अगर आप मेहनत करते हैं तो कोई भी सफलता मिल जाती है। कठिन प्रयास करने वालों को ही सफलता मिलती है इसलिए सत्य पर रहकर हौसला बनाए रखिए।


ऐसे में बता दें, बीपीएससी ने 1465 खाली पदों में से 1454 उम्मीदवारों का रिजल्ट जारी किया है। जिसमें 11 पदों को अनारखित कोटे में रखा गया है। साथ ही मिली जानकारी के मुताबिक, बिहार प्रशासनिक सेवा में 28 उम्मीदवारों को चयन किया गया है। इसके अलावा बिहार पुलिस सेवा 40, बिहार वित्त सेवा 10, बिहार कारा सेवा 10, नियोजन पदाधिकारी के 13 समेत 1454 उम्मीदवारों को चुना गया है।

जानकारी देते हुए बता दें कि बीपीएससी के 24 विभागों में 1465 पदों के लिए 2018 में 4 लाख 71 हजार से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। प्रारंभिक परीक्षा में कुल 2 लाख 95 हजार 444 उम्मीदवार शामिल हुए। जिसमें से 19 हजार 19 उम्मीदवार सफल हुए।

आपको बता दें, 64वीं संयुक्त परीक्षा के लिए 18 हजार से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किया। जिसमें 15 हजार 841 परीक्षार्थी शामिल हुए। जिसमें 3 हजार 799 उम्मीदवारों को सफलता हासिल हुई। इसके बाद इंटरव्यू और डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन किया गया। इसके बाद अब बीपीएससी 64वीं का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया गया है।

इस बार बीपीएससी में दूसरी रैंक लाने वाले विद्या सागर 2020 में यूपीएससी में सफल हुए थे। उन्हें इंडियन रेलवे सर्विस कैडर आवंटित हुआ। लेकिन अभी वे अवकाश में दिल्ली में है। अपनी सफलता के बारे में विद्यासागर ने बताया कि वह हर दिन आठ घंटे पढ़ाई करते हैं। उनके पिता हरिनंदन यादव सुपौल में शिक्षक हैं, मां पावित्री देवी गृहिणी है। कहा कि बचपन से ही लोगों की सेवा करने का सपना है। यह साकार हो रहा है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story