Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

CM नीतीश ने ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का शुभारम्भ किया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Aug 2020 5:52 PM GMT

CM नीतीश ने ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का किया शुभारंभ
X
CM नीतीश ने ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का किया शुभारंभ
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का शुभारम्भ किया।

ये भी पढ़ें: काजी की लोगों से अपील, न निकालें ताजियों का जुलूस, सरकार के निर्देशों का करें पालन

मिलेगा ये फायदा

इस सुविधा के शुभारंभ से लोगों को आसानी से भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र उपलब्ध हो सकेगा साथ ही कहीं से भी लोग इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। इससे जहां भूमि विवादों की समस्या कम होगी वहीं सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने से भी लोगों को मुक्ति मिलेगी और घर बैठे प्रमाण-पत्र आसानी से मिल सकेगा।

ये भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट से बाबा रामदेव को बड़ी राहत, कोरोनिल ट्रेडमार्क के इस्तेमाल पर रोक नहीं

ये दिग्गज रहे उपस्थित

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, मुख्य सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, प्रधान सचिव कैबिनेट संजय कुमार, बिहार विकास मिशन के मिशन निदेशक विनय कुमार, योजना एवं विकास विभाग के सचिव मनीष कुमार वर्मा, सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह उपस्थित थे। जबकि वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं अधिकारीगण जुड़े हुये थे।

ये भी पढ़ें: अभिनंदन समारोह में बोलीं प्रो. निर्मला, शिक्षक का कोई वर्गीकरण नहीं होता

JEE-NEET का विरोध और तेज: शिक्षा मंत्री पर भड़के स्टूडेंट्स, दे डाली ये चुनौती

कोरोना काल में भर्ती इन बेसहारों को सहारे की दरकार, नहीं मालूम है नाम-पता

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story