Top

पप्पू यादव की गिरफ्तारी बिहार पुलिस के लिए बनी मुसीबत, पुलिस पर हमले के बाद बिगड़े हालात

पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी पुलिस के लिए मुसीबत बन गई है।पप्पू यादव के समर्थकों ने पुलिस काफिले पर हमला कर दिया।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkSumanPublished By Suman

Published on 12 May 2021 1:28 AM GMT

32 साल पुराने मामले में पप्पू यादव अरेस्ट
X

पप्पू यादव को ले जाती पुलिस की गाड़ी तस्वीर (साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: पूर्व सांसद व जाप प्रमुख पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट (Madhepura Court) ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा है। जन अधिकार पार्टी (JAP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ( National President) और पूर्व सांसद पप्पू यादव ( Former MP Pappu Yadav) की गिरफ्तारी बिहार पुलिस के लिए मुसीबत बन गई है। पप्पू यादव के समर्थकों ने पुलिस काफिले पर हमला कर दिया।समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प की खबर है।

खबरों के अनुसार बिहार के हाजीपुर में पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद भारी बवाल हो गया। पप्पू यादव को लेकर पटना से निकली मधेपुरा पुलिस को वैशाली में थोड़े विरोध का भी सामना करना पड़ा।

पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर भारी बवाल

हाजीपुर में NH पर पप्पू के समर्थक पहले से ही जमे हुए थे। पुलिस का काफिला आते देख सभी बीच सड़क पर खड़े हो गए। समर्थकों ने सड़क पर बैरिकेडिंग भी कर दी थी। कुछ उस गाड़ी पर चढ़ गए जिसमें पप्पू यादव बैठे गए। हालांकि काफिले के साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों ने पप्पू के समर्थकों को तुरंत ही हटा दिया। इस दौरान एक समर्थक ने मीडिया से कहा कि जिस सरकार को हमने अपने सेवा के लिए चुना है, वही सरकार ऐसे आदमी को गिरफ्तार करा रही है, जो वक्त पर हमारी मदद कर रहा है।

समर्थकों से घिरे पुलिस की गाड़ी में पप्पू यादव तस्वीर ( साभार-सोशल मीडिया)


पुलिस ने बहुत मुश्किल से पप्पू यादव को भीड़ से निकाल पाई। पप्पू यादव की गिरफ्तारी को लेकर उनके समर्थक जगह-जगह बवाल कर रहे हैं। उसके पप्पू यादव मधेपुरा पहुंच गए हैं और वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट के सामने पेश हुए हैं। पप्पू यादव ने अपनी तबियत का हवाला देते हुए जज से जेल न भेजने को गुहार लगाई। पप्पू यादव ने कहा कि उनकी तबियत खराब है, वो जेल जाने की स्थिति में नहीं हैं, उन्हें मेडिकल कॉलेज या जिला अस्पताल में भेज दिया जाए।लेकिन पप्पू यादव को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सुपौल के वीरपुर जेल भेजा गया है।

गिरफ्तारी का किया विरोध, लगाया आरोप

इससे पहले जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव को आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। पप्पू यादव ने खुद ट्वीट करके गिरफ्तार करने का आरोप लगाया। पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा था, 'कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं, PM साहब, CM साहब, दे दो फांसी, या, भेज दो जेल, झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं, लोगों को बचाऊंगा, बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा!'

पप्पू यादव की गिरफ्तारी का विरोध राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने भी किया है। पार्टी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने नीतीश कुमार की तुलना हिटलर से की और कहा कि सरकार के खिलाफ उठने वाली आवाजों को दबाने की कोशिश की जा रही है।

समर्थकों से घिरे पुलिस की गाड़ी में पप्पू यादव तस्वीर ( साभार-सोशल मीडिया)

इससे पहले पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रुडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस की पोल खुलने के बाद सारण के अमनौर में पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज किया गया था। फिलहाल पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद वहां पर तनाव की स्थिति बनी हुई है।

Suman

Suman

Next Story