Top

बिहार में 'महारानी' पर सियासी भिड़ंत, मां के बचाव में उतरीं लालू की बिटिया, सुशील मोदी को घेरा

Maharani Web Series: सुशील मोदी ने महारानी वेब सीरीज के बहाने लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी पर हमला बोला।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariChitra SinghPublished By Chitra Singh

Published on 7 Jun 2021 5:55 AM GMT

बिहार में महारानी पर सियासी भिड़ंत, मां के बचाव में उतरीं लालू की बिटिया, सुशील मोदी को घेरा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Maharani Web Series: बिहार की सियासत में इन दिनों महारानी वेब सीरीज (Maharani Web Series) काफी चर्चाओं में है। इस वेब सीरीज को लेकर अब सियासी भिड़ंत भी शुरू हो चुकी है। राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने इस वेब सीरीज के बहाने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) और राबड़ी देवी (Rabri Devi) पर हमला बोला, तो लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य (Lalu Prasad's daughter Rohini Acharya) मैदान में उतार आईं और तीखी प्रतिक्रिया जताई। उन्होंने सुशील मोदी को घोर अनैतिक पाप करने वाला तक बता डाला। उधर, राष्ट्रीय जनता दल की ओर से भी सुशील मोदी के बयान पर नाराजगी जताई गई है।

दरअसल, महारानी वेब सीरीज में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी की ताकत दिखाई गई है। चारा घोटाले में जेल जाने की नौबत आने पर लालू प्रसाद यादव ने आनन-फानन में मुख्यमंत्री के रूप में राबड़ी देवी की ताजपोशी करा दी थी। इस वेब सीरीज में यह दिखाया गया है कि कैसे एक गृहिणी मुख्यमंत्री तक का सफर तय करने में कामयाब होती है।

कुर्सी पर बैठने के बाद वह महिला बड़े-बड़े फैसले लेकर हर किसी को हैरान कर देती है। बिहार की सियासत में इन दिनों महारानी वेब सीरीज की काफी चर्चा है और भाजपा और जदयू के नेताओं ने इसके बहाने राबड़ी देवी और लालू प्रसाद यादव पर तीखे हमले शुरू कर दिए हैं।

सुशील मोदी का लालू और राबड़ी पर तंज

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के कार्यकाल को याद करते हुए लालू प्रसाद यादव पर भी निशाना साधा था। सुशील मोदी ने लालू और राबड़ी दोनों को घेरते हुए ट्विटर पर सवाल किया था कि घरेलू महिला राबड़ी देवी को सीधे मुख्यमंत्री बनवाकर क्या लालू प्रसाद यादव संसदीय लोकतंत्र की व्यवस्था को दुरुस्त करने की क्रांति कर रहे थे? सुशील मोदी के इस ट्वीट के बाद से ही सियासी महाभारत शुरू हो गई है।

सुशील मोदी, लालू यादव और राबड़ी देवी (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

लालू की बेटी ने ओछी मानसिकता बताया

पूर्व में भी सुशील मोदी के बयानों का तीखा जवाब देने वाली लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य एक बार फिर खुलकर मैदान में आ गई हैं। रोहिणी ने सुशील मोदी को घोर अनैतिक पाप करने वाला तक बता डाला। उन्होंने ट्वीट किया कि क्या घरेलू महिला क्रांति नहीं ला सकती, जिसके मुंह से यह बात निकली। महिला और भारतीय समाज का उपहास और अपमान करने का उसने घोर अनैतिक काम किया है।

अपने दूसरे ट्वीट में भी रोहिणी (Rohini Acharya) ने सुशील मोदी पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि आपकी मानसिकता बता रही है कि घरेलू महिलाओं के प्रति आपकी कैसी ओछी सोच है। जिसको मां-बहनों का भी सम्मान करने का संस्कार नहीं, वह नेता तो क्या इंसान भी कहलाने लायक नहीं है।


राजद ने स्मृति ईरानी के बहाने घेरा

राबड़ी देवी पर सुशील मोदी की टिप्पणी के बाद राजद ने भी तीखी प्रतिक्रिया जताई है। राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि इससे भाजपा और जदयू नेताओं की मानसिकता का पता चलता है। उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी को भी लोग सास भी कभी बहू थी, सीरियल के जरिए ही जानते थे। भाजपा को इस बात का जवाब देना चाहिए कि उस घरेलू महिला को देश का शिक्षा मंत्री बनवा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कौन सी क्रांति लाने की कोशिश कर रहे थे।

माना जा रहा है कि भाजपा-जदयू और राजद नेताओं के बीच शुरू हुआ तीखी बयानबाजी का यह दौर यही समाप्त होने वाला नहीं है। दोनों पक्षों की ओर से इसे लेकर आने वाले दिनों में सियासी घमासान और बढ़ने के आसार दिख रहे हैं।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story