Top

ये हैं भारत के Real Heroes, संवार रहे देश का भविष्य

बिहार की राजधानी पटना के खान सर पूरे देश में अपने पढ़ाने के स्टाईल को लेकर पहचान बना चुके हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 30 May 2021 6:15 PM GMT

RK Srivastava
X

 खान सर, आनंद कुमार और आरके श्रीवास्तव (काॅन्सेप्ट फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

देश के Real Heroes जो देश का भविष्य संवार रहे हैं। आईये जानते है इनके बारे में आखिर यह कौन हैं। वैसे ये सभी शिक्षक किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। आये दिन पत्र-पत्रिकाओं, अखबारों,पोर्टल्स पर इनके शैक्षणिक कार्यशैली की खबरें छपती रहती हैं।

बिहार की राजधानी पटना के खान सर पूरे देश में अपने पढ़ाने के स्टाईल को लेकर पहचान बना चुके हैं। यूट्यूब इंडिया ने देश के Top-10 Creators 2020 के लिस्ट में खान सर को भी जगह दिया है। यूट्यूब इंडिया के तरफ से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई। खान सर को यूट्यूब क्रिएटर के रूप में इंडिया में 8वां स्थान मिला है जो कि एक बड़ी उपलब्धि है।
खान सर ने 2019 में यूट्यूब ज्वाइन किया था। अब करीब करीब 9 मिलियन से भी ज्यादा सब्सक्राइबर्स वाला यूट्यूब चैनल बन चुका है। खान सर के यूट्यूब चैनल का नाम यूट्यूब पर खान जीएस रिसर्च सेंटर के नाम से है जहां पर उनके चैनल पर अब तक 300 से अधिक वीडियो हैं।
पढ़ाने के तरीके के फैंस बने लोग
यूजर्स टीचर के पढ़ाने के तरीके की तारीफ करते दिखते रहे हैं, यहां तक कि उनके वीडियो को आईपीएस अरुण बोथरा अपने ट्विटर हैंडल से शेयर कर चुके हैं। वीडियो के साथ अरुण बोथरा ने लिखा था कि 'अगर मुझे ऐसा शिक्षक मिला होता तो मैंने यूपीएससी टॉप कर लिया होता', सबसे बड़ी बात कि वो सभी बातें एकदम देसी स्टाइल में बताते हैं। शायद यही वजह है कि लोग इस शिक्षक के पढ़ाने के अंदाज के फैन हो गए हैं।

सुपर 30 वाले आनंद कुमार

बिहार के पटना जिले में रहने वाले शिक्षक आनंद कुमार न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के बीच चर्चित नाम हैं। इनका 'सुपर 30' प्रोग्राम विश्व प्रसिद्ध है। इसके तहत वे आईआईटी-जेईई के लिए ऐसे 30 मेहनती छात्रों को चुनते हैं, जो बेहद गरीब परिवार से हों। अभी तक उनके पढ़ाए 480 छात्रों में से 422 अबतक आईआईटियन बन चुके हैं। आनंद कुमार की लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि उनपर बायोपिक फिल्म के अलावा डिस्कवरी चैनल भी उनपर डॉक्युमेंट्री बना चुका है। उन्हें विश्व प्रसिद्ध मेसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और हार्वर्ड युनिवर्सिटी से भी व्याख्यान का न्योता मिल चुका है।

1 रूपया में पढ़ाकर इंजीनियर बनाता है यह शिक्षक

न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया के इंजीनियरिंग स्टुडेंट्स के बीच एक चर्चित नाम है। 1 रूपये में पढ़ाकर इंजीनियर बनाने वाला शिक्षक। बिहार के आरके श्रीवास्तव ने मैथेमैटिक्स गुरू बन सैकड़ों निर्धन परिवार के स्टूडेंट्स के सपने को पंख लगा दिया।

आरके श्रीवास्तव ने दिए गरीब छात्रों के सपनों को पंख

पूरे देश की दुआएं आरके श्रीवास्तव को मिलता है। विदेशो में भी इन बिहारी शिक्षकों के पढ़ाने के तरीकों को पसंद किया जाता है। आरके श्रीवास्तव सिर्फ 1 रुपया गुरु दक्षिणा लेकर गणित का गुर सिखाते हैं। अभी तक 540 स्टूडेंट्स को इंजीनियर बना उनके सपने को पंख लगा चुके हैं। आरके श्रीवास्तव का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ ऑफ रिकॉर्डस लंदन, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, गोल्डेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हो चुका है।

1 रुपया गुरु दक्षिणा में बनाया छात्रों को आधिकारी

बिहार के रोहतास जिले में रहने वाले शिक्षक आरके श्रीवास्तव न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया के इंजीनियरिंग स्टुडेंट्स के बीच एक चर्चित नाम हैं। इनका '1 रूपया गुरु दक्षिणा' प्रोग्राम विश्व प्रसिद्ध है। इसके तहत वे आर्थिक रूप से गरीब स्टूडेंट्स को 1 रूपया गुरु दक्षिणा लेकर इंजीनियर बना रहे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी कर चुके है आरके श्रीवास्तव की प्रशंसा

शैक्षणिक मीटिंग के दौरान मैथेमैटिक्स गुरू के नाम से महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी संबोधित कर चुके हैं। आरके श्रीवास्तव ने युवाओं को हमेशा बताया कि "जीतने वाले छोड़ते नहीं, छोड़ने वाले जीतते नहीं" के मार्ग पर हमेशा आगे बढ़ें।

जानिए कौन हैं आरके श्रीवास्तव

बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले आरके श्रीवास्तव देश में मैथेमैटिक्स गुरु के नाम से मशहूर हैं। खेल-खेल में जादुई तरीके से गणित पढ़ाने का उनका तरीका लाजवाब है। कबाड़ की जुगाड़ से प्रैक्टिकल कर गणित सिखाते हैं। आर्थिक रूप से सैकड़ों गरीब स्टूडेंट्स को आईआईटी, एनआईटी, बीसीईसीई सहित देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में पहुँचाकर उनके सपने को पंख लगा चुके हैं।आरके श्रीवास्तव, 540 गरीब स्टूडेंट्स को इंजीनियर बना चुके हैं।
इनके द्वारा चलाया जा रहा नाइट क्लासेज अभियान अद्भुत, अकल्पनीय है। स्टूडेंट्स को सेल्फ स्टडी के प्रति जागरूक करने लिये 450 क्लास से अधिक बार पूरी रात लगातार 12 घंटे गणित पढ़ा चुके हैं। इनकी शैक्षणिक कार्यशैली की खबरें देश के प्रतिष्ठित अखबारों में छप चुकी हैं, विश्व प्रसिद्ध गूगल ब्वाय कौटिल्य के गुरु के रूप में भी देश इन्हें जानता है।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story