Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

दिग्गज नेता ICU में: बेटे ने लिखी भावुक चिट्ठी, बताया अपनी मजबूरी

पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के नाम लिखी चिट्ठी में चिराग ने पिता रामविलास के स्वास्थ्य को लेकर चर्चा की है जो पिछले तीन हफ्तों से दिल्ली के एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। इस कारण चिराग ने बिहार न आने की अपनी मजबूरी बताई है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 Sep 2020 6:47 AM GMT

दिग्गज नेता ICU में: बेटे ने लिखी भावुक चिट्ठी, बताया अपनी मजबूरी
X
दिग्गज नेता ICU में: बेटे ने लिखी भावुक चिट्ठी, बताया अपनी मजबूरी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: एक तरफ बिहार में अक्तूबर-नवंबर के महीने में विधानसभा चुनाव होने हैं। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान अपने पिता पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की तबीयत को लेकर चिंतित हैं। रामविलास पासवान ज्यादा बिगड़ गई है। वे दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल के आइसीयू में भर्ती हैं। ऐसे में उन्हें छोड़कर बिहार आना बेटे चिराग पासवान के लिए संभव नहीं है। इसी कारण उन्होंने अपनी मजबूरियां बताते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को एक मार्मिक चिट्ठी लिखी है।

चिराग की बिहार न आने की मजबूरी

पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के नाम लिखी चिट्ठी में चिराग ने पिता रामविलास के स्वास्थ्य को लेकर चर्चा की है जो पिछले तीन हफ्तों से दिल्ली के एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। इस कारण चिराग ने बिहार न आने की अपनी मजबूरी बताई है। उन्होंने सीट बंटवारे को लेकर कहा कि उनकी किसी से बात नहीं हुई है।

lokjanshakti parti chirag paswan-2 दिग्गज नेता ICU में: बेटे ने लिखी भावुक चिट्ठी, बताया अपनी मजबूरी-(courtesy-social media)

बीते तीन हफ्ते से वे अस्पताल में हैं राम विलास पासवान

चिराग पासवान ने अपनी चिट्ठी मे लिखा है कि कोरोना संक्रमण काल में लोगों को राशन की परेशानी न हो, इसके लिए उनके पिता अपना रूटीन हेल्थ चेकअप लगातार टालते रहे। इस कारण वे अस्वस्थ हो गए। बीते तीन हफ्ते से वे अस्पताल में हैं।

ये भी देखें: मुंबई में लाशें ही लाशें: भरभराकर गिरी लोगों से भरी ये इमारत, कई की मौत

पिता को अस्पताल में देख विचलित हो जाता हूं

पत्र में चिराग ने लिखा है कि एक बेटे के तौर पर पिता को अस्पताल में देखकर बेहद विचलित हो जाता हूं। पापा ने कई बार मुझे पटना जाने का सुझाव दिया लेकिन बेटा होने के नाते पापा को आईसीयू में छोड़कर मेरे लिए कहीं भी जाना संभव नहीं है। आज जब उन्हें मेरी जरूरत है तो मुझे उनके साथ रहना चाहिए नहीं तो आप सभी का राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने आपको कभी माफ नहीं कर पाएगा।

lokjanshakti parti-chirag paswan-ram bilas pasvan दिग्गज नेता ICU में: बेटे ने लिखी भावुक चिट्ठी, बताया अपनी मजबूरी-(courtesy-social media)

ये भी देखें: भारतीय सेना का ‘ब्रह्मास्त्र’: चीन के खिलाफ की तैयारी, अब हमला नहीं कर पाएगा दुश्मन

बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट

चिराग ने कहा है कि पार्टी अध्यक्ष होने के नाते उन्हें उन साथियों की भी चिंता है जिन्होंने ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट' के लिए जीवन समर्पित कर दिया है। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि अब तक गठबंधन के साथियों से न ही बिहार के भविष्य को लेकर और न ही सीटों के तालमेल को लेकर कोई चर्चा हुई है।

Newstrack

Newstrack

Next Story