आ गई 2020-21 के लिए 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट, राष्ट्रपति को सौंपी

15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एन.के. सिंह और आयोग के सदस्यों- अजय नारायण झा,  अशोक लाहिड़ी,  रमेश चंद्र,  अनूप सिंह और सचिव  अरविंद मेहता ने गुरुवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और आवश्यक कार्रवाई के लिए वित्त वर्ष 2020-21 की आयोग की रिपोर्ट पेश की। आयोग ने रिपोर्ट में दिए गए सुझावों से राष्ट्रपति को अवगत कराया।

नई दिल्ली। पंद्रहवें वित्त आयोग ने 2020-21 के लिए अपनी रिपोर्ट आज राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को सौंप दी।

15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एन.के. सिंह और आयोग के सदस्यों- अजय नारायण झा,  अशोक लाहिड़ी,  रमेश चंद्र,  अनूप सिंह और सचिव  अरविंद मेहता ने गुरुवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और आवश्यक कार्रवाई के लिए वित्त वर्ष 2020-21 की आयोग की रिपोर्ट पेश की। आयोग ने रिपोर्ट में दिए गए सुझावों से राष्ट्रपति को अवगत कराया।

15वें वित्त आयोग का गठन राष्ट्रपति ने संविधान के अनुच्छेद 280 के तहत 27 नवंबर, 2017 को किया था, ताकि वह 01 अप्रैल, 2020 से 31 मार्च, 2025 तक की पांच वर्षीय अवधि के लिए सुझाव दे सके। राष्ट्रपति की अधिसूचना में आयोग के संबंध में विस्तृत संदर्भ सामग्री दी गई है।

इसके उपरांत 27 नवंबर, 2019 के गजट अधिसूचना के आधार पर 15वें वित्त आयोग के यह अधिकार दिया गया कि वह वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अपनी रिपोर्ट 30 नवंबर, 2019 तक सौंप दे तथा उसके बाद 01 अप्रैल, 2021 से 31 मार्च, 2026 तक की अवधि की अपनी अंतिम रिपोर्ट 30 अक्टूबर, 2020 तक सौंपे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App