Top

Business Loan Plan: बिजनेस का विस्तार करने के लिए 5 प्रकार के बिजनेस लोन उपलब्ध, जानिए डिटेल

Business Loan Plan : ट्रेडिशनल टर्म लोन हर पहलू में बहुत आम और लोकप्रिय बिजनेस लोन मानदंड है। टर्म लोन में, लोनदाता एक निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त नकद राशि प्रदान करते हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 20 July 2021 11:39 AM GMT

Business Loan Plan
X

Concept Image 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ग्रोसरी स्टोर या फार्मेसी स्टोर, चाहे वे बड़े, मध्यम या छोटे हों, को अपनी दैनिक कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किसी न किसी समय धन की आवश्यकता होती है। इसी के साथ तेजी से बढ़ते बाजार के साथ तालमेल बिठाने और अधिक लाभ और राजस्व बनाने के लिए भी धन की आवश्यकता होती है। यदि कोई जनरल स्टोर या फार्मेसी स्टोर का मालिक चाहेगा कि वह उसके बिजनेस का विस्तार हो जाए, तो उसके लिए उसे बिजनेस लोन की सहायता लेना होगा।

ग्रोसरी स्टोर या फार्मेसी स्टोर के मालिकों या अन्य एमएसएमई उद्यमों को विभिन्न उद्देश्यों को पूरा करने के लिए लोन की आवश्यकता होती है।जैसे कि व्यवसाय विस्तार, उपकरण खरीदना, मशीनरी या संयंत्र खरीदना, कर्मचारियों कोवेतन देना या दैनिक कामगारों का भुगतान करना। नए कर्मचारियों को काम पर रखना, बिजनेस की ब्रांच शुरु करना, कच्चा माल खरीदना आदि।

उपरोक्त को पूरा करने के लिए लोन सबसे सही विकल्प होता है। लेकिन आपको बता दें कि बिजनेस के लिए कुल 5 प्रकार का बिजनेस लोन मिलता है। आइये समझते हैं कि किस आवश्यकता के लिए कौन सा लोन उपयुक्त साबित होगा।

टर्म लोन (सावधि लोन)

ट्रेडिशनल टर्म लोन हर पहलू में बहुत आम और लोकप्रिय बिजनेस लोन मानदंड है। टर्म लोन में, लोनदाता एक निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त नकद राशि प्रदान करते हैं। उधारकर्ताओं से अपेक्षा की जाती है कि वे दी गई अवधि के भीतर ब्याज और शुल्क के साथ लोन का पैसा चुका दें।

सावधि लोन का उपयोग सामान्य तौर पर वर्किंग कैपिटल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए, इन्वेंट्री मैनेजमेंट करने के लिए, लोगों को काम पर रखने के लिए(कार्यबल व्यवस्था), बिजनेस नवीनीकरण आदि के लिए किया जाता है। इसलिए, पारंपरिक सावधि लोन (ट्रेडिशनल टर्म लोन) को सबसे अधिक उपयोगी व्यवसाय विस्तार लोन माना जाता है।

यहां पर एक बात ध्यान देने वाली है कि टर्म लोन को ही सामान्य भाषा में बिजनेस लोन कहा जाता है। जो एक समय के लिए मिलता है और तय समय के भीतर चुकाना होता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan से 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, आसान प्रोसेस के साथ सिर्फ 3 दिनों* में मिलता है।

उपकरण लोन (उपकरण वित्तपोषण)

टर्मलोन की तरह, लोनदाता द्वारा कारोबारी को अपने व्यवसाय के विस्तार के लिए नए उपकरण खरीदने में मदद करने के लिए उपकरणलोन (उपकरण वित्तपोषण) देते हैं। उपकरण लोन(वित्तपोषण) के तहत, उधारकर्ताओं को एक निश्चित समय सीमा के भीतर शुल्क और ब्याज के साथ उधार दी गई कुल राशि का भुगतान करना होता है। यदि व्यवसाय को नए उपकरणों की आवश्यकता है तो यह लाभ उठाने के लिए एक अच्छी सुविधा है। इस योजना के तहत, लोन प्राप्त करना आसान है क्योंकि उधारकर्ता उपकरण को गिरवी के रूप में दिखा सकता है। यहां पर अच्छी बात यह है कि एनबीएफसी ZipLoan से सिर्फ 3 दिनों* में उपकरण लोन मिल जाता है।

लाइन ऑफ क्रेडिट

क्रेडिट लाइन या क्रेडिट ऑफ लाइन उधारकर्ताओं को एक निश्चित मात्रा में नकदी तक पहुंचने की अनुमति देती है। क्रेडिट ऑफ लाइन का सबसे अधिक लाभ ग्रोसरी स्टोर और फार्मेसी स्टोर को मिलता है। क्योंकि, इन इन दोनों ही स्टोर को चलाने के लिए जो रोजमर्रा के तर्ज पर पैसा चाहिए होता है। ग्रोसरी स्टोर में कब माल आ जाय या माल मंगाना पड़ जाय, कहा नहीं जा सकता है। तत्काल की जरुरतों को पूरा करना आवश्यक है। जिसके लिए लाइन ऑफ क्रेडिट बेहतरीन उपाय है।

लाइन ऑफ क्रेडिट से व्यावसायिक विस्तार को कवर करने में मदद मिलता है। इसलिए, किसी भी व्यवसाय के विस्तार का समर्थन करने के लिए यह एक अच्छा लोन विकल्प है। यह क्रेडिट कार्ड के समान है।उधारकर्ता को केवल उसी धन पर ब्याज का भुगतान करना होता है जिसका उपयोग वे क्रेडिट की बिजनेस लाइन के साथ करते हैं।

क्रेडिट लोन की बिजनेस लाइन में, यह सर्किल चलता है। क्रेडिट की सीमा भर का पैसा व्यापारी उपयोग करते हैं। जब उधारी का पैसा, जमा कर देते हैं तो क्रेडिट ऑफ लाइन फिर से रिचार्ज हो जाता है। यहां भी एनबीएफसी ZipLoan एमएसएमई कारोबारियों की सहायता करता है। एनबीएफसी ZipLoan से 2 लाख रुपये तक का लाइन ऑफ क्रेडिट मिलता है।

शॉर्ट टर्म लोन (अल्पकालिक लोन)

ग्रोसरी स्टोर और फार्मेसी स्टोर में अभी लाखों पैसा दिखेगा लेकिन अगले कुछ समय में लाखों पैसा बकाया हो जाएगा। इसलिए ग्रोसरी स्टोर और फार्मेसी स्टोर के लिए शॉर्ट टर्म लोन बेहतरीन विकल्प होता है। क्योंकि इसमें कम अवधि के लिए लोन मिलता है। कारोबारी अपना काम आसानी से कर लेते हैं और तय समय में लोन की भरपाई भी कर देते हैं।

शार्ट टर्म लोन, बिजनेस लोन हो सकता है। हालांकि, लांग टर्म लोन की अपेक्षा शार्ट टर्म लोन में लोन अमाउंट कम होता है और ब्याज दर थोड़ी अधिक होता है।इस प्रकार के लोन आमतौर पर किसी भी बैंक द्वारा वित्तपोषित नहीं होते हैं।

शॉर्ट टर्म लोन एनबीएफसी और माइक्रो फाइनेंस एजेंसीज से मिलता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoanसे 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन बहुत आसानी के साथ मिलता है। मिले हुए बिजनेस लोन का रिपेमेंट 12 से 36 महीने में कर सकते हैं।

इनवाइस फाइनेंसिंग

इनवाइस फाइनेंसिंग एक तरह का हुंडी सिस्टम है। जिसमें उधारकर्ता को अपने इनवाइस को उधारदाताओं को अधिकांश इनवाइस अमाउंट(राशि) के अगेंस्ट बेचना पड़ता है। इनवाइस के पूर्ण भुगतान तक लोनदाता शेष राशि जो 20% की है, ले लेंगे। एक बार, इनवॉइस का भुगतान हो जाने के बाद, किसी भी लागू शुल्क को छोड़कर, शेष धनराशि जारी कर दी जाएगी।

व्यवसाय विस्तार को प्रभावित करने वाले कारक

ऐसे कई कारक हैं जो किसी व्यवसाय के विस्तार को प्रभावित करते हैं। सबसे आम कारणों में स्टाफ की कमी, अपूर्ण ऑर्डर, इन्वेंट्री गैप या प्रतिस्पर्धा को खत्म करना या संबंधित उद्योग में बदलाव शामिल हैं। किसी व्यवसाय के विस्तार को सही समय पर वित्त पोषित करने से व्यवसाय में आने वाले किसी भी प्रकार के जोखिम को रोका जा सकता है। अगर कारोबारी को लगता है कि बिजनेस में फंड लगाने की आवश्यकता है तो बिना देर किये बिजनेस लोन का लाभ उठाया जाना चाहिए और बिजनेस का संचालन बेहतर रखना चाहिए।

Shivani

Shivani

Next Story