कोरोना राहत पैकेज का एलान, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की खास बातें

दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक के डाक्टर से नौ लोगों को संक्रमण हुआ है। खुली रहेंगी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें। दूध सब्जी वालों को पास की जरूरत नहीं। गुजरात में 38 लोगों में कोरोना की पुष्टि। दिल्ली गुरुग्राम सीमा पर बैरीकेडिंग। मुम्बई में लॉक डाउन में सख्ती। लाउडस्पीकर से एनाउंसमेंट। इस महीने रिटायर होने वाले सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा एक्सटेंशन। संभल में चामुंडा मंदिर पहली बार नवरात्र में बंद।

nirmala1

नई दिल्लीः कोरोना वायरस को लेकर जारी चिंता के बीच वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉक डाउन के 36 घंटे के भीतर बड़े राहत पैकेज का एलान किया है।जिसमें गरीबों और कोरोना योद्धाओं के लिए बड़ी घोषणाएं की गई हैं।  इसबीच देश में आज अबतक चार मौतें होने से मरने वालों की संख्या 16 हो गई है। जबकि देश में 642 कोरोना से पीड़ित हैं।

निर्मला सीतारमण लॉक डाउन 24 मार्च की रात से 15 अप्रैल की रात तक लगाया गया है। इस लॉक डाउन से जो गरीब लोग प्रभावित हुए हैं। सरकार उनकी मदद के लिए काम कर रही है। लॉक डाउन से प्रभावित गरीबों और अप्रवासी कामगारों की सरकार मदद करेगी। वित्तमंत्री ने मजदूरों के लिए एक लाख 70 हजार करोड़ के  पैकेज का एलान किया

दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक के डाक्टर से नौ लोगों को संक्रमण हुआ है। खुली रहेंगी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें। दूध सब्जी वालों को पास की जरूरत नहीं। गुजरात में 38 लोगों में कोरोना की पुष्टि। दिल्ली गुरुग्राम सीमा पर बैरीकेडिंग। मुम्बई में लॉक डाउन में सख्ती। लाउडस्पीकर से एनाउंसमेंट। इस महीने रिटायर होने वाले सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा एक्सटेंशन। संभल में चामुंडा मंदिर पहली बार नवरात्र में बंद।

अनुमान था कि देश की अर्थव्यवस्था को कोरोना वायरस से हो रहे नुकसान से उबराने के लिए केंद्र की मोदी सरकार 1.50 लाख करोड़ रुपये (19.6 अरब डॉलर) के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा कर सकती है. सरकार ने इससे बड़े  राहत पैकेज का एलान किया है।

हेल्थ वर्करों के लिए एलान

सरकार हेल्थ वर्कर आशा स्टाफ, डाक्टरों के लिए गंभीर है।  इनके लिए 50 लाख रुपये प्रति व्यक्ति बीमा का एलान किया है।  बीमा से करीब बीस लाख लोगों को लाभ मिलेगा। हेल्थ वर्कर जान पर खेल कर काम कर रहे हैं।

सरकार ने सफाई कर्मचारियों के लिए भी 50 लाख के बीमे का एलान किया है।

गरीबों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एक लाख 70 हजार करोड़ की होगी। इस का एलान करते हुए वित्तमंत्री ने कहा कि  गरीबों को अगले तीन माह तक 5 किलो चावल/गेहूं फ्री दिया जाएगा।  यह अगले तीन माह तक 80 करोड़ लाभार्थियों को अतिरिक्त मिलेगा। इसका कोई भुगतान नहीं करना होगा। एक किलो दाल भी मिलेगी। कोई गरीब भूखा नहीं रहेगा।

किसानों के लिए पैकेज

अन्नदाता के लिए अप्रैल में पहले ही हफ्ते में दो हजार रूपये की पहली किस्त उनके खाते में डाल दी जाएगी इसका लाभ आठ करोड़ सत्तर लाख किसानों को मिलेगा।

जनधन खाते में पेंशन का पैसा सीधे ट्रांसफर होगा। मनरेगा मजदूरों की मजदूरी बढ़ेगी। इनकी दिहाड़ी182 से बढ़ाकर 202 रुपये रोजाना की गई।

बुजुर्गों विधवा महिलाओं व दिव्यांगों को एक हजार रुपये खाते में मिलेगा।इससे तीन करोड़ लोग लाभान्वित होंगे।

प्रधानमंत्री जनधन योजना में खाते वाली 20 करोड़ महिलाओं के खाते में 500-500 रुपये प्रति माह अगले तीन माह तक डाला जाएगा।

उज्जवला योजना में गरीब परिवार की महिलाओं को रसोई गैस का सिलेंडर मुफ्त में अगले तीन माह तक मिलते रहेंगे। इसका लाभ आठ करोड़ महिलाओं को मिलेगा।

दीन दयाल योजना के तहत  63 लाख स्वयं सहायता समूहों को अब दस लाख की जगह 20 लाख रुपये का लोन मिलेगा। ताकि उनका काम चलता रहे। और इनसे जुड़े सात करोड़ लोगों तक इसका लाभ पहुंचे।

संगठित क्षेत्र के लिए ईपीएफ देगी सरकार

जो कर्मचारी 15 हजार से कम वेतन पाते हैं और जिन प्रतिष्ठानों में सौ से कम कर्मचारी हैं ऐसे नियोजक और कर्मचारी का ईपीएफ अंशदान अगले तीन माह तक सरकार करेगी। यह दोनो 12-12 प्रतिशत मिलाकर 24 प्रतिशत होते हैं। इसे सरकार जमा करेगी ताकि ईपीएफ में जमा होने वाले धन की निरंतरता बाधित न हो। इससे चार लाख प्रतिष्ठान और 80 लाख कर्मचारी लाभान्वित होंगे।

इसके अलावा ईपीएफ से पैसा निकालने के लिए तीन माह का वेतन या 75 प्रतिशत जमा जो कम हो निकालने की सुविधा भी सरकार देने जा रही है।

निर्माण कार्यों में लगे साढे तीन करोड़ मजदूरों के लिए 31 हजार करोड़ के फंड का सदुपयोग करने के राज्य सरकारों को निर्देश दिये गए हैं।

जिला स्तर पर कोष का उपयोग जांच संबंधी कार्यों के लिए करने का राज्य सरकारों को निर्देश।

सरकार ने लॉक डाउन के 36 घंटे के अंदर इस पैकेज का एलान किया है।