×

मोदी सरकार के सामने नई चुनौती, फरवरी में थोक महंगाई दर बढ़कर 13.11 प्रतिशत तक पहुंची

Wholesale inflation rate : देश में लगातार बढ़ रही महंगाई सरकार, अर्थव्यवस्था और रिजर्व बैंक (RBI) तीनों के लिए ही गंभीर चिंता का विषय बना हुआ है।

Network
Updated on: 2022-03-14T14:00:17+05:30
rising inflation: february wholesale price index inflation rises WPI inflation Reserve Bank of India
X

बढ़ती मंहगाई (फोटो : सोशल मीडिया ) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Inflation rate: देश में आर्थिक मोर्चे पर जिस आंकड़े का इंतजार हो रहा था आज वो आ गया। फरवरी महीने के लिए महंगाई यानी Inflation का आंकड़ा आज सामने आया। आंकड़े बता रहे हैं, कि फरवरी महीने में थोक महंगाई दर बढ़कर 13.11 प्रतिशत पर पहुंच गई। यह दर जनवरी महीने में 12.96 प्रतिशत थी। देश में लगातार बढ़ती महंगाई सरकार, अर्थव्यवस्था और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) तीनों के लिए ही गंभीर चिंता का विषय है।

महंगाई की बढ़ी दर को आम आदमी आसानी से इस प्रकार समझ सकता है कि इस समय अवधि में यानी फरवरी 2021 में थोक महंगाई दर महज 4.83 फीसदी थी। बता दें, कि अगले महीने आरबीआई मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी की बैठक होने वाली है। उससे पहले 16 मार्च को अमेरिकी रिज़र्व बैंक या फेडरल रिजर्व इंट्रेस्ट रेट को लेकर बड़ा फैसला कर सकता है। महंगाई में बढ़ोतरी से आरबीआई पर पॉलिसी में बदलाव का दबाव बढ़ेगा।

सब्जियों की कीमत में कमी आई

थोक महंगाई दर के ताजा आंकड़े को देखें तो सब्जियों की कीमतों में 26.93 फीसदी की तेजी दर्ज की गई जो जनवरी में 38.45 फीसदी थी। कहने का मतलब है कि, सब्जियों की कीमत में कमी आई है। साथ ही, अंडा, मीट और मछली में महंगाई 8.14 फीसदी की तेजी रही जो जनवरी में 9.85 फीसदी थी। इसी तरह प्याज में माइनस 26.37 फीसदी की तेजी देखी गई। यह जनवरी में माइनस 15.98 फीसदी थी। इसी तरह आलू में 14.78 प्रतिशत की तेजी रही, जो जनवरी में माइनस 14.45 फीसदी थी।

ऐसा है खुदरा महंगाई दर का हाल

आपको बता दें कि जनवरी में खुदरा महंगाई दर 6.01 प्रतिशत थी। यह रिजर्व बैंक के छह फीसदी के अपर लिमिट के पार थी। इसे सात महीने का उच्चतम स्तर बताया गया था। दिसंबर महीने में खुदरा महंगाई 5.59 फीसद रही थी। तब यह 5 महीने के उच्चतम स्तर पर था। जबकि, नवंबर महीने में खुदरा महंगाई दर 4.91 प्रतिशत और अक्टूबर में 4.48 फीसदी रही थी।

aman

aman

Next Story