सोने की कीमत में भारी बढ़ोतरी, चांदी हुई सस्ती, जानिए नया रेट

दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच कैश की जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश गोल्ड समेत अन्य एसेट क्लास को बेचने की भी कोशिश कर रहे हैं। घरेलू बाजार में सोने का भाव 47,950 रुपये से लेकर 48,300 के करीब भी रह सकता है।

gold-

Gold

नई दिल्ली: सोना-चांदी की कीमतों पर लोगों की नजर हमेशा रहती है। इनकी कीमतों में हमेशा बदलाव होता रहता है। दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने-चांदी के आज का भाव जारी हो गया है। इंटरेनशनल मार्केट में दोनों कीमती धातुओं की सपाट कारोबार देखने को मिला है। जारी की गई नई कीमतों में सोने की कीमतों में 237 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़ा है। वहीं, चांदी की कीमतों में 740 रुपये प्रति किलोग्राम सस्ती हुई है।

दिल्ली सर्राफा बाजार में आज की सोने की नई कीमतें

एचडीएफसी सिक्योंरिटीज के मुताबिक, आज दिल्ली सर्राफा बाजार में 237 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़कर 49,022 के स्तर पर पहुंच गया। इसके पहले गुरुवार को 48,785 रुपये प्रति 10 ग्राम था। इंटरनेशल मार्केट में गोल्ड का नया भाव 1,774 डॉलर प्रति आउंस पर रहा।

ये भी देखें: मोदी ने कैसे किया: पूरी दुनिया रह गई दंग, सब ने कहा वाह मोदी जी वाह

दिल्ली सर्राफा बाजार में आज चांदी की नई कीमतें

इसी प्रकार चांदी का भाव 740 रुपये प्रति किलोग्राम सस्ती हुई, जिसके बाद नया भाव 49,060 रुपये के स्तर पर है। इसके पहले गुरुवार को यह भाव 49,800 रुपये प्रति किलोग्राम पर था। लेकिन, इंटरनेशनल मार्केट सपाट कारोबारी देखने को मिला, जिसके बाद चांदी का नया भाव 17।99 डॉलर प्रति आउंस रहा।

दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच कैश की जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश गोल्ड समेत अन्य एसेट क्लास को बेचने की भी कोशिश कर रहे हैं। घरेलू बाजार में सोने का भाव 47,950 रुपये से लेकर 48,300 के करीब भी रह सकता है।

सोने की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही

इस मामले से जुड़े एक एक्सपर्ट का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने वैश्विक ग्रोथ का अनुमान घटा दिया है और कहा है कि मौजूदा माहामारी से दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं की हालत बेहद खराब व चिंताजनक होगी। आईएमएफ के अनुमान के मुताबिक, 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में 4.9 फीसदी की गिरावट आएगी। यही कारण है कि सोने की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है।

ये भी देखें: मोदी ने कैसे किया: पूरी दुनिया रह गई दंग, सब ने कहा वाह मोदी जी वाह

आर्थिक संकट के आकड़ों के अनुसार

दरअसल, मौजूदा महामारी को लेकर साफ दृश्य नहीं दिखाई दे रहा कि आखिर यह कब खत्म होगा। दूसरी ओर अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव भी आ रहा है। ऐसे में इन दोनों वजहों से सोने को सपोर्ट मिलेगा। 2001 और 2008 के आंकड़ों से पता चलता है आर्थिक संकट के बाद गोल्ड ही सबसे पहला एसेट क्लास था, जिसमें बड़ी तेजी आई थी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App