Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

कोरोना के बीच बड़ी राहत, RBI ने इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए दिए 50,000 करोड़

RBI के गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए व्यापक और त्वरित कार्रवाइयों की आवश्यकता है।

Newstrack

NewstrackNewstrack Network NewstrackShreyaPublished By Shreya

Published on 5 May 2021 5:37 AM GMT

कोरोना के बीच बड़ी राहत, RBI ने इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए दिए 50,000 करोड़
X

शक्तिकांत दास (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus Second Wave) की दूसरी लहर की दस्तक होने के बाद संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। जिससे एक बार फिर से देश की अर्थव्यवस्था पर बड़े स्तर पर असर पड़ने की संभावना है। इस बीच आज यानी बुधवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गर्वनर शक्तिकांत दास (Governor Shaktikant Das) प्रेस कॉन्फ्रेस कर रहे हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेस में कोरोना की दूसरी लहर को उन्होंने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर से इकोनॉमी काफी बडे़ स्तर पर प्रभावित हुई है। आरबीआई कोरोना की स्थिति पर नजर बनाए हुए है। कोरोना की पहली लहर के बाद अर्थव्यवस्था (Economy) में अच्छी रिकवरी दिखी थी। लेकिन दूसरी लहर ने एक बार फिर से संकट पैदा कर दिया है। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के प्रसार को देखते हुए व्यापक और त्वरित कार्रवाइयों की आवश्यकता है।

शक्तिकांत दास (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत

शक्तिकांत दास ने आगे कहा कि ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत हैं। अगर बात करें भारत की तो देश की अर्थव्यवस्था भी दबाव से उबरती दिख रही है। मौसम विभाग ने इस साल सामान्य मानसून रहने का अनुमान जताया है। अच्छे मॉनसून से ग्रामीण मांग में तेजी संभव है। उन्होंने कहा कि मैन्यफैक्चरिंग इकाइयों में भी धीमापन कम होता दिख रहा है।

इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए दिए गए 50,000 करोड़

बता दें कि केंद्रिय बैंक की ओर से इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए 50,000 करोड़ रुपए दिए गए हैं। जिसके जरिए बैंक वैक्सीन मैन्युफैक्चर्स, वैक्सीन ट्रांसपोर्ट, एक्सपोर्टर्स को आसान किस्तों पर लोन मुहैया कराएंगे। साथ ही अस्पतालों और हेल्थ सर्विस प्रोवाइडर्स भी इसका लाभ उठा पाएंगे।


Shreya

Shreya

Next Story