×

Indian Economy Report: 2029 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा भारत

Indian Economy Report: रिपोर्ट में कहा गया कि बढ़ती अनिश्चितताओं के कारण, वैश्विक अर्थव्यवस्था में 6 से 6.5 प्रतिशत की वृद्धि दर अब सामान्य बात हो गई है।

Neel Mani Lal
Written By Neel Mani Lal
Updated on: 4 Sep 2022 8:17 AM GMT
sbi research report india likely to become world third largest economy by 2029
X

SBI Research Report 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

Indian Economy Report 2029: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की एक शोध रिपोर्ट (SBI Research Report) के अनुसार, 2029 तक भारत के दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की संभावना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2014 के बाद से भारत द्वारा अपनाए गए रास्ते से पता चलता है कि देश को 2029 में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का टैग मिलने की संभावना है। 2014 में भारत 10 वें स्थान पर था। भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए यूनाइटेड किंगडम से आगे निकल चुका है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बढ़ती अनिश्चितताओं के कारण, वैश्विक अर्थव्यवस्था में 6 से 6.5 प्रतिशत की वृद्धि दर अब सामान्य बात हो गई है। भारत को 2027 में जर्मनी से आगे निकल जाना चाहिए। सबसे अधिक संभावना है कि विकास की मौजूदा दर पर 2029 तक जापान भी पीछे हो जाएगा। रिसर्च पेपर में ये भी कहा गया है, कि विश्व जीडीपी में भारत की हिस्सेदारी अब 3.5 प्रतिशत है, जो 2014 में 2.6 प्रतिशत थी। 2027 में वैश्विक जीडीपी में भारत द्वारा जर्मनी की वर्तमान हिस्सेदारी के चार प्रतिशत को पार करने की संभावना है।

रिपोर्ट में और क्या?

एसबीआई के मुख्य अर्थशास्त्री सौम्य कांति घोष (SBI Chief Economist Soumya Kanti Ghosh) द्वारा लिखी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'भारत को चीन में निवेश मंदी का लाभ मिलने की संभावना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सशक्तिकरण के व्यापक आधार पर विकास से भारत की प्रति व्यक्ति आय भी बढ़ेगी और यह बेहतर कल के लिए बल गुणक के रूप में कार्य कर सकता है। वैश्विक भू-राजनीति में सही नीतिगत दृष्टिकोण और जियो पॉलिटिक्स के साथ मौजूदा अनुमानों में ऊपर की ओर संशोधन भी हो सकता है।'

SBI अर्थशास्त्री ने GDP संख्या का दिया हवाला

एसबीआई की मुख्य अर्थशास्त्री ने हाल ही में पहली तिमाही के लिए जीडीपी संख्या का हवाला देते हुए, वित्त वर्ष 2013 के लिए पूरे साल के विकास के अनुमान को 7.5 प्रतिशत से घटाकर 6.8 प्रतिशत तक संशोधित किया था। पहली तिमाही में भारत की विकास दर संख्या ने 13.5 प्रतिशत की आम वृद्धि दिखाई, जो कि विनिर्माण क्षेत्र के खराब प्रदर्शन से नीचे चली गई है।

aman

aman

Next Story