Top

भाई वाह! बाजार में बहार है, सेंसेक्स पहली बार 39 हजार के पार है

 शुरुआती कारोबार में शेयर बाजार में रौनक दिखी। सेंसेक्स 265.54 अंक की बढ़त के साथ 38,938.45 अंक पर चल रहा है। इसकी अहम वजह धातु, वाहन और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में तेजी और वैश्विक संकेतों का सकारात्मक रुख है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 April 2019 6:04 AM GMT

भाई वाह! बाजार में बहार है, सेंसेक्स पहली बार 39 हजार के पार है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : शुरुआती कारोबार में शेयर बाजार में रौनक दिखी। सेंसेक्स 265.54 अंक की बढ़त के साथ 38,938.45 अंक पर चल रहा है। इसकी अहम वजह धातु, वाहन और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में तेजी और वैश्विक संकेतों का सकारात्मक रुख है।

ये भी देखें :अंडमान निकोबार में दो घंटे में मध्यम दर्जे की तीव्रता वाले भूकंप के नौ झटके महसूस किए गए

बीएसई का 30 कंपनियों का शेयर सूचकांक सेंसेक्स 38,858.88 अंक पर बढ़त के रुख के साथ खुला। जल्द ही यह 38,960.28 अंक पर पहुंच गया। हालांकि बाद में यह 265.54 अंक की बढ़त के साथ 38,938.45 अंक पर चल रहा है।

इसी तरह एनएसई का 50 कंपनियों का सूचकांक निफ्टी 62.60 अंक की तेजी के साथ 11,686.50 अंक पर चल रहा है।

ये भी देखें :पब्लिक की बेहद मांग पर, पैन के साथ आधार जोड़ने की समयसीमा 30 सितंबर तक बढ़ी

ब्रोकरों के अनुसार चीन-अमेरिका के बीच व्यापार वार्ता के चलते एशियाई बाजारों में सकारात्मक रुख देखा गया। इसके अलावा मार्च में चीन में विनिर्माण गतिविधियां बढ़ी हैं, इसका भी असर घरेलू बाजार पर पड़ा है।

शुक्रवार को सेंसेक्स 127 अंक की तेजी के साथ 38,672.91 अंक और निफ्टी 11,623.90 अंक पर बंद हुआ था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story