×

सौंदर्य उद्योग को ग्लोबल पॉवर प्रदान करता : सैलून फोर्सेज

Mayank Sharma

Mayank SharmaBy Mayank Sharma

Published on 26 Dec 2019 4:37 PM GMT

सौंदर्य उद्योग को ग्लोबल पॉवर प्रदान करता : सैलून फोर्सेज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

युवा उद्यमी सुदेश बागड़ी का मिशन सैलून फोर्सेज

हाल ही में चंडीगढ़ के एक युवा उद्यमी सुदेश बागड़ी से मुलकात हुई। मुलाकात में बातें निकलीं और बात निकली तो दूर तलक तक जानी ही थी। दरअसल इन युवा उद्यमिओं से जब भी मेरी मुलाकात होती है, तो इनका जोश देखकर मुझे एक थ्रिल सा महसूस होने लगता है। सुदेश चंडीगढ़ से एक रिक्रूटमेंट कम्पनी चलाते हैं। सैलून फोर्सेज नाम है इस रिक्रूटमेंटकम्पनी का। यह कम्पनी दुनिया भर के सैलून्स को मैन पॉवर या कह लें श्रम शक्ति उपलब्ध करवाती है। "सैलून फोर्सेज" ऑनलाइन प्लेटफॉर्म एवं कैंपस प्लेसमेंट माध्यमों से युवाओं को सैलून सेक्टर में रोजगार उपलब्ध करवा रही है। सैलून फोर्सेज भारत के चुनिंदा शहरों के साथ साथ लन्दन, न्यूयॉर्क, सिंगापुर एवं दुबई में भी अपनी सेवायें प्रदान कर रहे हैं। भारत में उनकी सेवाएं दिल्ली, मुंबई, बैंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, भुबनेश्वर, पुणे एवं अहमदाबाद शहरों में उपलब्ध हो चुकी हैं। और आगे का सफर जारी है।

ट्रेडील बिज़नेस इन्फोमीडिया प्राइवेट लिमिटेड

उद्यमिता के अपने सफर के बारे में बात करते हुए सुदेश बताते हैं, वैसे तो इस सफर के लिए तैयारी हमने लगभग एक दशक पहले ही शुरू कर दी थी। लेकिन व्यवस्थित रूप या कह लें आर्गनाइज्ड रूप में दिसंबर 2014 से इसकी शुरुआत हुई। हमने ट्रेडील बिज़नेस इन्फोमीडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम से कम्पनी की स्थापना की। और इसी कम्पनी की छत्र छाया में हम सैलून सेक्टर को एक नए रूप में परिभाषित करने करने का प्रयास कर रहे हैं। सैलून फोर्सेज ने अब इस क्षेत्र में अपनी जड़ें जमा ली हैं। जल्द ही हम ग्लैमलाउंज नामक बिज़नेस वेंचर भी स्थापित करने जा रहे हैं। ग्लैमलाउंज की तैयारी जोर शोर से चल रही है और सब कुछ ठीक ठाक रहा तो जनवरी 2020 में हम इसे लांच कर देंगे।

सुदेश बागड़ी के बारे में

सुदेश बागड़ी ट्रेडील बिज़नेस ग्रुप के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। सुदेश ने बीबीए एवं एमबीए यहीं भारत के एक टॉप बी-स्कूल से किया और फिर एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम के लिए अमेरिका चले गए। उन्होंने वहां विश्वविख्यात "पेनसिलवेनिया विश्वविद्यालय" के "द व्हार्टन स्कूल" से एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम इन बिज़नेस स्ट्रेटेजीज किया। वहीं से कैंपस सेलेक्शन हुआ और उन्होंने कई वर्षों तक भारत की एक चुनिंदा सैलून कंसल्टेंसी के लिए जनरल मैनेजर के रूप में काम किया। उद्यमिता के लिए उड़ान उन्हें एक न एक दिन भरनी ही थी। इसीलिए यहाँ काम करते हुए ही उन्होंने अनुभव अर्जित करने के साथ साथ इंडस्ट्री में कनेक्ट्स भी विकसित किये और इंडस्ट्री को समझा भी।

सैलून फोर्सेज की शुरुआत

अपनी शुरुआत सन्दर्भ में बात करते हुये सुदेश बागड़ी की आँखों में एक चमक सी आ जाती है। वो कहते हैं, स्वप्न तो बहुत पहले ही देखा जा चुका था। अब तो बस उस स्वप्न को सच करने की बारी थी। काम करने के ही दौरान मैं महसूस कर रहा था कि इस क्षेत्र में अवसर असीमित हैं। इस क्षेत्र की एक खासियत और है कि आप इस क्षेत्र में किसी भी स्केल पर काम कर सकते हैं। इस क्षेत्र में अपना खुद का बिज़नेस सेटअप करने लिए मुझे किन किन चीजों की आवश्यकता है। इस बारे में मैं हर दिन सोचने लगा। और फिर एक दिन मुझे समझ में आ गया कि "इस क्षेत्र में कैसे बिज़नेस को सेटअप किया जाय", यही मेरा बिज़नेस मॉडल होगा।

आईडिया एवं बिज़नेस मॉडल को जमीन पर उतारना

आईडिया को असलियत में उतारने के लिए मैं उसे कागज पर उकेरने लगा। एक स्टार्टअप को इस क्षेत्र में शुरुआत करने पर क्या क्या समस्यायें आ सकती हैं उन्हें लिखने लगा। कुशल एवं प्रशिक्षित स्टाफ और उनका रिक्रूटमेंट इस क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या समझ में आई। इसका समाधान सोचने लगा। देश के चुनिंदा सौंदर्य एवं सैलून प्रशिक्षण संस्थानों में आना जाना लगा ही रहता था। अब वहाँ जाता तो और भी बारीकी से चीजों को देखता। समस्याओं के समाधान पर गौर करता।

जल्द ही समझ में आने लगा कि प्रशिक्षित श्रम शक्ति की कुशलता एवं गुणवत्ता को समझने के लिए मानव संसाधन से सीधा संवाद आवश्यक है। वह किस स्तर के संस्थान में प्रशिक्षित हो रहा है और कितना कुछ सीख रहा है। यह बहुत महत्वपूर्ण है। मानव संसाधन को रिक्रूट करके उसे अपने यहाँ ही प्रशिक्षित करना आज के दौर में व्यावहारिक नहीं रह गया है। सस्टेनेबल बिज़नेस मॉडल ही आज के दौर की आवश्यकता है, जिसमें एक भी पैसे की फिजूलखर्ची के लिए कोई जगह नहीं होती है। इसी वजह से प्रशिक्षण एवं विकास की महत्ता एवं आवश्यकता ने अपनी जगह निश्चित कर ली है। उत्पाद, इंफ़्रास्ट्रक्चर, मार्केटिंग स्ट्रेटजीस एवं सौंदर्य उद्योग में शिक्षा के महत्त्व इत्यादि को मैंने समझा और उन्हें ही सैलून फोर्सेज की सेवाओं अथवा सर्विसेज के रूप में विकसित किया।

आत्मविश्वास से लबरेज एक युवा

इस सब बातचीत के दौरान सुदेश बागड़ी में मुझे आत्मविश्वास से लबरेज एक युवा दिख रहा था। दरअसल ग्राउंड लेवल पर आपका अनुभव ही आपके व्यक्तित्व का निर्माण करता है। आगे बात करते हुए सुदेश बताते हैं, ट्रेडिल बिज़नेस ग्रुप की स्थापना के पांच वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। सैलून फोर्सेज आज देश और दुनिया के सभी टॉप सैलून चेन्स एवं ब्यूटी स्टूडियोज के साथ काम कर रहा है। सैलून फोर्सेज आज इस इंडस्ट्री के लिए आवश्यक मानव संसाधन हेतु एक विशेषज्ञ अथवा स्पेशलाइज्ड एजेंसी बन चुकी है। दरअसल इस विशेषज्ञता के लिए अब हम इतने स्थापित हो चुके हैं कि भारत में हमारा किसी अन्य संस्थान से कोई कम्पटीशन भी नहीं रह गया है।

सैलून फोर्सेज की कार्य प्रणाली

सैलून फोर्सेज सैलून्स के क्षेत्र में काम करने वाले मानव संसाधन को सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण प्राप्त करने में मदद कर रहा है। पहले से काम कर रहे या स्थापित सैलून्स को उनके उन्नयन या अपग्रेडेशन में भी हम उनकी मदद करते हैं। हम उन्हें उचित दिशा निर्देशन प्रदान करते हुए उनके व्यक्तित्व निर्माण पर भी ध्यान देते हैं। जिससे कि वे सौंदर्य उद्योग में एक विश्वस्तरीय एवं विश्वसनीय प्रोफेशनल बन सकें। हम व्यक्तिगत रूप से सभी उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग करने के उपरांत ही उन्हें नियुक्ति के लिए आगे बढ़ाते हैं। अगर उम्मीदवार में कुछ कमी रह गई है तो हम जोर देते हैं कि उम्मीदवार उस कमी को दूर करे और एक उत्कृष्ट पेशेवर बनकर ही आगे बढ़े। सैलून फोर्सेज कुशल, अनुभवी एवं प्रतिभाशाली जनशक्ति को ही आगे बढ़ाता है। इस मामले हम किसी प्रकार का समझौता न तो खुद करते हैं और न ही उम्मीदवारों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। इस क्षेत्र में मानव संसाधन की गुणवत्ता का अपना एक महत्त्व है और हम इस बात को अच्छी तरह से समझते हैं।

ग्लोबल टाईअप्स एवं एसोसिएशन्स

सैलून फोर्सेज का अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शीर्ष सौंदर्य उत्पाद कम्पनियों के साथ भी टाईअप एवं एसोसिएशन है। हम सैलून्स को MAC, IKONIC, L’Oréal, wella , D’Vinc इत्यादि अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड्स के उत्पाद उपलब्ध करवाते हैं। वह भी उचित मूल्य या कह लीजिये बाजार से काफी काम दामों पर। हमारे पास सौंदर्य उत्पादों की एक विस्तृत शृंखला उपलब्ध है। सैलून फोर्सेज सैलून चेन्स को उनका मुनाफा बढ़ाने और मार्किट शेयर अधिकतम करने में भी मदद कर रहा है। उनकी बिज़नेस डेवलपमेंट टीम को व्यापारिक रणनीति एवं प्रबंधकीय कौशल बढ़ाने में भी मदद कर रहा है। सैलून फोर्सेज JCB, Lakmé academy, LTA ACADEMY, VLCC एवं ORANE इत्यादि जैसे शीर्ष सौंदर्य शिक्षा संस्थानों के साथ भी विभिन्न साझेदारियों में सम्बद्ध है।

ब्यूटी इंडस्ट्री में सैलून फोर्सेज की जगह

सैलून फोर्सेज दुनिया भर की ब्यूटी इवेंट्स, एक्सहिबीशन्स एवं फैशन शोज का भी हिस्सा बनता रहता है। ग्राहकों की एक लम्बी फेहरिस्त उसके प्रोफोलिओ में विद्यमान है और तेजी के साथ बढ़ भी रही है। ग्राहकों के अधिग्रहण एवं संसाधनों के विकास के लिए सैलून फोर्सेज लगातार काम कर रहा है। कुछ ही वर्षों में सैलून फोर्सेज ने जैसे अपनी जगह बनाई है उसके लिए सुदेश बागड़ी के मिशन और विज़न दोनों की सरहना की जानी चाहिए। इस वर्ष के इंडिया बिज़नेस अवार्ड्स 2019 में सैलून फोर्सेज को बेस्ट रिक्रूटमेंट सर्विसेज टू डाइवर्स ब्यूटी इंडस्ट्रीज केटेगरी में सम्मानित भी किया गया है। यह अवार्ड बलिन्डविंक द्वारा जी बिज़नेस, द इकनोमिक टाइम्स एवं एंट्रेप्रेनुएर के सहयोग से आयोजित किया जाता है।

वैसे अभी तो सुदेश बागड़ी की यह शुरुआत भर ही है, असल पिक्चर तो अभी बाकी है। ब्यूटी इंडस्ट्री, सैलून चेन्स, फैशन एवं फिल्म उद्योग पर एक दम छा से जाने के लिए ट्रेडील बिज़नेस ग्रुप अब तैयार है। सुदेश अंत में आत्मविश्वास के साथ मुस्कुराते हुए बस यही कहते हैं, देखते चलिए 2020 में बहुत कुछ नया हम करने को तैयार हैं।

Mayank Sharma

Mayank Sharma

Next Story