×

NDA Topper Shanan Dhaka : एनडीए में महिलाओं के पहले बैच की टॉपर बनीं शनन ढाका, ऐसे पाई सफलता

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले साल केंद्र सरकार ने एनडीए में लड़कियों के प्रवेश की अनुमति दी थी। जिसके पहले बैच में शनन ढाका ने टॉप किया है।

aman
Updated on: 2022-06-23T12:43:59+05:30
shanan dhaka entrance topper of nda 1st womens batch in india
X

NDA Topper Shanan Dhaka

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

NDA Topper Shanan Dhaka : भारत की पहली महिला एनडीए बैच (Women NDA Batch) में एडमिशन के लिए हुए एग्जाम में हरियाणा के रोहतक जिले (Rohtak District Of Haryana) के गांव सुंडाना की बेटी शनन ढाका (NDA Topper Shanan Dhaka) ने पहली रैंक हासिल की है। शनन का चयन लेफ्टिनेंट (lieutenant) के लिए हुआ है।

बता दें कि, शनन ढाका अपने परिवार की तीसरी पीढ़ी है जो सेना के लिए चयनित हुई है। इससे पहले, उनके दादा सूबेदार चंद्रभान ढाका और पिता नायक सूबेदार विजय कुमार ढाका भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। अपने पिता और दादा से प्रेरित होकर शनन ने आर्मी में भर्ती होकर देश सेवा का मन बनाया।

आर्मी स्कूल में पढ़ी हैं शनन

शनन ढाका के पिता विजय कुमार ने बताया, कि वो बीते 5 वर्षों से चंडीगढ़ में रह रहे हैं। उनके फौज में होने की वजह से शनन की पढ़ाई शुरुआत से ही आर्मी स्कूलों में हुई है। शनन ढाका ने चार साल तक रुड़की आर्मी स्कूल (Roorkee Army School), तीन साल जयपुर (Jaipur Army School) और पांच साल तक चंडी मंदिर स्थित आर्मी स्कूल (Chandigarh Army School) में पढ़ाई की है। शनन ढाका ने पिछले साल ही दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) में स्नातक कोर्स (Undergraduate Course) में दाखिला लिया था। शनन लेडी श्रीराम कॉलेज में दाखिला लिया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद NDA में लड़कियों का प्रवेश

उल्लेखनीय है कि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले साल केंद्र सरकार ने एनडीए में लड़कियों के प्रवेश की अनुमति दी थी। जिसके पहले बैच में शनन ढाका ने टॉप कर अपने परिवार और हरियाणा का नाम रोशन किया है।

शनन ने ऐसे की तैयारी

शनन ढाका अपनी सफलता पर कहती हैं कि, एनडीए परीक्षा के तैयारी के लिए उन्हें बहुत कम समय मिला था। शनन कहती हैं, NDA परीक्षा के लिए उन्हें महज 40 दिन का समय मिला था। मगर, उन्होंने पूरी जान लगाकर इस परीक्षा के लिए ताकत झोंक दी। ठान लिया कि ये परीक्षा निकालनी ही है। उसने बीते 10 वर्षों के प्रश्न पत्र को देखा और बार-बार बनाती रही। बता दें कि NDA की परीक्षा में 2:30 घंटे का समय दिया जाता है। शनन ने महज दो घंटे में ही पेपर हल कर दिया था। लिखित एग्जाम (NDA Written Exam) पास करने के बाद उनका इंटरव्यू हुआ। पांच दिन तक चले इंटरव्यू में शनन ने अपना आत्मविश्वास बनाए रखा। जिसका नतीजा आज दुनिया के सामने है।

aman

aman

Next Story