Top

शाह ने घायल जवानों का बढ़ाया हौसला, कहा- व्यर्थ नहीं जाएगी शहादत

बीजापुर में नक्सली हमले में घायल हुए जवानों से आज गृह मंत्री ने रायपुर के अस्पताल में मुलाकात की और उनका हाल चाल जाना।

Shreya

ShreyaPublished By Shreya

Published on 5 April 2021 3:13 PM GMT

शाह ने घायल जवानों का बढ़ाया हौसला, कहा- व्यर्थ नहीं जाएगी शहादत
X

शाह ने घायल जवानों का बढ़ाया हौसला, कहा- व्यर्थ नहीं जाएगी शहादत (फोटो- ट्विटर)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायपुर: छत्तीसगढ़ में बीते शनिवार को बीजापुर में नक्सली हमले में घायल हुए जवानों से आज यानी सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रायपुर के अस्पताल में मुलाकात की और उनका हाल चाल जाना। इससे पहले उन्होंने नक्सली हमले में शहीद हुए 22 जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। बता दें कि शनिवार को हुए नक्सली हमले में 22 जवान मारे गए थे, जबकि 31 अन्य जवान घायल हुए हैं।

देश आपके शोर्य और बलिदान को कभी भुला नहीं पाएगा- शाह

शाह ने सोमवार सुबह एक ट्वीट करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का सामना करते वक्त शहीद हुए बहादुर सुरक्षाकर्मियों को जगदलपुर में श्रद्धांजलि अर्पित की। देश आपके शोर्य और बलिदान को कभी भुला नहीं पाएगा। पूरा देश शोक संतप्त परिवारों के साथ खड़ा है। अशांति के विरुद्ध इस लड़ाई को हम अंतिम रूप देने के लिए संकल्पित हैं।

बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

गृह मंत्री शाह ने नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले के बासागुड़ा में स्थित सीआरपीएफ कैंप में मुठभेड़ में शामिल जवानों से भी बातचीत की। यहां कैंप को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि आप ने अपने कुछ साथी ज़रूर गंवाए हैं। आपके साथियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। जिस मदसद के लिए उन्होंने बलिदान दिया, निश्चित रूप से वह पूरा होगा और जीत हमारी होगी।

इस लड़ाई को हमें अंजाम तक पहुंचाना है

उन्होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा नक्सलवाद को समाप्त करने के उनके साहस व उनकी वीरता को नमन करता हूं और विश्वास से कह सकता हूं कि यह लड़ाई शीघ्र ही अंजाम तक पहुंचेगी। वहीं, केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि यह लड़ाई है और इस लड़ाई को हमें अंजाम तक पहुंचाना है। जो हथियार डालकर आना चाहते हैं उनका स्वागत है, लेकिन हाथ में अगर हथियार है तो हमारे पास भी कोई रास्ता नहीं है। कमियों को सुधारने के लिए तुरंत कार्रवाई करेंगे।


Shreya

Shreya

Next Story