Top

बीजापुर मुठभेड़ में 22 जवान शहीद, नक्सलियों ने लूटे जवानों के हथियार

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों के साथ हुए मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं।

Dharmendra Singh

Dharmendra SinghBy Dharmendra Singh

Published on 4 April 2021 9:01 AM GMT

बीजापुर मुठभेड़ में 22 जवान शहीद, नक्सलियों ने लूटे जवानों के हथियार
X

फोटो: सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायपुर: छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों के साथ हुए मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं। प्रदेश के डीजी डीएम अवस्थी ने यह पुष्टि की है। अब तक कुल 22 जवानों के शव बरामद किए जा चुके हैं। इस मुठभेड़ में 31 जवान घायल हैं।

छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पर हुआ हमला इस साल का सबसे बड़ा नक्सली हमला है। मुठभेड़ के बाद नक्सलियों ने सुरक्षाकर्मियों से दो दर्जन से ज़्यादा हथियार लूट लिए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नक्सली जवानों के कपड़े और जूते भी लेकर चले गए हैं।

सुरक्षाबलों ने बीजापुर में ऑपरेशन चलाया था

नक्सलियों ने देसी रॉकेट लॉन्चर और एलएमजी से जवानों पर हमला बोला था। सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के गढ़ बीजापुर में यह ऑपरेशन चलाया था। सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस को सूचना मिली थी कि नक्सलियों का कमांडर हिडमा हमला वाले स्थान से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पोवर्ती गांव में है। इसके बाद सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस की डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड ने एक संयुक्त ऑपरेशन चलाया था।
नक्सलियों के संगठन पीपुल्स लिबरेशन ग्रुप आर्मी प्लाटून वन की यूनिट ने इस हमले को अंजाम दिया है। इस संगठन का नेतृत्व हिडमा करता है। सुरक्षाबलों ने भी इस ऑपरेशन में 15 नक्सलियों को मार गिराया है।
राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने जताया दुख
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले पर दुख जताया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्य​क्त कीं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोंदी ने भी गहरा दुख जताया है। उन्होंने कहा कि मेरे विचार छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ हैं। वीर शहीदों की कुर्बानियों को हमेशा याद रखा जाएगा। घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना है।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी जवानों के शहादत पर गहरा दुख जताया। उन्होंने कहा कि देश उनकी वीरता को कभी नहीं भूलेगा। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए हमारे बहादुर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को नमन करता हूं। देश उनकी वीरता को कभी नहीं भूलेगा। मेरी संवेदना उनके परिवारों के साथ है। हम शांति और प्रगति के इन दुश्मनों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। घायलों के जल्द ठीक होने की कामना है।'
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी सुरक्षाकर्मियों के शहादत पर शोक जताया है। उन्होंने मुठभेड़ में घायल सैनिकों के लिए बेहतर इलाज की सुविधा मुहैया कराने का निर्देश दिया।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story