Top

वैक्सीनेशन सेंटर पर बड़ी लापरवाही, 18 से कम उम्र वालों को लगाया टीका

कुछ निजी वैक्सीनेशन सेंटर्स (Vaccination Centers) पर 18 साल से कम उम्र के लोगों को भी कोरोना का टीका लगाया गया है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 26 March 2021 8:49 AM GMT

वैक्सीनेशन सेंटर पर बड़ी लापरवाही, 18 से कम उम्र वालों को लगाया टीका
X

वैक्सीनेशन सेंटर पर बड़ी लापरवाही, 18 से कम उम्र वालों को लगाया टीका (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print


रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां पर कोविड टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) को लेकर नियमों की अनदेखी करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि राजधानी के कुछ प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर्स (Private Vaccination Centers) पर 18 साल से कम उम्र के लोगों को भी कोरोना का टीका लगाया गया है।

अस्पतालों को जारी किया गया नोटिस

हालांकि अब ऐसा करने वाले अस्पतालों को नोटिस जारी कर दिया गया है। किशोरों का वैक्सीनेशन करने वाले कोविड टीकाकरण केंद्र वाले सभी निजी अस्पतालों को नोटिस जारी कर आखिरी चेतावनी दी गई है। ऐसे अस्पतालों से कहा गया है कि दोबारा ऐसा मामला सामने आने पर उनके यहां के वैक्सीनेशन सेंटर्स को रद्द कर दिया जाएगा।

जिला चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी ने कही ये बात

इस बारे में बताते हुए जिला चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी मीरा बघेल ने बताया कि मीडिया के जरिए एक निजी वैक्सीनेशन सेंटर पर 18 साल से कम उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन दिए जाने का मामला सामने आया है। जिसके बाद सभी अस्पातालों को नोटिस जारी कर चेतावनी दी गई है कि अगर ऐसा दोबारा होता है तो उनके यहां का टीकाकरण केंद्र रद्द कर दिया जाएगा।

अभी इन लोगों को दी जा रही वैक्सीन

अधिकारी ने कहा कि फिलहाल कोरोना वैक्सीन का लिमिटेड स्टॉक है और वैक्सीनेशन में भारत सरकार के नियमों का भी पालन करना है। बता दें कि केंद्र के नियमों के मुताबिक, फिलहाल 60 साल से ऊपर के लोगों या 45 साल से ज्यादा उम्र के ऐसे लोगों का टीकाकरण किया जाएगा, जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं।

एक अप्रैल से शुरू होगा वैक्सीनेशन का तीसरा चरण

वहीं, एक अप्रैल से शुरू हो रहे टीकाकरण के तीसरे चरण में 45 वर्ष से ऊपर वाले सभी को टीका लगाया जाएगा। इसका मतलब है कि इस उम्र के लोगों को वर्तमान की तरह अपनी बीमारी का सर्टिफिकेट दिखाने की जरुरत नहीं होगी। अभी सरकार ने 18 साल से कम उम्र के किशोरों को वैक्सीन लगाने की अनुमति नहीं दी है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story