Top

Chhattisgarh: थप्पड़बाज DM हटाए गए, इस IAS को मिली सूरजपुर में तैनाती

Chhattisgarh: सोशल मीडिया पर आईएएस रणबीर शर्मा को हटाने की मांग उठने के बाद सीएमओ कार्यालय ने आदेश जारी कर सूरजपुर कलेक्टर को उनके पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 23 May 2021 6:20 AM GMT

Chhattisgarh: थप्पड़बाज DM हटाए गए, इस IAS को मिली सूरजपुर में तैनाती
X

छत्तीसगढ़ में सूरजपुर डीएम की फोटो सौजन्य से 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Chhattisgarh : छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में डीएम रणबीर सिंह का बदसलूकी करता वीडियो वायरल होने के बाद अब उनपर गाज गिरी है। सोशल मीडिया पर आईएएस रणबीर शर्मा को हटाने की मांग उठने के बाद सीएमओ कार्यालय ने आदेश जारी कर सूरजपुर कलेक्टर को उनके पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया। वहीं आईएसएस गौरव कुमार सिंह को जिले कलेक्टर के पद पर तैनाती भी दे दी।

दरअसल, दवा लेने के लिए घर से निकले युवक को छत्तीसगढ़ में जिलाधिकारी रणबीर शर्मा ने पीट दिया। इतना ही नहीं उन्होंने युवक का मोबाइल फोन भी पटककर तोड़ दिया। सोशल मीडिया पर किरकिरी के बाद जिलाधिकारी ने माफी मांग ली लेकिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उनके इस रवैये से नाराज दिखे और कलेक्टर रणबीर शर्मा को हटाने के निर्देश जारी कर दिए। इसके अलावा आईएएस एसोसिएशन ने भी रणबीर शर्मा के व्यवहार की निंदा की।

मामले में सीएम बघेल ने ट्वीट किया कि 'सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।'

उन्होने आगे लिखा, किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है. इस घटना से क्षुब्ध हूँ। मैं नवयुवक व उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूँ।

सूरजपुर डीएम के पद से रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के बाद आईएएस गौरव कुमार सिंह को जिले का नया कलेक्टर बनाया गया है। मामले में राज्य सरकार ने आदेश भी जारी कर दिया है। बता दें कि रणवीर शर्मा को मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर भेजा दिया गया है।

छत्तीसगढ़ डीएम का विवाद

छत्तीसगढ़ के सुरजपुर जिले का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। जिसमें दिखाई दे रहा है कि जिलाधिकारी रणवीर शर्मा गाड़ी से उतरकर तेजी के साथ एक युवक की ओर जा रहे हैं। वह युवक उन्हें बता रहा है कि उसकी दादी बीमार हैं। दवा का पर्चा दिखा रहा है। मोबाइल फोन में भी वह कुछ दिखाने की कोशिश करता है तो जिलाधिकारी उसके हाथ से मोबाइल फोन लेकर देखते हैं और जमीन पर फोन पटक देते हैं। इसके बाद वह खुद उस युवक को चांटा मारते हैं। इस दौरान वह कहते हैं कि मोबाइल फोन से रिकार्डिंग कर रहा था।

जिलाधिकारी के साथ मौजूद पुलिसकर्मी आगे बढ़कर युवक को पीटने लगते हैं तो जिलाधिकारी कहते हैं कि मारो, और मारो। रिकार्डिंग कर रहा था। उनके इस बयान से प्रतीत होता है कि वह युवक पुलिस व जिलाधिकारी की उस कार्रवाई का वीडियो बना रहा था जिसमें वह लोगों को रोक कर उनसे पूछताछ कर रहे थे। मुमकिन है कि वह लोगों से अभद्र व्यवहार कर रहे हों जिसका वीडियो बनाने का शक होने पर उन्होंने युवक की पिटाई की है। Also Read - CGBSE 10th Result 2021: परीक्षा में कोई नहीं हुआ फेल, 97% स्टूडेंट्स फर्स्ट डिवीजन

यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो हजारों लोगों ने डीएम की निंदा की है। लोगों ने कहा कि ऐसे व्यक्ति को डीएम पद पर रहने का अधिकार नहीं है। इसे तुरंत सस्पेंड किया जाना चाहिए। कुछ लोगों ने कहा कि पहले अगरतला में डीएम का ऐसा व्यवहार दिखा और अब छत्तीसगढ़। इससे समझा जा सकता है कि संघ लोक सेवा आयोग किस तरह की भर्तियां कर रहा है। उसकी चयन प्रक्रिया ठीक नहीं है।

डीएम ने मांगी माफी लेकिन झूठ भी बोला

सूरजपुर के जिलाधिकारी रणबीर शर्मा ने एक वीडियो जारी कर अपने कृत्य की माफी मांगी है लेकिन इस वीडियो में भी वह झूठ बोलते दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने लोगों की सहानुभूति पाने के लिए अपने माता—पिता और खुद के कोरोना संक्रमित हो चुकने की कहानी भी सुनाई है। उनका दावा है कि युवक ने सड़क पर घूमने की झूठी वजह उन्हें बताई। पहले दवाई लेने जाने का बहाना किया लेकिन जब दवा का पर्चा नहीं मिला तो दादी के बीमार होने की बात बताई। इस पर आवेश में आकर उन्होंने युवक को चांटा मार दिया।


Shivani

Shivani

Next Story