Top

No Vaccine No Salary: सरकारी कर्मियों के लिए आदेश- वैक्सीन नहीं लगवाई तो नहीं मिलेगी सैलरी

No Vaccine No Salary : सरकार ने कहा है कि जो भी कर्मचारी कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाएंगे उन्हें जून की सैलरी नहीं दी जाएगी।

Network

NetworkNewstrack NetworkAshiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 29 May 2021 7:33 AM GMT

No Vaccine No Salary
X

कांसेप्ट इमेज (Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Corona Vaccination : देश इन दिनों कोरोना वायरस के दूसरे लहर (Coronavirus second wave) का कहर झेल रहा है। कोरोना के सेकेंड वेव के साथ ही वैक्सीनेशन का काम भी तेजी से किया जा रहा है। इस बीच छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जनजाति इलाके के लिए सरकार की तरफ से एक अजीबोगरीब फरमान जारी किया गया है।

सरकार की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि गौरेल्ला-पेंड्रा-मरवाही जिले में जो भी अधिकारी या कर्मचारी कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) नहीं लगवाएंगे उन्हें जून महीने की सैलरी (Salary) नहीं दी जाएगी। ये आदेश जनजाति विकास विभाग (Tribal Development Department) की तरफ से जारी किया गया है।

Vaccination के लिए अजीब आदेश

एक रिपोर्ट के मुताबिक कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के बाद डिस्ट्रिक्ट कलेक्ट्रेट (District collectorate) में रिकॉर्ड के लिए कोविड वैक्सीनेशन कार्ड (Covid Vaccination Card) की कॉपी सबमिट करनी होगी, जिसके बाद ही उनकी सैलरी आएगी। इस आदेश पर कई लोगों ने नाराजगी जाहिर की है।

टीका नहीं लगवाने वालों को नहीं मिलेगा जून महीने का वेतन

इस बारे में जनजाति विकास विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर के. एस. मसराम ने कहा कि जिन लोगों ने वैक्सीन (Vaccine) नहीं लगवाई है, उनकी जून महीने की सैलरी (Salary) रोक दी जाएगी। इसके लिए कर्मचारी खुद जिम्मेदार होंगे। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इस आदेश का उद्देश्य कोरोना के खिलाफ लड़ाई में विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करना है।

90 फीसदी कर्मचारी लगवा चुके हैं वैक्सीन

के. एस. मसराम ने आगे कहा कि हर किसी को इस आदेश के रिजल्ट के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने दावा किया है कि आदेश जारी होने के बाद स्टाफ के 95 फीसद सदस्यों ने वैक्सीन शॉट्स लिए हैं। साथ ही कहा कि हमारा उद्देश्य सरकारी कर्मचारियों को परेशान करना या उनकी सैलरी रोकने का नहीं है, बल्कि 100 फीसदी वैक्सीनेशन करवाने का है।

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस (Coronavirus) की रफ्तार धीमी हुई है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh corona update) में गुरुवार को कोरोना के नए 2,825 केस पाए गए। इस दौरान 69 मरीजों की वायरस की वजह से मौत हो गई। वहीं 6,715 मरीज कोरोना संक्रमण से रिकवर हुए।

Ashiki

Ashiki

Next Story