Top

छत्तीसगढ़ नक्सली हमला: मुठभेड़ में चली तड़ातड़ गोलियां, कई लोगों की मौत

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस नक्सल प्रभावित जिले में सीमावर्ती क्षेत्र में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच गोलीबारी हुई।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 18 May 2021 3:28 AM GMT

There has been an encounter between Naxalites and security personnel in Chhattisgarh.
X

नक्सली हमला(फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के नक्सर एरिया सुकमा और बीजापुर से हमले की बड़ी खबर आ रही है। यहां नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस नक्सल प्रभावित जिले में सीमावर्ती क्षेत्र में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच गोलीबारी हुई। इस गोलाबारी में तीन लोगों की मौत हो गई है जबकि एक अन्य घायल हो गया है। वहीं गांव वालों ने इस घटना में नौ लोगों के मारे जाने को लेकर दावा किया है।

ऐसे में बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने जानकारी देते हुए सोमवार को बताया कि सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में स्थित सिलगेर गांव में बने नए पुलिस शिविर के करीब सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई है। वहीं सुंदरराज ने बताया कि अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि घटना में नक्सलियों की मौत हुई है या ग्रामीणों की।

नक्सली बड़ी संख्या में पहुंचे

आगे सुंदरराज ने बताया कि बीते कुछ दिनों से सिलगेर गांव और पड़ोसी अन्य गांवों के ग्रामीण वहां बने पुलिस शिविर का जमकर विरोध कर रहे थे। ये क्षेत्र धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र है तथा इस महीने की 12 तारीख को यहां शिविर की स्थापना की गई है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और राज्य के बलों को क्षेत्र में बन रहे सड़क की सुरक्षा में यहां ठहराया गया है।

हमले के बारे में पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिविर का विरोध कर रहे ग्रामीण रविवार रात विरोध प्रदर्शन करने के बाद लौट गए थे, लेकिन आज दोपहर बाद नक्सली बड़ी संख्या में ग्रामीणों को लेकर वहां पहुंचे और शिविर पर पथराव शुरू कर दिया।

50 से अधिक लोग घायल

आगे उन्होने बताया कि इस दौरान जगरगुंडा एरिया कमेटी के नक्सली वहां मौजूद थे। पथराव के दौरान ही नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी भी शुरू कर दी, जिसका सुरक्षा बलों ने जवाब दिया। इस दौरान भीड़ ने वहां खड़े एंटी लैंडमाइन व्हीकल (बारूदी सुरंग रोधी वाहन) का नुकसना पहुंचाया।

हमले पर पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि बाद में जब मामला शांत हुआ तब सुरक्षा बलों ने घटनास्थल की तलाशी ली। इस दौरान वहां से तीन पुरुषों का शव बरामद किया गया। वहीं इस घटना में एक व्यक्ति घायल हुआ है। घायल को बीजापुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

फिलहाल घटना में मारे गए लोगों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि घटना में नक्सली मारे गए या ग्रामीण। उन्होंने बताया कि घटना के बाद पुलिस और सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए थे। इस दौरान उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया तथा ग्रामीणों से बात की।

दूसरी तरफ गांव के नंदा राम मरकाम ने दावा किया है इस हमले में नौ लोगों की मौत हुई है तथा 50 से अधिक लोग घायल हुए हैं। आगे मरकाम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र और अस्पताल की मांग कर रहे है न कि पुलिस शिविर की।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story