×

Nirav Modi: भारत प्रत्यर्पण से डरे नीरव मोदी का मानसिक संतुलन कमजोर, कर सकता है आत्महत्या!

Nirav Modi -भगौड़े नीरव मोदी के वकीलों ने दलील दी कि भारत भेजने पर नीरव आत्महत्या कर सकता है। मुंबई की आर्थर रोड जेल की बदहालियत का जिक्र करते हुए कहा कि नीरव के मानसिक स्वास्थ्य को खतरा बढ़ सकता है।

Network
Published on 22 July 2021 4:32 AM GMT
नीरव मोदी की वापसी, जल्द भारत में होगा भगोड़ा, ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी
X

नीरव मोदी (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Nirav Modi: भारत से 14000 करोड की धोखाधड़ी के बाद ब्रिटेन भागने वाले नीरव मोदी को देश वापस लाने का कवायद तेज हो गई है। हालांकि भारत प्रत्यर्पण (Extradition India) से बचने के लिए नीरव मोदी हर पैतरा अपना रहा है। नीरव मोदी की तरफ से उसके वकील लंदन हाईकोर्ट (London High Court) में तरह तरह की दलीले दे रहें हैं। नीरव मोदी के वकीलों ने अपने मुवक्किल का पक्ष रखते हुए कहा कि भारत में कोरोना की स्थिति बेहद खराब है, खास कर मुबंई की आर्थर रोड जेल (Mumbai Arthur Road Jail), जहां नीरव मोदी को कैद किया जाना है। ऐसे माहौल में भारत भेजने से नीरव मोदी की हालत आत्महत्या करने जैसी हो सकती है।

भारत प्रत्यर्पण से बचने के लिए नीरव मोदी के बहाने

दरअसल, पीएनबी बैंक घोटाले (PNB Scam) के आरोपी डायमंड कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन से वापस भारत लाने का रास्ता उस समय साफ हो गया जब ब्रिटेन (Britain) के गृह मंत्री ने नीरव के प्रत्यर्पण (Nirav Modi Extradition) को हरी झंडी दे दी। हालंकि इसके बाद नीरव ने ब्रिटेन के हाईकोर्ट में प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील की। पहले चरण में हारने के बाद नीरव मोदी ने नई अपील दायर की है। अब नीरव मोदी ने लंदन की कोर्ट में भारत प्रत्यर्पण से बचने के लिए कई तरह के बहाने बनाना शुरू कर दिया।

मुंबई की आर्थर रोड जेल भेजे जाने पर नीरव कर सकता है आत्महत्या

भगौड़े नीरव मोदी के वकीलों ने दलील दी कि भारत भेजने पर नीरव आत्महत्या कर सकता है। उन्होने कोर्ट में मुंबई की आर्थर जेल की बदहालियत का जिक्र करते हुए कहा कि नीरव को जेल भेजने पर उसके मानसिक स्वास्थ्य को खतरा बढ़ सकता है। नीरव के वकीलों ने ये भी कहा कि आर्थर रोड जेल में डाॅक्टर के साथ प्राइवेट कंसल्टेशन की अनुमति नहीं दी गई है। नीरव मोदी की मानसिक स्थिति कमजोर होने की दलील देते हुए वकील ने कहा, अगर उनपर दबाव बढ़ा तो वह मानसिक तौर पर बीमार हो सकते हैं।


बता दें कि भारत प्रत्यर्पण के बाद नीरव को मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखे जाने की संभावना है। इसी को आधार बना कर नीरव के वकील ने कोर्ट को बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना बढ़ रहा है। जेल पर भी कोरोना का प्रभाव पड़ रहा है। जेल में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति भी बहुत खराब है।

क्या है नीरव मोदी पर आरोप?

गौरतबल है कि हीरा कारोबारी भगोड़ा नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ 14,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले में 49 वर्षीय भगोड़ा नीरव वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में प्रत्यर्पण के खिलाफ केस लड़ रहा है। घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के केस में आरोपी नीरव मोदी पिछले साल मई से लंदन की एक जेल में बंद है। नीरव को पिछले साल लंदन महानगर पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड ने 19 मार्च को गिरफ्तार किया था।

Shivani

Shivani

Next Story