Top

दरिंदों ने पार की सारी हदें, मासूम का फाड़ दिया पेट- तोड़ दिए दोनों हाथ

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 31 Dec 2017 12:42 PM GMT

दरिंदों ने पार की सारी हदें, मासूम का फाड़ दिया पेट- तोड़ दिए दोनों हाथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर : यूपी के शाहजहांपुर में मासूमों की हत्याओं का दौर लगातार जारी है। आज फिर एक 11 साल के मासूम को धारदार हथियार से मौत के घाट उतार दिया गया। खून से सना शव मिलने के बाद गांव में दहशत का माहौल है। आपको बता दें कि 5 दिन पहले भी एक 11 साल के मासूम की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी।

हत्यारों ने मासूम बच्चे के शव के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दीं। धारदार हथियार से बच्चे का पेट चीर दिया। दोनों हाथ तोड़ दिए। साथ ही बच्चे का चेहरा भी कुचल दिया। जिससे बच्चे की दोनों आंखे बाहर निकल आईं।

सूचना के बाद मौके आए एसपी ग्रामिण समेत भारी पुलिस बल ने मामले की जांच शुरू कर दी है। परिजन किसी भी रंजिश से इंकार कर रहे हैं। लेकिन पुलिस हत्या को रंजिश से ही जुड़ा मान रही है।

यह दिल दहला देने वाली घटना थाना कटरा के पिपरी गांव की है। यहां के रहने वाले कल्याण का 11 साल का बेटा अमित कल शाम से घर से गायब था। मृतक के परिजनों के मुताबिक मृतक बच्चे के दादा दादी का घर उसके घर से कुछ दूर पर है। ज्यादातर बच्चा अपने दादी के घर रात मे सो जाता था तो कभी वह अपने घर सोता था। लेकिन कल शाम मे जब बेटा खाना खाने के बाद गायब हुआ तो हमने सोचा कि उसका बेटा दादा दादी के घर सो गया होगा। लेकिन उसका बेटा दादा दादी के घर में नहीं था। आज जब सुबह गांव के लोग खेतों पर जाने के लिए निकले तो उनकी नजर मैंथा प्लांट के बाहर खून से लथपथ एक बच्चे की लाश पङी देखी। पास जाकर देखा तो लाश गांव के अमित की थी।

परिजनों का कहना है कि उनकी किसी से कोई रंजिश नही है। उनकी कभी भी गांव मे किसी से विवाद तक नही हुआ है। लेकिन मेरे बच्चे की जिस बेरहमी से हत्या हुई है उससे लगता है कि किसी ने रंजिश मानते हुए ही उसकी हत्या की है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story