Top

4 साल की बच्ची 5वीं बार जा रही जेल, भाई भी लेगा कानून के घर में जन्म

By

Published on 9 Dec 2016 11:54 AM GMT

4 साल की बच्ची 5वीं बार जा रही जेल, भाई भी लेगा कानून के घर में जन्म
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

agra-pari

आगरा: यूपी के आगरा से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसे सुन आप भी असमंजस में पड़ जाएंगे। शुक्रवार (9 दिसंबर) आगरा की जीआरपी पुलिस ने एक चार साल की मासूम बच्ची को जेल की सलाखों के पिछे ड़ाल दिया। इस मामाले पर जीआरपी का कहना है कि वह पहले भी 4 बार इस मासूम को जेल भेज चुकी है। हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि इस मासूम ने अभी तक कोई भी अपराध नहीं किया है। बच्ची की मां एक अपराधी है । वह 5 माह की गर्भवती है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें क्या है पूरा मामला....

agra-pari-and-reshma

क्या था मामला ?

-दरअसल आगरा फोर्ट जीआरपी ने एक गैंग को पकड़ कर जेल भेजा है।

-इस गैंग की सरगना कोई आदमी नहीं बल्कि एक महिला है।

-जिसका नाम रेशमा है।

-रेशमा का गैंग चार बार जेल जा चुका हैं।

-रेशमा के साथ उसकी चार साल की बच्ची परी (बदला हुआ नाम) भी जेल जाती है।

क्या कहा परी ने?

-शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेस में जब हमने मासूम परी से पूछा की वह जेल क्यों जाती है।

-परी ने जवाब दिया कि मुझें नहीं पता मैं मम्मी के साथ घूमने जा रही हूं।

आगे पढ़ें पुलिस ने कैसे पकड़ा गौंग को ...agra-police

-आगरा फोर्ट जीआरपी के एसएसआई राजेश चौहान और एसआई ललित त्यागी ने 4 कांस्टेबलों के साथ मिलकर इस गैंग को पकड़ा है।

-गुरूवार की रात आगरा फोर्ट स्टेशन की जामा मस्जिद पार्किंग के पास ये लोग चोरी करने आए थे।

-पुलिस ने आरोपियों के पास से 2500 की नगदी, 525 ग्राम चांदी , साढ़े 33 ग्राम सोने की चेन चाक़ू और एक ऑटो बरामद किया।

-पकडे गए आरोपियों का नाम रश्मि शाहगंज ,उमाकांत फीरोजाबाद ,सनी मलपुरा आगरा, जकील शाहगंज आगरा और यामीन मलपुरा आगरा बताया जा रहा है।

-एस पी जीआरपी अजय कुमार के अनुसार पकड़े गए आरोपी शातिर अपराधी हैं।

-जो रात के वक़्त ऑटो में सवारी को बिठाकर सुनसान जगह ले जाकर लुट कि घटना को अंजाम देतें थें।

-आरोपियों ने दस अलग अलग अपराध कबूले हैं।

क्या है रेशमा का कहना

-उसका पति सन्जु मारपीट करता है और नशे का आदि है इसलिए वह जहां जाती है वहां अपनी बच्ची को भी ले जाती है।

-अब सोचने वाली बात यह है कि रेशमा को अब 4 से 5 महीने से पहले जमानत होगी।

-जिसके चलते उसका दूसरा बच्चा भी कानून के घर में ही जन्म लेगा।

Next Story