Top

Aligarh Crime News: नौ सेना के जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, परिजनों का फूटा गुस्सा

Aligarh Crime News:अलीगढ़ में भारतीय नौ सेना के जवान तुषार चौधरी की ड्यूटी के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई

Garima Singh

Garima SinghReport Garima SinghDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 8 July 2021 8:00 AM GMT

Aligarh Crime News
X

पार्थिव शरीर की प्रतिकात्मक फोटो-सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Aligarh Crime News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ में भारतीय नौ सेना के जवान तुषार चौधरी की ड्यूटी के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई,जवान के पार्थिव शरीर को को दो दिन बाद गांव में लाया गया, परिजनों के द्वारा जवान के पार्थिव शरीर के साथ सेना के जवान न आने से गुस्सा फूट पड़ा,परिजनों का कहना था उनका बेटा शहीद हुआ है, लेकिन सेना के अफसरों के द्वारा परिजनों को फोन पर आत्महत्या करने का हवाला दिया है। यही कारण है सेना ने जवान के शरीर के साथ राजकीय सम्मान के लिए कोई सेना की टुकड़ी नहीं भेजी गई। बताया जाता है जवान तुषार केरल के कोच्चि में नौसेना बेस पर ड्यूटी पर तैनात थे।

जवान की मौत से परिवार में मातम

शहीद जवान तुषार अलीगढ़ के जरैलिया गांव के रहने वाले थे। तुषार अत्री की मौत की सूचना पर पूरे गांव में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं अभी गांव में तुषार अत्री के शव आने के बाद परिजनों के साथ ग्रामीण हाइवे की ओर दौड़ पड़े और रोड को जाम कर दिया।

नौ सेना के जवान को राजकीय सम्मान न मिलने से नाराज परिजनों ने हाईवे को जाम किया-फोटो सोशल मीडिया

सहकर्मियों ने जवान को ड्यूटी के दौरान मृत पाया

दरअसल अलीगढ़ जिले के तहसील खैर में स्थित गांव जरेलिया निवासी तुषार अत्री केरल के कोच्चि में नौसेना बेस पर सोमवार को 19 वर्षीय नाविक सुरक्षा गार्ड को गोली का घाव लगने से मृत पाया गया। एर्नाकुलम हार्बर पुलिस को इस घटना की नौसेना द्वारा जांच के आदेश दिए गए हैं। जानकारी के अनुसार तुषार अत्री अलीगढ़ का रहने वाला था। नौसेना बेस के अंदर एक सुरक्षा जांच चौकी पर ड्यूटी पर था। मिली जानकारी के अनुसार सुबह उसके सहकर्मियों ने उसे ड्यूटी के दौरान मृत पाया।

नौ सेना और पुलिन जवान की मौत की जांच कर रही

जानकारी के मुताबित बताया जा रहा है कि तुषार अत्री एक साल से नौसेना में काम कर रहा था। वहीं सोमवार को नेबल बेस के एक पैरामीटर पोस्ट पर ड्यूटी पर तैनात किया गया था। वहीं नियमित निरीक्षण दल ने तुषार को फर्श पर पड़ा पाया। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसे मृत घोषित कर दिया गया। नौ सेना और पुलिस दोनों ने ही अपनी जांच शुरू कर दी है। मौत के कारणों का पता किया जा रहा है हालांकि नौसेना ने परिजनों को प्रारंभिक निष्कर्ष के अनुसार आत्महत्या की तरफ इशारा किया जा रहा है।

जवान का पर्थिव शरीर गांव आया

वहीं गुरुवार जैसे ही जवान का पार्थिव शरीर गांव में आया तो पार्थिव शरीर के साथ सेना की कोई टुकड़ी न आने से परिजनों में गुस्सा व्याप्त हो गया. परिजनों के द्वारा अपने बेटे तुषार को शहीद होने बताया गया। जिसके बाद परिजनों के द्वारा स्थानीय प्रशासन की मौजूदगी न होने और सेना की टुकड़ी न होने से नाराज होकर गांव से निकलकर हाइवे को जाम कर दिया।

जाम की सूचना पर विधायक भी पहुंचे

घण्टों तक हुए जाम की सूचना पर खैर विधायक अनूप बालमीकि भी मौके पर पहुंच गए। उनके द्वारा स्थानीय प्रशासन से बात की तो प्रशासन ने हाईकमान से सूचना न आने का हवाला दे दिये, विधायक का कहना था हम ग्रामीणों के साथ है. परिजनों के अनुसार उनका बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता। उनके बेटे की हत्या की गई है। वो कहीं दूसरी जगह पोस्टेड होना चाहता था।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story