Top

Dowry Case: दहेज की बलि चढ़ी एक और विवाहिता

मायके पक्ष की तहरीर पर पति सहित चार लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

Dowry Case: दहेज की बलि चढ़ी एक और विवाहिता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमेठी। आज भी कुछ लोग संकीर्ण मानसिकता हैं जो दहेज के लोभ में जी रहे हैं और इसी के चलते आज फिर एक विवाहिता दहेज की बलि चढ़ गयी। अमेठी जिले के एक गांव से हत्या का मामला सामने आया है, संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता का शव कमरे में पंखे से रस्सी के सहारे लटकता हुआ मिला। मायके वालों ने ससुराल पक्ष पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है साथ ही स्थानीय थाने में लिखित तहरीर देते हुए कार्रवाई करने की मांग की है। पुलिस ने शव का पंचनामा करवाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए पीएम हाउस भेज दिया है और पुलिस मामले की जांज में जुट गयी है।



बरसों से चली आ रही दजेह प्रथा न जाने कब खत्म होगी। आज का समय ऐसा है जहां लड़की लड़के में कोई फर्क नहीं माना जाता है क्योकिं लड़कियां- लड़कों से कहीं आगे निकल रहीं हैं। ऐसे में अगर अब दहेज हत्या का मामला सामने आए तो इसे विकृत मानसिकता ही कहेंगे। जानकारी के मुताबिक ऐसा ही एक मामला गौरीगंज थाना क्षेत्र के बाबूपुर गांव से सामने आया है। जहां गांव का निवासी अंकित सिंह की 25 वर्षीय पत्नी माया सिंह का शव घर के कमरे में रस्सी के सहारे पंखे से लटका हुआ मिला। जिसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी। जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक गौरीगंज संजय सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर मृतका के मायके से पिता, चाचा व अन्य परिजन भी पहुंच गए। मायका के लोग सुलतानपुर जनपद के देहात कोतवाली क्षेत्र के बोखारेपुरके निवासी हैं। परिजनों ने दहेज के लिए माया सिंह की हत्या करने का आरोप लगाया और मुकदमा दर्जकर आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। प्रभारी निरीक्षक की सूचना पर सीओ गौरीगंज व नायब तहसीलदार भी पहुंच गए। नायब तहसीलदार की मौजूदगी में पुलिस ने शव का पंचनामा कराकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।



मृतका के पिता ने दिया तहरीर

मृतका के पिता श्याम बिहारी सिंह द्वारा पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक उनकी इकलौती पुत्री माया की शादी 29 नवम्बर 2018 को अंकित सिंह के साथ हुई थी। शादी में उन्होंने दो लाख रुपए नकद व डेढ़ लाख रुपए का सामान भी दिया था। उनका आरोप है कि माया का पति अंकित उनका भाई अंशू व अजय तथा उनकी चाची द्वारा दहेज कम मिलने को लेकर उसे प्रताड़ित करते थे। एक लाख रुपए और न देने पर जान से मारने की धमकी भी दी जाती थी। जिसकी जानकारी उनकी पुत्री उन्हें देती थी। सुबह बेटी की तबियत खराब होने की सूचना पर मौके पर पहुंचे तो उसका शव बिस्तर पर पड़ा था। बगल में जूट की रस्सी और टूटी चूड़ियां पड़ी थी।



पति सहित चार लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

प्रभारी निरीक्षक संजय सिंह ने बताया कि मृतका के पिता की तहरीर पर पति सहित चार आरोपियों के विरुद्ध दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच के बाद जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story