Top

आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस और रोडवेज की गाड़ियां फूंकीं, पथराव और आगजनी में कई घायल

उच्चाधिकारियों के न पहुंचने से नाराज़ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी समेत रोडवेज़ बस में आग लगा दी हालात पर काबू पाने के लिए डीएम-एसपी ने कमान संभाली और पीेसी की मदद से हालात पर काबू पाया।

zafar

zafarBy zafar

Published on 1 Jun 2017 12:57 AM GMT

आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस और रोडवेज की गाड़ियां फूंकीं, पथराव और आगजनी में कई घायल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुल्तानपुर: हत्या के 48 घंटे बाद भी कोई सुराग न मिलने और अधिकारियों की लापरवाही से नाराज ग्रामीणों ने हाइवे जाम कर हंगामा किया और पुलिस और रोडवेज़ की बसें फूंक डालीं। बुधवार देर रात तक चले इस हंगामे के दौरान एसएचओ समेत दर्जन भर यात्री घायल हो गये। बुधवार रात और गुरुवार तड़के तक पुलिस और पीएसी हालात पर काबू पाने में जुटी थी।

हंगामा और आगजनी

सोमवार को जनसुविधा केंद्र संचालक के मर्डर केस में पुलिस की लापरवाही ने हालात बिगाड़ दिये। आक्रोशित ग्रामीणों ने हाईवे पर जमकर बवाल काटा। सड़क पर शव रख प्रदर्शन किया और उच्चाधिकारियों के न पहुंचने से नाराज़ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी समेत रोडवेज़ बसों में आग लगा दी हालात पर काबू पाने के लिए डीएम-एसपी ने कमान संभाली और पीेएसी की मदद से किसी तरह हालात शांत कर पाये। लेकिन तनाव बना हुआ है।

यह भी पढ़ें...फिर सुलगा सहारनपुर: दलितों की पुलिस से भिड़ंत, जमकर हुआ पथराव, फायरिंग और आगजनी

जानकारी के अनुसार सोमवार की रात कोतवाली जयसिंहपुर क्षेत्र में जनसुविधा केन्द्र का संचालन करने वाले युवक रामदूत यादव (28) को देर रात घर लौटते समय बदमाशों ने गोली मार दी थी और फरार हो गये थे। देर रात गश्त पर निकली डायल 100 पुलिस सड़क पर लवारिस बाइक देख कर रुकी तो रामजीत को लहूलुहान अवस्था में पाया। पुलिस ने रामजीत को उठाकर जिला अस्पताल पहुंचाया,जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर कर दिया।

यह भी पढ़ें...हत्या के आरोप में हाई वे पर शव रख कर हंगामा, पथराव और लाठी चार्ज में कई घायल

अधिकारियों की लापरवाही

हत्या के दो दिन बाद बुधवार की शाम पोस्टमार्टम के बाद बॉडी मिलने पर नाराज ग्रामीणों ने हाइवे पर जाम लगा कर हत्या का जल्द खुलासा करने के लिए प्रदर्शन शुरु कर दिया। लेकिन उच्चाधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। इसके बाद पथराव और आगजनी शुरू हो गई।

यह भी पढ़ें...सहारनपुर: मायावती के शब्बीरपुर पहुंचने से पहले हुआ हंगामा, लोगों ने प्रशासन मुर्दाबाद के लगाए नारे

एसएचओ आज़ाद केसरी समेत दर्जन भर घायल यात्रियों को सीएचसी जयसिंहपुर में भर्ती कराना पड़ा है। ख़बर मिलते ही डीएम हरेंद्र वीर सिंह एवं एसपी रोहन पी कन्य मौके पर पहुंचे और हल्का बल प्रयोग किया, तब कहीं हालात काबू में आये। हंगामा करने वाले करीब आधा दर्जन प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है।

आगे स्लाइड्स में देखिये हंगामे और आगजनी के कुछ और फोटोज...

zafar

zafar

Next Story