Top

इटावा: रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया लेखपाल, एंटी करप्शन टीम ने किया गिरफ्तार

इटावा के एक लेखपाल को रिश्वत लेते एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथ पकड़ा ।

Uvaish Choudhari

Uvaish ChoudhariReporter Uvaish ChoudhariMonikaPublished By Monika

Published on 27 May 2021 6:21 PM GMT

anti corruption  team caught lekhpal
X

रिश्वत लेते पकड़ा गया लेखपाल (फोटो सांकेतिक: सौ.से सोशल मीडिया ) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इटावा: उत्तर प्रदेश सरकार भ्रस्टाचार के मामलों को लेकर बड़े बड़े दावे वादे करते हुए चार वर्ष हो गए । लेकिन भ्रस्टाचार पर रोक जमीनी हकीकत की तस्वीरें आये दिन देखने को मिलती हैं।इटावा सदर क्षेत्र की तहसील इटावा के एक लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथ एंटी करप्शन टीम ने दबोचा। इटावा कानपुर से आई एंटी करप्शन की टीम ने लेखपाल अरुण कुमार को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इटावा के सिविल लाइन इलाके में एसएसपी आवास के पास से लेखपाल को किया गया गिरफ्तार विरासत की जमीन को इंद्राज करने के नाम पर 2000 रुपये की रिश्वत लेते समय गिरफ्तार किया है। सदर तहसील लेखपाल अरुण कुमार इटावा तहसील में 3 वर्ष से तैनात थे। लेखपाल की अनुमानित तनख्वाह 40 से 45 हजार मिलती है लेकिन रिश्वत की जड़े इस कद्र गहरी है कि मात्र 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोचे गए।

2 हजार रिश्वत लेते पकड़े गए

पीड़ित प्रमोद गुप्ता की प्रार्थना पत्र पर कार्रवाई करते हुए एंटी करप्शन टीम ने किया गिरफ्तार थाना सिविल लाइन इलाके के प्रमोद गुप्ता ने बताया कि दिसंबर 2020 में विरासत जुड़वाने के लिए तहसील सदर इटावा में प्रार्थना पत्र दिया था ।जिस पर लेखपाल अरुण कुमार के द्वारा 5 हजार की मांग की जा रही थी। कई महीनों काम ना करने पर लेखपाल अरुण कुमार 2 हजार रिश्वत लेने पर तैयार हो गए । जिसकी जानकारी कानपुर जाकर एंटी करप्शन टीम को दी गई जिस पर आज इटावा में एसएसपी चौराहे पर 2 हजार रिश्वत के देते हुए लेखपाल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया। थाना सिविल लाइन में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है जिसके बाद लेखपाल को जेल भेज दिया गया है।

Monika

Monika

Next Story