Top

बजरंग दल के नेताओं सहित 32  ग्रामीणों पर दर्ज हुआ मुकदमा

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 18 Oct 2018 2:25 PM GMT

बजरंग दल के नेताओं सहित 32  ग्रामीणों पर दर्ज हुआ मुकदमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: जिले के संजरपुर गाँव में बीते दिनों बजरंग बलि की मूर्ति निकलने पर आस्थावान ग्रामीणों द्वारा पूजा अर्चना करने तथा उसी स्थान पर मन्दिर निर्माण को लेकर 32 ग्रामीणों तथा मन्दिर निर्माण में सहयोग में पहुंचे बजरंग दल जिला मिलन प्रमुख अनुपम पंडित तथा प्रखंड संयोजक बृजेश दूबे के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्जकर आवश्यक कार्यवाही में जुट गयी।

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक, उक्त मामले की सूचना गॉव के ही मँसूर अली द्वारा जिलाधिकारी को दी गयी थी। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी राजेश वर्मा तथा क्षेत्राधिकारी अजय श्रीवास्तव शाहगंज को जांच सौंपी थी। मौके पर पहुंचे पुलिस प्रशासन ने पूजा स्थल से मूर्ति को हटवा दिया था। जिससे गाँव के लोग काफी आक्रोशित हो गए थे। दूसरे दिन गाँव की महिलाओं ने मूर्ति को पुनः उसी स्थान पर रखकर दुबारा पूजा अर्चना शुरु कर दिया था।

इस बात की सूचना होने पर दुबारा गांव पहुंचे उपजिलाधिकारी राजेश वर्मा तथा क्षेत्राधिकारी अजय श्रीवास्तव द्वारा काफी मानमनौव्वल के बाद तथा मन्दिर के लिए गॉव में दूसरा स्थल देने के आश्वासन पर ग्रामीण प्रशासन की बात मान गये थे। पुलिस शान्ति व्यवस्था बरकरार रखने के लिए बजरंगबली की मूर्ति को थाने उठा ले आयी थी। आज भी मूर्ति थाने में रखी गयी है।

मामला आस्था से जुड़ा होने के कारण ग्रामीणों की सूचना पर बजरंग दल के जिला मिलन प्रमुख अनुपम पंडित तथा प्रखंड संयोजक बृजेश दुबे अपने दल बल के साथ वहा पहुँच गये। गाँव वालो की माँग थी कि मूर्ति जहा से निकली है। मन्दिर वही बने। उप जिलाधिकारी राजेश वर्मा ने उक्त स्थल सरकारी ज़मीन होने के देने से मना कर दिया ।बाद मे बजरंग दल व गाँव वालों के आक्रोश देखते हुए प्रशासन ने मन्दिर के लिये ग्राम सभा की ज़मीन पर चिन्हित करवाकर मन्दिर बनवाने का आश्वासन दिया।

गाँव वाले प्रशासन की बात मान गये ।मूर्ति पुलिस अपने कब्जे में लेकर थाने में रखवा दिया। मूर्ति आज भी थाने में रखी गयी है। अनुपम पंडित ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाया कि हिंदू धर्म से जुड़े अतिसंवेदनशील मामले में पुलिस प्रशासन ने मेरे तथा बृजेश दुबे सहित 32 ग्रामीणों पर गुपचुप तरीके से विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर अपराधी बना दिया।

ऐसे में पुलिस प्रशासन पर जनता का विश्वास उठ गया है। पुलिस प्रशासन द्वारा आम आदमी को अपराधी बनाने की प्रवृत्ति से बजरंग दल के कार्यकर्ता काफी आक्रोशित हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन के मनमाने रवैये की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , सूबे के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी तथा उच्चाधिकारियों से की जाएगी।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story